NDTV Khabar

पीएम नरेंद्र मोदी ने Ramadan से लेकर Yoga का किया जिक्र, पढ़ें 'मन की बात' की 5 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में योग दिवस, कूड़ा प्रबंधन, प्रकृति संरक्षण, स्वतंत्रता सेनानी आदि बातों पर देश के लोगों के सामने अपनी बात रखी.

4.6K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम नरेंद्र मोदी ने Ramadan से लेकर Yoga का किया जिक्र, पढ़ें 'मन की बात' की 5 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

खास बातें

  1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 32वीं बार की 'मन की बात'
  2. पीएम मोदी ने रमजान की मुबारकबाद दी
  3. विश्व योग दिवस को सफल बनाने की अपील
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से 32वीं बार 'मन की बात' की. पीएम ने देश-दुनिया के मुसलमानों को रमजान की मुबारकबाद देते हुए मन की बात कार्यक्रम की शुरुआत की. उन्होंने कहा कि रमजान का पवित्र महीना शांति, एकता को बढ़ावा देने में सहायक होगा. हम सवा-सौ करोड़ देशवासी इस बात का गर्व कर सकते हैं कि दुनिया के सभी संप्रदाय में मौजूद हैं. हर प्रकार की विचारधारा, हर प्रकार की पूजा पद्धति, हर प्रकार की परंपरा, हम लोगों ने एक साथ जीने की कला आत्मसात की है. रमजान का पवित्र महीना शान्ति, एकता और सद्भावना के मार्ग को आगे बढ़ाने में जरूर सहायक होगा. रमजान की शुभकामना के बाद पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में पांच बिन्दुओं पर दुनिया का ध्यान दिलाने की कोशिश की, आइए जानें कौन सी है वह बातें-:

योग दिवस पर दिखाएं 'कल आज और कल' का संयोग : प्रधानमंत्री मोदी ने 21 जून को होने वाले विश्व योग दिवस को सफल बनाने की अपील की. पीएम ने देशवासियों से अपील की कि वे इस बार के योग दिवस में 'कल आज और कल' का थीम दिखाएं. यानी परिवार की तीन पीढ़ियों के लोग एक साथ योग कर #InternationalYogaDay  NarendraModiApp या MyGov पर अपलोड करें. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य और तंदुरुस्ती दोनों की गारंटी, तन, मन, शरीर, विचार और आचार से स्वस्थता की अंतर्यात्रा का अनुभव योग के माध्यम से संभव है. योग के जरिए विश्व को एक सूत्र में हम जोड़ चुके हैं. जैसे योग शरीर, मन, बुद्धि और आत्मा को जोड़ता है, वैसे ही आज योग विश्व को जोड़ रहा है.

कूड़ा प्रबंधन के भागीदार बनें: पीएम मोदी ने देशवासियों से कूड़ा प्रबंधन में भागीदार बनने की अपील की. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों के सहयोग से जनप्रतिनिधियों की मदद से कूड़ा प्रबंधन का महत्वपूर्ण अभियान छेड़ना तय किया है. विश्व पर्यावरण दिवस पर देश के चार हजार नगरों में सॉलिड और लिक्विड वेस्ट को कलेक्ट करने के लिए हरे व नीले रंग के कूड़ेदान उपलब्ध होंगे. कूड़े को कूड़े के तौर पर देखना बंद करें.

लोगों को प्रेरित करने के लिए पीएम मोदी ने मुंबई के अफरोज शाह की कहानी बताई. पीएम ने कहा, 'मैं गर्व से एक बात कहना चाहता हूं, मुंबई में गंदा नजर आने वाला वर्सोवा बीच से हजारों टन कूड़ा निकाला गया और आज वर्सोवा बीच साफ-सुंदर बन गया, इसकी जिम्मेदारी वर्सोवा के अफरोज शाह ने संभाली. जम्मू-कश्मीर का रियासी ब्लॉक खुले में शौच से मुक्त हुआ है, ब्लॉक के सभी नागरिकों व प्रशासन को बधाई. रियासी की महिलाओं ने मशाल यात्राएं निकाली, घर-घर जाकर लोगों को प्रेरित किया, उन मां-बहनों का हार्दिक अभिनंदन. 

वीर सावरकर को किया याद: प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज वीर सावरकर की जन्म जयंती है. वे अंडमान में कैद थे. सेलुलर जेल को काला पानी क्यों कहा जाता था, ये वहां जाकर ही पता चलता है. वो आजादी का तीर्थ है. आज हम आजाद हिंदुस्तान में इसलिए सांस ले रहे हैं क्योंकि शहीदों ने आंदोलन चलाया. वीर सावरकर जेल की दीवारों पर लिखते थे. हिंदुस्तान का कोई भाषा बोलने वाला शख्स ऐसा नहीं रहा होगा जो सेलुलर जेल में न रहा हो.

तीन साल के कार्यकाल की आलोचना करने वालों का शुक्रिया: केंद्र में पीएम मोदी की अगुवाई में बीजेपी सरकार के तीन साल पूरे हो चुके हैं. इसके उपलक्ष्य में सरकार अपने कामों का प्रचार अखबारों, टीवी चैनलों में कर रही है. इसपर कुछ लोग ऐतराज भी जता रहे हैं. पीएम मोदी ने कहा कि उन लोगों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने गहराई से आलोचना की और महत्वपूर्ण फीडबैक दिए.

विश्व पर्यावरण दिवस को सफल बनाएं: पीएम मोदी ने कहा कि 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस है. 5 जून को प्रकृति के साथ जुड़ने का वैश्विक अभियान, हमारा स्वयं का भी अभियान बनना चाहिए. वेदों में पृथ्वी और पर्यावरण को शक्ति का मूल माना गया है. हमारे यहां कहा गया है- माता भूमिः पुत्रो अहम् पृथिव्याः अर्थात् जो शुद्धता है, वह हमारी पृथ्वी के कारण है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement