NDTV Khabar

J&K से संबंधित बिलों पर समर्थन के लिए PM मोदी ने विपक्षी दलों का जताया आभार, की अमित शाह के भाषण की तारीफ

अमित शाह ने सोमवार को राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक के अलावा अशांत राज्य में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने के लिए एक बिल को पेश किया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
J&K से संबंधित बिलों पर समर्थन के लिए PM मोदी ने विपक्षी दलों का जताया आभार,  की अमित शाह के भाषण की तारीफ

दोनों ही बिलों को राज्यसभा में पारित कर दिया गया है.

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर पर लाए गए बिलों को पारित कराने में दिए गए समर्थन के लिए दोनों सदनों के सांसदों का धन्यवाद दिया है. साथ ही उन्होंने इस मौके पर दिए गए गृह मंत्री अमित शाह को उनके जबरदस्त भाषण के लिए बधाई दी. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, "संसद के दोनों सदनों ने सर्वसम्मति से जम्मू और कश्मीर से संबंधित दो महत्वपूर्ण बिल पारित किए. ये बिल एक अच्छी खासी बहस के बाद पारित किए गए, जो पार्टी लाइन से हटकर सांसदों की भागीदारी से समृद्ध हुए. मैं सभी दलों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देता हूं. इस तरह का द्विदलीय समर्थन खुशी की बात है." 

अमित शाह ने सोमवार को राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक के अलावा अशांत राज्य में राष्ट्रपति शासन बढ़ाने के लिए एक बिल को पेश किया था. इस मौके पर उन्होंने जम्मू-कश्मीर में चहुंमुखी विकास सुनिश्चित करने के प्रयासों और अलगाववादियों को साधने की सरकार की रणनीति समेत विभिन्न मसलों पर एक भाषण भी दिया. बता दें दोनों कानूनों को नवीन पटनायक की बीजू जनता दल और अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी जैसे विपक्षी दलों के समर्थन से पारित कर दिया गया. 

जो भारत को तोड़ने की बात करेगा उसको उसी भाषा में जवाब मिलेगा : अमित शाह


एक अन्य ट्वीट में, पीएम मोदी ने जम्मू-कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक को कानून बनाने का मार्ग प्रशस्त करने के लिए सांसदों को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा, "यह कठुआ, सांबा और जम्मू जिलों के सीमावर्ती इलाकों में रहने वालों के लिए न्याय सुनिश्चित करेगा. इन क्षेत्रों के उज्ज्वल और प्रतिभाशाली युवाओं की आकांक्षाएं पूरी होंगी, जो राज्य और हमारे राष्ट्र के लिए बेहतर  है."  कानून का उद्देश्य राज्य की अंतरराष्ट्रीय सीमा के आसपास रहने वाले लोगों को नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण का लाभ देना है. 

संसद के उच्च और निम्न सदनों में दिए गए अमित शाह के भाषणों की तारीफ करते हुए प्रधान मंत्री ने कहा कि जो कोई भी "कश्मीर मुद्दे की स्पष्ट समझ चाहता है" उसे उनके भाषणों को सुनना चाहिए. 

जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने वाला बिल राज्यसभा में पेश, कांग्रेस ने कहा- आपकी वजह से पैदा हुए ऐसे हालात

गृह मंत्री ने ट्विटर पर पीएम मोदी का आभार जताते हुए कहा, "मैं इन महत्वपूर्ण विधेयकों का समर्थन करने के लिए सभी दलों को धन्यवाद देता हूं.  यह एक बार फिर पीएम मोदी के नेतृत्व और दूरदर्शिता में विश्वास को दोहराता है. मैं इस ऐतिहासिक दिन पर पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई देता हूं और मुझे यकीन है कि उनके नेतृत्व में हम जल्द ही एक शांतिपूर्ण और प्रगतिशील जम्मू-कश्मीर देखेंगे."

अमित शाह ने दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर की शांति, समृद्धि और विकास सुनिश्चित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है. उन्होंने कहा,  'इससे जम्मू-कश्मीर की प्रगति सुनिश्चित करने के हमारे संकल्प को और बल मिलता है."  

जम्मू-कश्मीर पर चर्चा के दौरान जब विपक्ष ने अमित शाह को टोका, नाराज क्यों हो रहे हैं

टिप्पणियां

गृह मंत्री ने अपने राज्यसभा भाषण में स्वतंत्रता के बाद से लगातार कांग्रेस सरकारों पर जम्मू-कश्मीर की दुर्दशा की अनदेखी करने का आरोप लगाया. वहीं दूसरी ओर उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने इस क्षेत्र को विकसित करने और यहां के लोगों को मुख्यधारा में लाने की प्रक्रिया शुरू की है. 

वीडियो: जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन छह महीने बढ़ाने को लेकर प्रस्ताव पेश



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement