एक वायरस ने दुनिया को तहस नहस कर दिया है : पीएम मोदी

PM Modi Address Nation: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम अपने संबोधन में प्रवासियों के संकट पर बोल सकते हैं, जो कि लॉकडाउन के दौरान नौकरी जाने की वजह से अपने घरों की ओर कूच कर रहे हैं.

एक वायरस ने दुनिया को तहस नहस कर दिया है : पीएम मोदी

कोरोना संकट के बीच देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी (फाइल फोटो)

खास बातें

  • आज रात देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी
  • लॉकडाउन, प्रवासियों पर रह सकता है फोकस
  • 17 मई को खत्म हो रहा है लॉकडाउन का मौजूदा चरण
नई दिल्ली:

कोरोनावायरस (Coronavirus) संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज रात 8 बजे देश को संबोधित करेंगे. लॉकडाउन को लेकर सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक के बाद पीएम मोदी का यह संबोधन काफी अहम है. देशव्यापी लॉकडाउन 17 मई को समाप्त हो रहा है. मार्च महीने में लॉकडाउन की घोषणा के बाद से यह प्रधानमंत्री मोदी का तीसरा संबोधन होगा. सूत्रों के मुताबिक, इसमें पीएम मोदी प्रवासियों (Migrants) और लॉकडाउन (Lockdown) के मुद्दे पर बोल सकते हैं. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम अपने संबोधन में प्रवासियों के संकट पर बोल सकते हैं, जो कि लॉकडाउन के दौरान नौकरी जाने की वजह से अपने घरों की ओर कूच कर रहे हैं. घर लौटने के लिए परेशान लोग पैदल, साइकिल या ट्रकों में लटक कर, यहां तक कि ऑटोरिक्शा से आ रहे हैं. इनमें से कई लोगों की भूख, थकान या दुर्घटना में मौत भी हो गई है. 

राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ सोमवार को हुई बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा था कि प्रवासियों के एक जगह से दूसरे जगह जाने से राज्यों पर असर पड़ेगा. हम जानते हैं कि इससे संक्रमण के मामलों में तेजी आएगी लेकिन यह देश को कोरोनावायरस से मुक्त कराने में मदद करेगा. प्रधानमंत्री ने राज्यों से प्रवासियों और आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए योजना तैयार करने को कहा है.

पीएम मोदी ने बैठक में कम प्रतिबंधों के साथ लॉकडाउन के जारी रहने का संकेत दिया है. बैठक के बाद जारी बयान के मताबिक, पीएम मोदी ने कहा, "मैं इस बात पर अडिग हूं कि पहले चरण में जिन उपायों की जरूरत थी, उनकी आवश्यकता दूसरे चरण में नहीं थी. इसी प्रकार तीसरे चरण में जिन उपायों की जरूरत है, उनकी आवश्यकता चौथे चरण में नहीं है." 

सूत्रों की ओर से सोमवार को दी गई जानकारी के मुताबिक, देश में 17 मई के बाद भी लॉकडाउन बढ़ाया जा सकता है. मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में लॉकडाउन आगे किस रूप में होगा इसके लिए प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों से 15 मई तक सुझाव मांगे हैं. सूत्रों ने कहा कि कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों में रात्रि कर्फ्यू और सीमित परिवहन व्यवस्था जैसे प्रतिबंध भी लागू रह सकते हैं. 

बैठक के दौरान, अधिकांश राज्यों ने भी लॉकडाउन (Lockdown) बढ़ाने की मांग की है. इस दौरान राज्यों ने कहा कि रेड ज़ोन को जिला स्तर पर रखने के बजाए कंटेनमेंट ज़ोन में रखा जाए और जिले के बाकी हिस्सों में गतिविधियां शुरू की जाएं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोरोनावायरस से अब तक 2293 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि संक्रमितों की संख्या 70,756 हो गई है.

वीडियो: कोरोना संकट को देखते हुए 17 मई के बाद भी बढ़ सकता है लॉकडाउन: सूत्र