NDTV Khabar

आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ वार्ता में हिस्सा लेंगे पीएम. आइए जानें इन नेताओं के बारे में

आज पीएम मोदी आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्षों या फिर उनके प्रतिनिधियों से मिलेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ वार्ता में हिस्सा लेंगे पीएम. आइए जानें इन नेताओं के बारे में

पीएम नरेंद्र मोदी ने हाल ही में वर्ल्ड इकोनोमिक फोरम में हिस्सा लिया था.

खास बातें

  1. आसियान देशों के प्रतिनिधि भारत पहुंचे
  2. आज सभी देशों से भारत की द्विपक्षीय वार्ता
  3. पीएम मोदी भी लेंगे बैठक में हिस्सा.
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने के बाद से लेकर अब तक यह प्रयास किया है कि भारत को अंतरराष्ट्रीय पटल पर सम्मान मिले और देश को वह स्थान मिले जिसका वह हकदार है. आज पीएम मोदी आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्षों या फिर उनके प्रतिनिधियों से मिलेंगे. तय कार्यक्रम के अनुसार वियतनाम के पीएम, कंंबोडिया के पीएम, फिलीपीन्स के राष्ट्रपति, म्यांमार की स्टेट काउंसलर, सिंगापुर के पीएम, थाईलैंड के पीएम, ब्रुनेेई के सुल्तान, मलेशिया के पीएम, लाओस और पीडीआर के पीएम दिल्ली में हैं. 

यह भी पढ़ें : आसियान सम्‍मेलन से पहले भारत ने 'लुक ईस्ट' की पॉलिसी बदलकर 'एक्ट ईस्ट' की, 10 बातें

जानकारी के लिए बता दें कि ये सभी नेता शुक्रवार को गणतंत्र दिवस की परेड में बतौर अतिथि शामिल होंगे. इसलिए इस साल भारत का गणतंत्र दिवस समारोह बेहद खास होने जा रहा है. ऐसा पहली बार है जब इस समारोह में 10 देशों के प्रतिनिधियों निमंत्रण भेजा गया. ऐसा पहली बार है जब एक साथ 10 देशों को भारत के गणतंत्र दिवस में हिस्सा लेने के लिए निमंत्रण भेजा गया है. अभी तक सिर्फ एक या दो ही राष्ट्राध्यक्षों को बुलाया जाता रहा है. जिन 10 देशों को न्यौता भेजा गया है उनमें ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड और वियतनाम शामिल हैं. 


आइए जानें कौन-कौन से नेता भारत पहुंचे हैं. 

1- थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रायुत चान-ओ-चा 
Thai Prime Minister Says to Limit Use of Martial Law, Military Courts
थाईलैंड के प्रधानमंत्री जनरल प्रायुत चान-ओ-चा पूर्व प्रधानमंत्री पूर्व प्रधानमंत्री यिंगलक शिनवात्रा के बाद दूसरे पीएम होंगे जो भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि होंगे. 

2- म्यांमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू की
Image result for ang san suu kyi ndtv
म्यांमार की सर्वोच्च नेता और नोबेल पुरस्कार से सम्मानित आंग सान सू की को भी मुख्य अतिथि के तौर बुलाया गया है.

3- ब्रुनेई के सुल्तान हसनअल बोल्किया
Image result for brunei sultan ndtv
ब्रुनेई के सुल्तान हसनअल बोल्किया को निमंत्रण भेजा गया है. इससे पहले वो 2012 में भारत आए थे. उस समय आसियान देशों का सम्मेलन था.

4- कंबोडिया के पीएम हुन सेन
Image result for cambodian pm
कंबोडिया के पीएम हुन सेन भी आएंगे. उनसे पहले किंग नोरोडोम 1963 को भारत आए थे. 

5- इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो
Indonesian President Joko Widodo Grants Clemency to Papuan Political Prisoners
इंडोनेशिया के राष्ट्राध्यक्ष को तीसरी बार भारत के गणतंत्र दिवस में मुख्य अतिथि बनने का मौका मिला है. उनसे पहले  1950 में राष्ट्रपति सुकर्णो और साल 2011 में राष्ट्रपति सुसीलो बामबांग युधोयोनो आए थे.

6- सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सियन लूंग
Image result for singapore prime minister
सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सियन लूंग को निमंत्रण मिला है. 1954 में पूर्व प्रधानमंत्री गोह चोक टोंग भी भारत के गणतंत्र दिवस में हिस्सा ले चुके हैं.

7- मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक
Image result for malaysia prime minister
मलेशिया के प्रधानमंत्री नजीब रजाक को भी 26 जनवरी को आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि होंगे.

8- वियतनाम के प्रधानमंत्री न्गुयेन शुयान फुक 
Image result for vietnam prime minister
वियतनाम के प्रधानमंत्री न्गुयेन शुयान फुक को भी भारत आने का न्यौता मिला है. चीन इससे चिढ़ सकता है क्योंकि उसे हमेशा से ही भारत और वियतनाम के संबंधों से दिक्कत रही है. 1989 में जनरल सेक्रेटरी न्गुयेन लिन्ह भी भारत आ चुके हैं.

टिप्पणियां

9- लाओस के प्रधानमंत्री थॉन्गलौन सिसोलिथ
PM Narendra Modi Meets Laos PM Thongloun Sisoulith
पहली बार लाओस के किसी प्रधानमंत्री को गणतंत्र दिवस में आने का न्यौता भेजा गया है.

10- फिलीपींस के राष्ट्रपति ड्रिगो दुतेर्ते
Image result for philippines prime minister
फिलीपींस के राष्ट्रपति ड्रिगो दुतेर्ते को निमंत्रण दिया गया है. वह भारत के गणतंत्र दिवस में हिस्सा लेने वाले पहले फिलीपींस के नेता होंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement