NDTV Khabar

पीएम का विदेश दौरा आर्थिक विकास, सुरक्षित माहौल की दिशा में मददगार : सुषमा स्वराज

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम का विदेश दौरा आर्थिक विकास, सुरक्षित माहौल की दिशा में मददगार : सुषमा स्वराज

विदेशमंत्री सुषमा स्वराज (फाइल चित्र)

नई दिल्ली:

विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विदेश दौरे से विकास के लक्ष्य को हासिल करने के लिए एक सुरक्षित एवं स्थायी वातावरण बनाने में मदद मिली है, साथ ही इससे हमें आर्थिक विकास, निवेश को बढ़ावा देने, रोजगार के नए अवसर सृजित करने और हमारे लोगों के जीवन में सुधार लाने के मिशन को हासिल करने में भी सहायता मिलेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल के विदेश दौरों के संबंध में लोकसभा में दिए अपने बयान में विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि आज जब विश्व अनिश्चितता और अस्थिरता के दौर से गुजर रहा है, ऐसे में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की नई सरकार ने विश्व में नई ऊर्जा का संचार किया है और उनके नेतृत्व में तीव्र विकास, विश्व शांति, स्थिरता, स्थायित्व के लिए भारत के व्यापक, असरदार और सार्थक योगदान के प्रति नई आशा उत्पन्न हुई है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने हमेशा एक ऐसी विदेशी नीति पर बल दिया है, जो आगे बढ़कर विश्व मामलों में सक्रियता दिखाने वाली हो, अभिनव प्रयोगों से युक्त हो और जो हमारी सरकार के आर्थिक विकास के प्राथमिक उद्देश्यों से संबद्ध हो।

विदेशमंत्री ने कहा, पिछले कुछ महीनों में प्रधानमंत्री ने विश्व में भारत की भूमिका और स्थान को लेकर एक स्पष्ट दृष्टि रखी, जिसमें विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के नाते विश्व नेतृत्व को ग्रहण करने की हमारी स्वीकार्यता भी शामिल है। हमने वादों को कार्यवाही में, अवसरों को परिणामों में बदला है। हमने उन संबंधों को पुनर्जीवित किया है, जो लम्बे समय से उपेक्षित थे। हमने अपने सुरक्षा हितों को खुलकर व्यक्त किया और जोरदार ढंग से उनकी रक्षा की।

सुषमा ने कहा, पूंजी, प्रौद्योगिकी, संसाधन, ऊर्जा, बाजार और दक्षता के लिए भारत को आज एक सुरक्षित परिवेश, शांतिपूर्ण पड़ोस, स्थायित्वपूर्ण विश्व और एक खुली एवं मजबूत विश्व व्यापार व्यवस्था की आश्वयकता है। भारत की विदेश नीति ने नए मुकाम हासिल किए हैं और नई ऊंचाइयों को छुआ है। हमारे इन प्रयासों को विश्व में अभूतपूर्व प्रतिक्रिया मिली है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने विदेशों में बसे भारतीय समुदाय तक, उस स्तर तक पहुंच बनाने की ओर विशेष ध्यान दिया। विदेशों में स्थित भारतीय समुदाय द्वारा पीआईओ और ओसीआई कार्डों पर हमारे निर्णयों को व्यापक रूप से सराहा गया। आज भारतीय समुदाय अपने आप को भारत से जुड़ा महसूस करता है।

टिप्पणियां


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement