NDTV Khabar

साउथ ब्लॉक शिफ्ट किया जा सकता है पीएम आवास और कार्यालय: सूत्र

योजना के मुताबिक, संसद के नए भवन में 900 से 1,200 सांसदों के बैठने की जगह होगी, उसमें टेबल पर कंप्यूटर जैसी आधुनिक तकनीक, बैठक की आरामदेह व्यवस्था और केन्द्रीय मंत्रियों तथा सांसदों के कार्यालय होंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
साउथ ब्लॉक शिफ्ट किया जा सकता है पीएम आवास और कार्यालय: सूत्र

नॉर्थ ब्लॉक और साउथ ब्लॉक को संग्रहालय बनाने की कोई योजना नहीं है.

नई दिल्ली:

केन्द्र सरकार द्वारा उसकी महत्वाकांक्षी योजना सेन्ट्रल विस्ता का जो ब्लू प्रिंट तैयार किया गया है, उसके अनुसार प्रधानमंत्री का आवास और कार्यालय साउथ ब्लॉक के पास जबकि उपराष्ट्रपति का नया आवास नॉर्थ ब्लॉक के पास होगा. सूत्रों ने बताया कि लुटियंस में जिन भवनों को गिराने के लिए चिह्नित किया गया है उनमें उपराष्ट्रपति का आवास भवन भी शामिल है. 
सेन्ट्रल विस्ता के पुन:विकास योजना के तहत मौजूदा संसद भवन के आगे संसद के लिए एक तिकोनी नयी इमारत बनेगी, एक साझा केन्द्रीय सचिवालय होगा और राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक तीन किलोमीटर लंबे राजपथ का जीर्णोंद्धार होगा.

संसद की कैंटीन में सब्सिडी छोड़ने को राजी हुए सांसद

एक सूत्र ने बताया, ‘‘उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के आवासों को क्रमश: नॉर्थ ब्लॉक और साउथ ब्लॉक के पास स्थानांतरित करने की योजना है। इससे क्षेत्र में यातायात भी सामान्य होगा क्योंकि लुटियंस में वीआईपी आवाजाही के कारण लोगों को अक्सर दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री का आवास और कार्यालय पास-पास होंगे ताकि प्रधानमंत्री घर से पैदल कार्यालय आ सकें.''


टिप्पणियां

मौजूदा संसद भवन नहीं गिराया जाएगा, परिसर में ही बनेगी नई इमारत : हरदीप पुरी

सूत्रों ने बताया कि नॉर्थ ब्लॉक और साउथ ब्लॉक को संग्रहालय बनाने की कोई योजना नहीं है. योजना के मुताबिक, संसद के नए भवन में 900 से 1,200 सांसदों के बैठने की जगह होगी, उसमें टेबल पर कंप्यूटर जैसी आधुनिक तकनीक, बैठक की आरामदेह व्यवस्था और केन्द्रीय मंत्रियों तथा सांसदों के कार्यालय होंगे. सूत्र ने कहा, ‘‘पुन:विकास परियोजना के एक बार पूरे होने के बाद सरकार के पास सेन्ट्रल विस्ता को रिज से यमुना नदी तक विस्तार देने की योजना होगी.''
 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... CM अमरिंदर ने CAA को लेकर अकाली दल को दी NDA छोड़ने की चुनौती, तो SAD ने ऐसे किया पलटवार

Advertisement