लद्दाख में चीन से झड़प के बाद PM ने चार शीर्ष मंत्रियों, सेनाप्रमुख के साथ देर रात की बैठक

भारतीय सेना द्वारा लद्दाख में चीन के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों के जान गंवाने की पुष्टि किए जाने के तुरंत बाद देश के सर्वोच्च राजनैतिक नेतृत्व तथा सेनाप्रमुख ने कल देर रात बैठक की.

लद्दाख में चीन से झड़प के बाद PM ने चार शीर्ष मंत्रियों, सेनाप्रमुख के साथ देर रात की बैठक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी- फाइल फोटो

भारतीय सेना द्वारा लद्दाख में चीन के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों के जान गंवाने की पुष्टि किए जाने के तुरंत बाद देश के सर्वोच्च राजनैतिक नेतृत्व तथा सेनाप्रमुख ने कल देर रात बैठक की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री रानाथ सिंह, विदेशमंत्री एस. जयशंकर, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण तथा थलसेना प्रमुख जनरल एम.एम. नरवणे के बीच रात 10 बजे मुलाकात हुई. वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर पिछले पांच दशकों में बने गंभीरतम हालात पर जवाबी कार्रवाई पर विचार करने के लिए मंगलवार को की गई बैठकों में यह बैठक अंतिम थी.

समाचार एजेंसी ANI ने सूत्रों के हवाले से इंटरसेप्ट के आधार पर हासिल जानकारी में बताया कि झड़प में 43 चीनी सैनिक भी मारे गए हैं, या गंभीर रूप से घायल हुए हैं, हालांकि भारतीय सेना ने अपने बयान में इसका ज़िक्र नहीं किया. मंगलवार सुबह सेना द्वारा जारी बयान में एक कर्नल तथा दो जवानों के जान गंवाने की पुष्टि की गई थी, और 'दोनों पक्षों को जानी नुकसान' की बात कही गई थी, लेकिन बाद में जारी बयान में सेना ने जोड़ा कि गंभीर रूप से घायल हुए 17 अन्य जवानों ने भी जान गंवा दी है.

Newsbeep

भारत ने इस झड़प के लिए 'चीन द्वारा यथास्थिति को बदलने की एकतरफा कोशिश' को ज़िम्मेदार ठहराया, और चीन के दावे को खारिज कर दिया कि भारतीय जवानों ने सीमा पार की थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारतीय सेना के इलाके में मौजूद सूत्र ने समाचार एजेंसी AFP को बताया कि घटना में गोलियां नहीं चलीं, लेकिन 'हिंसक शारीरिक झड़पें' हुईं. सैनिकों ने कई घंटे तक (सोमवार को आधी रात तक) चली झड़प के दौरान एक दूसरे को घूंसे मारकर और पत्थर फेंककर लड़ाई की, तथा चीनी सैनिकों ने कथित रूप रॉड और कील-लगे क्लबों का इस्तेमाल किया.