NDTV Khabar

PNB घोटाला: नीरव मोदी की कंपनी के सीनियर अधिकारी विपुल अंबानी सहित 5 लोग CBI की गिरफ्त में

पीएनबी घोटाला मामले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी की कंपनी के वित्तीय कामकाज को संभालने वाले वरिष्ठ कार्यपालक अधिकारी विपुल अंबानी को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
PNB घोटाला: नीरव मोदी की कंपनी के सीनियर अधिकारी विपुल अंबानी सहित 5 लोग CBI की गिरफ्त में

नीरव मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पीएनबी घोटाला मामले में सीबीआई को अब तक बड़ी गिरफ्तारी हाथ लगी है. सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक में 11,384 करोड़ रूपये के घोटाले की जांच के सिलसिले में मुख्य आरोपी नीरव मोदी की फाइव स्टार डायमंड कंपनी के अध्यक्ष (वित्त) विपुल अंबानी को आज गिरफ्तार कर लिया. अधिकारियों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस मामले में यह पहली बड़ी गिरफ्तारी है. मामले के दो मुख्य आरोपी नीरव मोदी तथा मेहुल चोकसी देश छोड़ कर जा चुके हैं. 

उन्होंने बताया कि इस घोटाले में दर्ज अपनी दो प्राथमिकियों के सिलसिले में जांच एजेंसी ने चार अन्य वरिष्ठ कार्यपालक अधिकारियों को भी गिरफ्तार किया. अंबानी को कार्यपालक सहायक कविता मानकीकर तथा वरिष्ठ कार्यपालक अधिकारी अर्जुन पाटिल के साथ, सीबीआई द्वारा दर्ज पहली प्राथमिकी के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया. इस प्राथमिकी के तहत, 6,498 करोड़ रुपये मूल्य के 150 ‘लैटर्स ऑफ अंडरटेकिंग’ (एलओयू) की जांच की जा रही है. एलओयू वह गारंटी होता है जो जारीकर्ता बैंक उन भारतीय बैंकों को आवेदक को अल्पकालिक रिण देने के लिए देता है जिनकी विदेशों में शाखाएं हैं.

मानकीकर तीन कंपनियों ... डायमंड आर यूएस, स्टेलर डायमंड, सोलर एक्सपोर्ट्स में भी महत्वपूर्ण पदाधिकारी हैं. तीनों कंपनियां 31 जनवरी को जांच एजेंसी द्वारा दर्ज प्राथमिकी में आरोपी के तौर पर सूचीबद्ध हैं. अधिकारियों ने बताया कि प्राथमिकी में हीरा व्यापारी नीरव मोदी, उसकी पत्नी एमी, भाई निशाल और उसके रिश्तेदार मेहुल चोकसी के नाम बतौर आरोपी हैं. ये सभी लोग जनवरी के पहले सप्ताह में देश छोड़ कर जा चुके हैं.

सूत्राों ने बताया कि शेष दो व्यक्ति कपिल खंडेलवाल और नितेन शाही को जांच एजेंसी द्वारा दर्ज दूसरी प्राथमिकी के सिलसिले में आज गिरफ्तार किया गया. दूसरी प्राथमिकी जांच एजेंसी ने 15 फरवरी को चोकसी तथा उसकी तीन कंपनियों के खिलाफ दर्ज की थी. इस मामले में जांच 4,886 करोड़ रुपये के 143 एलओयू पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों द्वारा फर्जी तरीके से जारी किए जाने को लेकर की जा रही है.

टिप्पणियां
खंडेलवाल नक्षत्र समूह और गीतांजलि समूह के सीएफओ तथा शाही गीतांजलि समूह के मैनेजर हैं. अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने आज पंजाब नेशनल बैंक के एक कार्यकारी निदेशक तथा नौ अन्य अधिकारियों से 11,400 करोड़ रुपये मूल्य की गारंटी मोदी तथा चोकसी को जारी किए जाने के सिलसिले में पूछताछ की. 

VIDEO: पीएनबी घोटाला : नीरव मोदी पर अब कस रहा शिकंजा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement