Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

भारत पहुंचने से पहले ट्रंप ने किया था ट्वीट, 'हम रास्ते में हैं' तो कुमार विश्वास ने ट्वीट कर कही ये बात

भारत के दो दिनों के दौरे पर पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अमेरिका भारत से प्यार करता है और उसका सम्मान करता है.

भारत पहुंचने से पहले ट्रंप ने किया था ट्वीट, 'हम रास्ते में हैं' तो कुमार विश्वास ने ट्वीट कर कही ये बात

कुमार विश्वास (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी पहली भारत यात्रा पर सोमवार को अहमदाबाद पहुंचे. भारत आने पर राष्ट्रपति ट्रंप का जोरदार स्वागत किया गया. राष्ट्रपति ट्रंप के साथ उनकी पत्नी मेलानिया, बेटी इवांका, दामाद जेरेड कुश्नर भी भारत यात्रा पर आए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अमेरिकी राष्टपति डोनाल्ड ट्रंप ने महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम का दौरा किया. ट्रंप ने भारत पहुंचने से पहले हिंदी में ट्वीट कर लिखा, "हम भारत आने के लिए तत्पर हैं. हम रास्ते में हैं, कुछ ही घंटों में हम सबसे मिलेंगे!" वहीं, कवि से राजनेता बने कुमार विश्वास ने राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट को रीट्वीट कर लिखा है, "स्वागत ईश्वर आपको रास्ते पर लाए"

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का भारत दौरा खासा सुर्खियों में है. अमेरिकी राष्ट्रपति के स्वागत के लिए हो रहे खर्चे को लेकर विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है. विपक्षी दलों के नेता इसे बेफिजूल खर्च बताते हुए सरकार पर निशाना साध रहे हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए ट्रंप की तुलना एक बॉलीवुड फिल्म के मशहूर विलेन 'मोगैम्बो' से की थी. उन्होंने कहा था कि देश की सरकार 'मोगैम्बो' को खुश करने के लिए सब कुछ कर रही है. इधर कुमार विश्वास ने भी राष्ट्रपति ट्रंप की नीतियों की आलोचना की है और उनपर तंज कसा है.

विवादित बयानों पर कुमार विश्वास हुए नाराज, ट्वीट कर कहा - इस सब से नहीं बल्कि...

बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के यात्रा से एक हफ्ते पहले  व्हाइट हाउस के अधिकारी की तरफ से कहा गया था कि अमेरिकी राष्ट्रपति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने धार्मिक स्वतंत्रता का मुद्दा उठाएंगे. कहा गया था कि भारत की लोकतांत्रिक परम्पराओं और संस्थानों का बहुत सम्मान करता है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कांफ्रेंस कॉल में पत्रकारों से कहा, "अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प अपने सार्वजनिक और निश्चित तौर पर निजी, दोनों भाषणों में हमारी साझा लोकतांत्रिक परंपरा और धार्मिक आजादी के बारे में बात करेंगे. वे इन मुद्दों को उठाएंगे, खासतौर से धार्मिक आजादी का मुद्दा, जो इस प्रशासन के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है." 

VIDEO: 5 की बात: क्या भारत को अब रक्षा सौदों में लानी चाहिए तेजी?