खुद को IAS अफसर बता कर पुलिस से करवाता था काम, जांच हई तो हैरान करने वाली सच्चाई आई सामने

पुलिस के सामने अक्सर ही ठगी के हैरतअंगेज मामले सामने आते हैं लेकिन हैरानी तब ज्यादा होती है जब कोई शातिर सीधे पुलिस को ही ठगने की कोशिश करने लगे.

खुद को IAS अफसर बता कर पुलिस से करवाता था काम, जांच हई तो हैरान करने वाली सच्चाई आई सामने

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • खुद को त्रिपुरा कैडर का आईएएस अफसर बताता था शातिर
  • पुलिस अधिकारियों को फोन करके करवाता था अपने काम
  • पुलिस ने किया गिरफ्तार
नोएडा:

पुलिस के सामने अक्सर ही ठगी के हैरतअंगेज मामले सामने आते हैं लेकिन हैरानी तब ज्यादा होती है जब कोई शातिर सीधे पुलिस को ही ठगने की कोशिश करने लगे. ऐसा ही एक दिलचस्प मामला नोएडा में सामने आया है. जहां सीधे पुलिस को ही निशाने पर लिया गया. दरअसल थाना बादलपुर पुलिस में एक शख्स का फोन आया. जिसने खुद को 2005 त्रिपुरा कैडर बैच का आईएएस अधिकारी बताया. फोन करने वाले शख्स ने अपना नाम विशाल कुमार बताया और एक परिचित का काम करने के लिए कहा. पुलिस अधिकारी को शक हुआ. उन्होंने फोन करने वाले शख्स का नंबर सर्विलांस विभाग को जांच के लिए दे दिया. इसके बाद जो हुआ वह हैरान करने वाला था. पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि फोन करने वाला व्यक्ति किसी कंपनी में ड्राइवर है. 

दिल्ली पुलिस के एएसआई से सात लाख रुपये ठगे, पैसे मांगने पर पीटा

एसपी (ग्रामीण) विनीत जायसवाल ने शनिवार को बताया कि थाना बादलपुर पुलिस को एक व्यक्ति ने फोन किया और कहा कि वह 2005 बैच का त्रिपुरा कैडर का आईएएस अफसर विशाल कुमार बोल रहा है. जायसवाल के अनुसार, व्यक्ति ने स्वयं को त्रिपुरा में डीएम बताते हुए अपने एक परिचित का कोई काम करने के लिए कहा. जायसवाल ने बताया कि बातचीत के दौरान संदेह होने पर जब सर्विलान्स विधि से जांच की गई तब पता चला कि अपने आप को त्रिपुरा का डीएम बताने वाला व्यक्ति गाजियाबाद में रहता है. उन्होंने बताया कि शनिवार को एक सूचना के आधार पर थाना बादलपुर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि उसका नाम मन्नी शंकर त्यागी है और वह एक कंपनी में कार ड्राईवर है. 

आधार से मोबाइल लिंक करते वक्त जालसाज़ी, फर्जी सिमों के जरिए ठगने वाला गिरोह पकड़ा गया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एसपी ने बताया कि उक्त व्यक्ति ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि उसने खुद को आईएएस अफसर बता कर लोगों के काम करवाए और एवज में मोटी रकम ली है उसका मोबाइल फोन जब्त कर पुलिस मामले की जांच कर रही है.  

Video: करोड़ों का चुना लगाने वाली अब पुलिस की गिरफ्त में