'स्मृति दिवस' पर अमित शाह ने की पुलिसबल की तारीफ, बोले- कोरोना से डटकर लड़ रहे हमारे योद्धा

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के जवानों और अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा, 'वर्दी में मौजूद योद्धा हर किसी की मदद करते हैं.'

'स्मृति दिवस' पर अमित शाह ने की पुलिसबल की तारीफ, बोले- कोरोना से डटकर लड़ रहे हमारे योद्धा

गृह मंत्री अमित शाह ने पुलिसबल की सराहना की. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

पिछले कई महीनों से देशभर के पुलिस अधिकारी 24 घंटे काम कर रहे हैं ताकि COVID-19 मानदंडों का न्यूनतम उल्लंघन सुनिश्चित किया जा सके. कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ इस लड़ाई में पुलिस अधिकारी वायरस को फैलने से रोकने के लिए अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने पुलिस स्मृति दिवस 2020 (Police Commemoration Day 2020) पर कोरोना योद्धाओं के प्रयासों की सराहना करते हुए COVID-19 की वजह से मारे गए 343 पुलिसकर्मियों को याद किया और कहा कि सभी दिवंगत कर्मी लोगों की मदद करने, रक्तदान और प्लाज्मा दान करने के लिए काम करते रहे.

अमित शाह ने पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के जवानों और अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा, 'वर्दी में मौजूद ये योद्धा हर किसी की मदद करते हैं. अगर हम सभी त्योहारों को मनाने में सक्षम हैं और अपने घरों में रात को सुरक्षित सो सकते हैं, तो ये इसलिए है क्योंकि पुलिसकर्मी ड्यूटी पर हैं.' 1959 में लद्दाख के हॉट स्प्रिंग इलाके में चीनी सैनिकों द्वारा घात लगाकर मारे गए 10 पुलिसकर्मियों (सीआरपीएफ के) को श्रद्धांजलि देने के लिए यह दिन मनाया जाता है. दोनों देशों की सेनाएं वर्तमान में लद्दाख क्षेत्र में आमने-सामने हैं. अमित शाह ने सतर्कता के साथ-साथ देश में आंतरिक और सीमा सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुलिसकर्मियों की सराहना की.

उन्होंने कहा, 'पुलिस का काम आतंकवाद, नकली मुद्रा, नशीले पदार्थों पर नियंत्रण, साइबर अपराध, हथियारों की तस्करी, मानव तस्करी के क्षेत्रों में नई चुनौतियों और नए आयामों को देखना है. पिछले 2-3 दशक से जो नए आयाम सामने आए हैं, उनके लिए पुलिस बलों को तैयार करना एक चुनौती है.' गृह मंत्री ने कहा, 'हमने पुलिस के लिए एक व्यापक आधुनिकीकरण कार्यक्रम तैयार किया है और मुझे उम्मीद है कि आने वाले दिनों में मोदी सरकार उन्हें इन चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करेगी.' उन्होंने कहा कि सरकार देश की सीमाओं को अभेद्य बनाने के लिए प्रौद्योगिकी पर जोर दे रही है और इस संबंध में तैयारी विस्तार से की जा रही है. उन्होंने कहा कि हमारे सैनिक तकनीक की मदद और मुस्तैदी से अपनी सीमाओं को बेहतर ढंग से सुरक्षित कर सकेंगे.

पुलिसकर्मी ने किया नेक काम, कोविड-19 से परेशान होकर सुसाइड कर चुके बुजुर्ग का किया अंतिम संस्कार

शाह ने यह भी कहा कि केंद्र सरकार कई काम करने जा रही है ताकि प्रति एक लाख आबादी पर पुलिसकर्मियों की उपलब्धता में कमी को दुरुस्त किया जा सके. उन्होंने कहा कि कई बदलाव जल्द ही पुलिस आवास, संतुष्टि अनुपात और प्रशिक्षण के संदर्भ में दिखाई देंगे और उनका मंत्रालय इन मुद्दों पर काम कर रहा है. बता दें कि सीएपीएफ के एक संयुक्त दल द्वारा यह सम्मान समारोह आयोजित किया गया था, जिसमें गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार और विभिन्न प्रमुखों ने भाग लिया था.

महाराष्ट्र में माता-पिता से बिछड़ी 2 बहनों को परिवार से मिलाया गया

सम्मान समारोह को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, 'पुलिस स्मरणोत्सव दिवस, पूरे भारत में हमारे पुलिसकर्मियों और उनके परिवारों के प्रति आभार व्यक्त करने के बारे में है. हम कर्तव्य की पंक्ति में शहीद हुए सभी पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि देते हैं. उनके बलिदान और सेवा को हमेशा याद किया जाएगा. कानून-व्यवस्था बनाए रखने से लेकर भयावह अपराधों को सुलझाने, आपदा प्रबंधन में सहायता से लेकर COVID-19 से लड़ने तक, हमारे पुलिसकर्मी हमेशा बिना किसी हिचक के अपना सर्वश्रेष्ठ देते हैं. हमें नागरिकों की सहायता के लिए उनके परिश्रम और तत्परता पर गर्व है.'

Newsbeep

VIDEO: एंबुलेंस के जरिए ड्रग्स की सप्लाई करने वाले गैंग का पर्दाफाश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com