NDTV Khabar

कश्मीरी युवक को जीप से बांधने वाले आर्मी ऑफिसर को होटल विवाद के बाद पुलिस ने हिरासत में लिया

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि गोगोई ने पुलिस से कहा कि वह एक ‘सोर्स मीटिंग ’ के लिए होटल आए थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कश्मीरी युवक को जीप से बांधने वाले आर्मी ऑफिसर को होटल विवाद के बाद पुलिस ने हिरासत में लिया

मेजर लितूल गोगोई (फाइल फोटो)

श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर में सेना के एक मेजर को एक होटल में झगड़े के बाद पुलिस ने बुधवार को कुछ समय के लिए हिरासत में ले लिया. मेजर 18 वर्षीय एक युवती के साथ होटल में घुसना चाहता था. होटल स्टाफ ने युवती के साथ घुसने की अनुमति नहीं दी. इस पर वहां झगड़ा हो गया. यह घटना मेजर नितिन लीतुल गोगोई से जुड़ी है जिन्होंने पिछले साल सेना की टीम को पथराव से बचाने के लिए एक व्यक्ति को गाड़ी के बोनट पर बांध दिया था.

होटल में बुधवार को हुई घटना के संबंध में जम्मू कश्मीर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि गोगोई ने पुलिस से कहा कि वह एक ‘सोर्स मीटिंग ’ के लिए होटल आए थे. अधिकारी ने बताया कि घटना बुधवार की सुबह हुई जब मेजर गोगोई अपने सैन्यकर्मी चालक और युवती के साथ डलगेट स्थित होटल पहुंचे. 

एक साल पहले जवानों ने बनाया था 'ढाल', अब गांव वालों ने एजेंट बताकर किया बहिष्कार


पुलिस अधिकारी जिन्होंने अपनी पहचान उजागर न करने की इच्छा व्यक्त की , ने बताया कि लीतुल गोगोई के नाम पर होटल में दो अतिथियों के एक रात के प्रवास के लिए ऑनलाइन बुकिंग हुई थी. दोनों पक्षों के बयान दर्ज करने वाली पुलिस के अनुसार मेजर से होटल स्टाफ ने कहा कि वह युवती के साथ कमरे में प्रवेश नहीं कर सकते. इस पर स्टाफ और गोगोई के चालक के बीच विवाद हो गया. 

होटल के अन्य कर्मचारियों ने तत्काल मेजर तथा उनके चालक को पकड़ लिया तथा पुलिस बुला ली. पुलिस महानिरीक्षक (कश्मीर रेंज) स्वयम प्रकाश पाणि ने पुलिस अधीक्षक (उत्तर) को घटना की जांच का आदेश दिया. 

अधिकारी ने बताया कि पाणि ने निर्देश दिया है कि रिपोर्ट जल्द से जल्द सौंपी जाए. उन्होंने बताया कि पुलिस ने जांच के तहत सीसीटीवी फुटेज और मेजर द्वारा भरा गया कमरा आरक्षित करने का फॉर्म मांगा है. अधिकारी ने कहा कि श्रीनगर आधारित कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल ए के भट को स्थिति से अवगत कराया गया.  उन्होंने कहा कि हालांकि पुलिस ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है. 

कश्मीर : युवक को जीप में बांधने के मामले में सैन्य अफसर पर प्राथमिकी रद्द नहीं होगी

टिप्पणी मांगे जाने पर नयी दिल्ली में सेना के सूत्रों ने बताया कि पुलिस जांच पूरी हो जाने तथा स्थितियां स्पष्ट हो जाने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी. अधिकारी ने बताया कि मेजर गोगोई की सैन्य यूनिट की एक टीम सेना पुलिस के साथ पहुंची. स्थानीय पुलिस ने बयान दर्ज करने के बाद गोगोई को उसे सौंप दिया. पुलिस अधिकारी ने कहा कि मेजर ने दावा किया कि यह एक ‘ सोर्स मीटिंग ’ थी. 

वहीं , ‘रोती युवती’’ ने पुलिस से कहा कि वह सेना अधिकारी के चालक को जानती थी और उसके साथ श्रीनगर आई थी. इससे पहले पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा था कि होटल ग्रांड ममता से झगड़े की सूचना मिलने पर पुलिस वहां पहुंची और सेना के मेजर सहित सभी लोगों को थाने ले आई.  प्रवक्ता ने कहा , ‘बाद में यह पता चला कि युवती सेना के एक अधिकारी से मिलने आई थी. बयान दर्ज करने के बाद अधिकारी को उनकी यूनिट को सौंप दिया गया। मामले की जांच के लिए महिला का बयान भी दर्ज किया जा रहा है.’ 

टिप्पणियां

VIDEO: भीड़ हमारी बात सुनने को तैयार नहीं थी- मेजर लितुल गोगोई

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement