NDTV Khabar

उप्र: सुल्तानपुर पुलिस का कारनामा, रेप की खबर छापने पर पत्रकार के खिलाफ ही दर्ज कर दिया केस, SP बोले- ऐसा नहीं है

पत्रकार धर्मेंद्र मिश्रा का कहना है कि सुल्तानपुर के पुलिस अधीक्षक कथित रेप की खबर अपने मुताबिक छपवाना चाहते थे लेकिन जब उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया तब से मामला दर्ज करने की धमकी दी जा रही थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उप्र: सुल्तानपुर पुलिस का कारनामा, रेप की खबर छापने पर पत्रकार के खिलाफ ही दर्ज कर दिया केस, SP बोले- ऐसा नहीं है

धर्मेंद्र मिश्रा

खास बातें

  1. रेप की खबर छापने पर पुलिस ने पत्रकार के खिलाफ ही दर्ज कर दिया केस
  2. पत्रकार ने प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया और मानवाधिकार आयोग से लगाई गुहार
  3. पत्रकार ने व्हाट्स एप के जरिए कथित तौर पर धमकी देने का भी आरोप लगाया
यूपी:

पत्रकार ने रेप की खबर छापी तो उल्टा उसी के उपर मुकदमा दर्ज हो गया. मामला उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले का है. यहां की पुलिस ने धर्मेंद्र मिश्रा नाम के एक पत्रकार के खिलाफ मारपीट और लूट का मामला दर्ज किया है. जानकारी के मुताबिक धर्मेंद्र मिश्रा एक राष्ट्रीय अखबार के ब्यूरो चीफ हैं. उनका आरोप है कि 10 सितंबर को उन्होंने एक युवती से हुए कथित रेप की खबर छापी थी और लिखा था कि पुलिस रेप की घटना पर पर्दा डालना चाहती है. इसके बाद 14 नवंबर को फिर जब रेप पीड़िता की खबर छापी तो उसके बाद 16 नवंबर को सुल्तानपुर पुलिस ने करीब सालभर पुरानी एक शिकायत पर उनपर ही मारपीट और पैसे छीनने का मामला दर्ज कर दिया.

पीड़ित पत्रकार ने सुल्तानपुर पुलिस अधीक्षक हिमांशु कुमार के खिलाफ प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया से लेकर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग तक से गुहार लगाई है. उधर सुल्तानपुर के एसपी हिमांशु कुमार का कहना है कि एक सरकारी कर्मचारी की शिकायत पर पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, इससे खबर छापने का कोई ताल्लुक नहीं है.


टिप्पणियां

उन्नाव में रेप पीड़िता को जलाने पर अखिलेश यादव ने साधा योगी सरकार पर निशाना, कहा- BJP सरकार सामूहिक इस्तीफा दे

हालांकि, पत्रकार धर्मेंद्र मिश्रा का आरोप है कि सुल्तानपुर पुलिस अधीक्षक कथित रेप की खबर अपने मुताबिक छपवाना चाहते थे, लेकिन जब उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया तब से मामला दर्ज करने की धमकी देने लगे. केस दर्ज करने से पहले कई बार व्हाट्सअप मैसेज के जरिए कथित तौर पर धमकी भी दी. उधर, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव त्यागी ने भी राज्य सरकार की आलोचना करते कहा कि पत्रकारों के खिलाफ पुलिस फर्जी मामले दर्ज करके उनकी आवाज को दबाना चाहती है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... Street Dancer Box Office Collection Day 4: वरुण धवन की फिल्म ने चौथे दिन भी मचाया धमाल, कमा डाले इतने करोड़

Advertisement