बिहारः रालोसपा के आक्रोश मार्च पर पुलिस का लाठीचार्ज, अस्पताल में भर्ती हुए घायल उपेंद्र कुशवाहा

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) की तरफ से शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर यहां शनिवार को निकाले गए आक्रोश मार्च में पुलिस ने लाठीचार्ज किया. जिससे पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा घायल हो गए

बिहारः रालोसपा के आक्रोश मार्च पर पुलिस का लाठीचार्ज, अस्पताल में भर्ती हुए घायल उपेंद्र कुशवाहा

रालोसपा की रैली में लाठीचार्ज से घायल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा.

पटना:

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) की तरफ से शिक्षा में सुधार की मांग को लेकर यहां शनिवार को निकाले गए आक्रोश मार्च में पुलिस ने लाठीचार्ज किया. जिससे पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा घायल हो गए. कुशवाहा को पटना कॉलेज मेडिकल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया हैं.दरअसल कुशवाहा अपने कार्यकर्ताओं के साथ जनाक्रोश मार्च निकाल रहे थे.  पटना के डाकबंगला चौराहे पर जब पुलिसवालों ने मार्च को रोका तो समर्थकों और पुलिस वालों में झड़प हुई जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया. इस दौरान कुशवाहा को भी चोट लगी और उसके बाद उन्हें पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

यह भी पढ़ें- क्या बिहार में उपेंद्र कुशवाहा के महागठबंधन में जाने के बाद भाजपा घबरायी है?

इसके बाद विपक्षी दलों के नेताओं ने इस घटना की निंदा करते हुए बयान देना शुरू किया. विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि शिक्षा सुधार के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे रालोसपा अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा  पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  द्वारा पुलिस से हमला करवाना लोकतांत्रिक मूल्यों के ख़िलाफ़ एवं तानाशाही की पराकाष्ठा है. तेजस्वी ने अपने बयान में कहा कि नीतीश जी, कुर्सी बचाने के लिए इस स्तर की राजनीति ठीक नहीं है. इसके अलावा कांग्रेस और हम ने भी लाठीचार्ज की निंदा की. 

शामिल कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जमकर झड़प हुई. इस दौरान पुलिस लाठीचार्ज में रालोसपा प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा सहित कई कार्यकर्ता घायल हो गए. पुलिस के अनुसार, रालोसपा के कार्यकर्ताओं ने पूर्व मंत्री कुशवाहा के नेतृत्व में आक्रोश मार्च निकाला था. जेपी गोलंबर से प्रारंभ इस मार्च के डाक बंगला चौराहे के पास पहुंचने पर पुलिस ने उसे रोकने की कोशिश की, लेकिन कार्यकर्ता राजभवन की ओर जाने की कोशिश करने लगे. इसी दौरान कुछ कार्यकर्ताओं ने रोड़ेबाजी शुरू कर दी. 

पुलिस ने इसके बाद पानी की बौछारें की और कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की, लेकिन रालोसपा कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए और लाठियां भांजने लगे. इसके बाद पुलिस ने भी लाठीचार्ज कर दिया. लाठीचार्ज की घटना को लेकर उपेंद्र कुशवाहा ने संवाददाताओं से बातचीत में नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार शिक्षा विरोधी है और उसी कारण रालोसपा के आक्रोश मार्च के दौरान पुलिस से लाठियां चलवाई गईं. उन्होंने कहा कि इसमें कई कार्यकर्ता और समर्थक जख्मी हुए हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें भी सिर और पीठ में चोटें आई हैं.पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि भीड़ को नियंत्रित करने के लिए बल प्रयोग करना पड़ा. उन्होंने कहा कि रोड़ेबाजी में कुछ पुलिसकर्मियों को भी चोटें आई हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो- मिशन 2019: एनडीए से क्यों अलग हुए कुशवाहा ?