Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

'शामीविटनेस' के जरिये लोगों को ISIS में शामिल होने के लिए उकसाता था बिस्वास : पुलिस

ईमेल करें
टिप्पणियां
'शामीविटनेस' के जरिये लोगों को ISIS में शामिल होने के लिए उकसाता था बिस्वास : पुलिस

मेहदी मसरूर बिस्वास का फाइल चित्र

बेंगलुरू: माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर एकाउंट 'शामीविटनेस' (@ShamiWitness) के जरिये इराकी आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के लिए प्रचार करने के आरोप में बेंगलुरू में गिरफ्तार हुए मेहदी मसरूर बिस्वास की जांच में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं।

बेंगलुरू के पुलिस कमिश्नर एमएन रेड्डी का कहना है कि सवा लाख में से अब तक करीब 12,000 ऐसे ट्वीट मिले हैं, जिनके जरिये मेहदी बिस्वास लोगों को आईएसआईएस से जुड़ने के लिए प्रेरित कर रहा था। साथ ही कुछ ऐसे ट्वीट भी सामने आए हैं, जिनसे साफ है कि मेहदी मसरूर बिस्वास इराक में मौजूद एक आईएसआईएस लड़ाके से सीधे जुड़ा हुआ था और उन्हें सेना की आवाजाही की जानकारी लगातार दे रहा था।

मेहदी मसरूर बिस्वास गिरफ्तारी के बाद से अब तक पिछले 20 दिन से पुलिस हिरासत में ही था, लेकिन शुक्रवार को पुलिस हिरासत खत्म होने के बाद उसे 16 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

पुलिस बिस्वास के सवा लाख ट्वीट के साथ-साथ उसके 17,000 फॉलोअर्स के ट्वीट की भी जांच कर रही है। वैसे, पुलिस ने बिस्वास पर आईटी एक्ट की विभिन्न धाराओं के साथ-साथ मित्र राष्ट्रों के खिलाफ युद्ध छेड़ने का आरोप भी लगाया है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement