NDTV Khabar

राहुल गांधी की राजनीति अलोकतांत्रिक है : बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

बैठक में पार्टी नेताओं को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि किस तरह दोनों सदनों में पीएम मोदी के भाषण के दौरान विपक्ष ने व्यवधान डाला. बैठक में बीजेपी सांसदों ने इसकी निंदा की. 

1.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राहुल गांधी की राजनीति अलोकतांत्रिक है : बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह.

खास बातें

  1. बीजेपी अध्यक्ष ने की बीजेपी संसदीय दल की बैठक
  2. बैठक में कांग्रेस के रवैये पर उठाई आपत्ति
  3. बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने बजट को सराहा.
नई दिल्ली: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक की. इस बैठक में पीएम मोदी और अमित शाह ने कांग्रेस पार्टी के संसद में रवैये की आलोचना की. बैठक में पार्टी नेताओं को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि किस तरह दोनों सदनों में पीएम मोदी के भाषण के दौरान विपक्ष ने व्यवधान डाला. बैठक में बीजेपी सांसदों ने इसकी निंदा की. 

अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी जिस तरह की राजनीति कर रहे हैं वह अलोकतांत्रिक है. संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के दौरान विपक्ष के हंगामे के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की राजनीतिक शैली को अलोकतांत्रिक करार दिया. शाह ने भाजपा संसदीय दल की बैठक के दौरान यह टिप्पणी की. इस बैठक में मोदी ने भी शिरकत की थी.

पढ़ें : राज्‍यसभा में अमित शाह अपने पहले भाषण में GST और बेराजगारी जैसे मुद्दे पर कांग्रेस पर जमकर बरसे, 10 बातें

शाह ने फ्रांस से राफेल जेट विमानों की खरीद को लेकर संसद को बाधित करने के लिए कांग्रेस की आलोचना करते हुए इस समझौते के मुख्य बिंदुओं को विस्तार से समझाते हुए कहा, "लेकिन क्या इस समझौते की हर छोटी-बड़ी जानकारी पर चर्चा करना देश के लिए अच्छा होगा?" शाह ने केंद्रीय बजट 2018 की सराहना करते हुए इसे किसानों और मध्य वर्ग के लोगों के लिए फायदेमंद बताया. 

बता दें कि फ्रांस से लड़ाकू विमान राफेल सौदे को लेकर मोदी सरकार पर हमला करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को सवालिया लहजे में कहा था कि रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने इस मसले पर अपना पैंतरा क्यों बदला और कहा कि वह विमान की कीमतों का खुलासा नहीं करेंगी. राहुल ने ट्वीट करके पूछा था, "रक्षामंत्री नवंबर 2017 में दिए अपने बयान से क्यों मुकर गईं?"

राहुल ने ट्वीट में नवंबर रक्षामंत्री की ओर से दिए गए बयान का जिक्र किया है. उन्होंने लिखा है कि रक्षामंत्री ने नवंबर में कहा था कि वह राफेल विमान की कीमतों का खुलासा करेंगी, लेकिन फरवरी 2018 में वह कीमतों को गोपनीय बता रही हैं. 

उन्होंने ट्वीट में इसका जवाब देते हुए लिखा, "भ्रष्टाचार होने, मोदीजी को बचाने, मोदी के मित्रों को बचाने और इसमें सबको बचाने के लिए ऐसा किया जा रहा है." 

VIDEO: राज्यसभा में अमित शाह का पहला भाषण

सीतारमण ने सोमवार को संसद में कहा था कि अंतर्देशीय सरकारों के बीच हुए करार में गोपनीय सूचना होने के कारण फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान सौदे के ब्यौरे का खुलासा नहीं किया जा सकता है. राहुल गांधी ने सौदे को लेकर सरकार पर हमला बोला और प्रधानमंत्री पर इस मसले पर चुप्पी साधने का आरोप लगाया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement