Delhi-NCR Pollution: प्रदूषण बढ़ने से दिल्ली में छाई धुंध की परत, गुड़गांव में सूरज की रोशनी पड़ी फीकी

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता का स्तर खराब होना जारी है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, आनंद विहार में वायु गुणवत्ता सूचकांक 422, आरके पुरम में 407, द्वारका सेक्टर 8 में 421 और बवाना में 430 पर है.

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में प्रदूषण का स्तर (Pollution) गंभीर स्थिति में पहुंच गया है. एनसीआर में सबसे बुरा हाल नोएडा (Noida) का है. दिल्ली-एनसीआर के शहरों का एयर इंडेक्स 400 से ऊपर 'गंभीर श्रेणी' में आ गया. नोएडा में PM 2.5 का स्तर शुक्रवार को 610 पर पहुंच गया है. वहीं, दिल्ली के कई इलाकों में आज भी PM 2.5 का स्तर 500 के पार है. दिल्ली यूनिवर्सिटी का वायु गुणवत्ता सूचकांक 540 तो आईआईटी दिल्ली का आंकड़ा 563 पर है. 

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर 'गंभीर' है. दिल्ली में पीएम 2.5 समग्र रूप से 486 पर है. पूसा (Pusa) में PM 2.5 का स्तर 495 जबकि गुरुग्राम (Gurugram) में PM 2.5 का स्तर 462 है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, हरियाणा के गुरुग्राम में वायु की गुणवत्ता (Air Quality) काफी खराब है. 

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता का स्तर खराब होना लगातार जारी है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, आनंद विहार में वायु गुणवत्ता सूचकांक 422, आरके पुरम में 407, द्वारका सेक्टर 8 में 421 और बवाना में 430 पर है. इन सभी जगहों पर वायु गुणवत्ता 'गंभीर श्रेणी' में है. 

उल्लेखनीय है कि 0 और 50 के बीच एक्यूआई को ''अच्छा'', 51 और 100 के बीच ''संतोषजनक'', 101 और 200 के बीच ''मध्यम'', 201 और 300 के बीच ''खराब'', 301 और 400 के बीच ''बेहद खराब'' और 401 से 500 के बीच ''गंभीर'' माना जाता है.

Newsbeep

(एएनआई के इनपुट के साथ)

वीडियो: दिल्ली में सभी तरह के पटाखे बैन, जलाने पर कार्रवाई

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com