NDTV Khabar

मैं गर्व से कहता हूं कि मैं भागीदार हूं देश के गरीबों के दुःख का : पीएम नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने कहा, 'मुझे गर्व है कि मैं एक गरीब मां का बेटा हूं. गरीबी ने मुझे ईमानदारी और हिम्मत दी है, गरीबी की मार ने मुझे जिन्दगी जीना सिखाया है.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मैं गर्व से कहता हूं कि मैं भागीदार हूं देश के गरीबों के दुःख का : पीएम नरेंद्र मोदी

लखनऊ में लोगों को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

लखनऊ:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लखनऊ में शनिवार को केंद्र सरकार की तीन प्रमुख योजनाओं- अमृत योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) और स्मार्ट सिटी परियोजना की तीसरी वर्षगांठ के मौके पर 3897 करोड़ रुपये की 99 परियोजनाओं का शिलान्यास किया और कहा कि आम जनता के जीवन में बदलाव देखना जीवन को संतोष देने वाला अनुभव है. यहां वह प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों से भी मिले. इस सभा में उन्होंने राहुल गांधी और अखिलेश यादव पर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा, 'मुझे गर्व है कि मैं एक गरीब मां का बेटा हूं. गरीबी ने मुझे ईमानदारी और हिम्मत दी है, गरीबी की मार ने मुझे जिन्दगी जीना सिखाया है. आजकल मुझपर आरोप लगाए जा रहे हैं कि मैं चौकीदार नहीं भागीदार हूं, मैं गर्व से कहता हूं की मैं भागीदार हूं देश के गरीबों के दुःख का, हर दुखियारी मां की तकलीफों का.'

पीएम मोदी के अंदाज में लालू ने साधा निशाना, कहा- मित्रों, ऐसे 'चौकीदार' को बदलना चाहिए कि नहीं?


प्रधानमंत्री ने कहा, 'लखनऊ शहर देश के शहरी जीवन को नई दिशा देने वाले महापुरुष की कर्मभूमि रही है. हमारे प्रेरणास्रोत और देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का ये लंबे समय तक संसदीय क्षेत्र रहा है. अटल जी कहा करते थे कि बिना पुराने को संवारे, नया भी नहीं संवरेगा. ये बात उन्होंने पुराने और नए लखनऊ के संदर्भ में कही थी.' पीएम मोदी ने कहा, 'कुछ भाई-बहनों और बेटियों को उनके अपने मकान की चाबियां सौंपी गईं. चाबियां मिलने पर जो चमक उनके चेहरे पर थीं, उज्जवल भविष्य का जो आत्मविश्वास उनकी आंखों से झलक रहा था, वो हम सभी के लिए बड़ी प्रेरणा है.' आज लगभग 7.5% की रफ़्तार से आगे बढ़ता भारत आने वाले समय में और तेज गति से आगे बढ़ने वाला है. हमारा लक्ष्य है कि जब देश के आजादी के 75 वर्ष हों तो देश में कोई भी व्यक्ति ऐसा ना हो जिसके पास अपना घर ना हो. शहरी ट्रांसपोर्ट में बहुत बड़ा परिवर्तन लाने वाली मेट्रो को सबसे पहले दिल्ली में जमीन पर उतारने का काम अटल जी ने किया था. करोड़ों देशवासियों के जीवन को सरल, सुगम और सुरक्षित बनाने का हमारा संकल्प आज तीन साल बाद अधिक मजबूत हुआ है.'

राहुल गांधी ने किया सवाल- पहले ललित, फिर माल्या, अब नीरव भी हुआ फरार, कहां है देश का चौकीदार?

वहीं उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ से पहले जो लोग थे उनका वन प्वाइंट कार्यक्रम था अपना बंगला सजाना-संवारना, उससे फुरसत मिलती तब तो ग़रीबों का घर बनता. उन्होंने यह भी कहा कि सीसीटीवी की निगरानी की वजह से 'क्राइम रेट' में कमी आई है. प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा, "उत्तर प्रदेश से मैं सांसद हूं. इसलिए सबसे पहले उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधि के रूप में देश के अलग-अलग हिस्सों से आए लोगों का स्वागत करता हूं. देश के गरीब, बेघर भाई-बहनों के जीवन को बदलते हुए देखना, जीवन को संतोष देने वाला एक अनुभव है."

टिप्पणियां

VIDEO: हम चौकीदार, भागीदार हैं पर आपकी तरह ठेकेदार और सौदागर नहीं - PM मोदी

मोदी ने कहा, "यहां लगाई गई प्रदर्शनी में देशभर में चल रहे प्रोजेक्ट्स के बारे में जानकारी दी गई. कुछ शहरों को पुरस्कृत भी किया गया. कुछ लाभार्थियों को मकान की चाबियां भेंट की गईं. उनकी आंखों से जो विश्वास झलक रहा था, वह हम सबके लिए प्रेरणा है." प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभार्थियों से बातचीत करने का मौका मिला है. प्रधानमंत्री मोदी दो दिवसीय लखनऊ दौरे के पहले दिन लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित कार्यशाला में भाग ले रहे हैं. यह कार्यशाला स्मार्ट सिटी, प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) और अमृत योजना के तीन वर्ष पूरे होने के मौके पर आयोजित की गई है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement