NDTV Khabar

उदय योजना के तहत बिजली कंपनियों ने बचाए 15,000 करोड़

बिजली मंत्रालय ने कहा कि उदय योजना में शामिल कर्ज में डूबी राज्यों की बिजली वितरण कंपनियों ने इस साल मार्च तक 15,000 करोड़ रुपये की बचत की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उदय योजना के तहत बिजली कंपनियों ने बचाए 15,000 करोड़

उज्ज्वल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना (उदय) की शुरूआत नवंबर 2015 में हुई थी

खास बातें

  1. बिजली कंपनियों ने इस साल 15,000 करोड़ रुपये की बचत की
  2. उज्ज्वल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना की शुरूआत नवंबर 2015 में
  3. बिजली कंपनियों के 2.09 लाख करोड़ के लक्षित कर्ज का जिम्मा
नई दिल्ली: हमेशा घाटे में रहने वाली बिजली कंपनियों के लिए उदय योजना फायदे का सौदा साबित हो रही है. इस योजना से जुड़कर कंपनियों अब बचत करने की तरफ बढ़ रही हैं. बिजली मंत्रालय ने कहा कि उदय योजना में शामिल कर्ज में डूबी राज्यों की बिजली वितरण कंपनियों ने इस साल मार्च तक 15,000 करोड़ रुपये की बचत की है. इस योजना का मकसद बिजली वितरण कंपनियों को पटरी पर लाना है.

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट से दिल्ली की तीनों निजी बिजली कंपनियों को झटका, दो जजों की बेंच करेगी सुनवाई

उज्ज्वल डिस्कॉम एश्योरेंस योजना (उदय) की शुरूआत नवंबर 2015 में हुई. मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि योजना से जुड़ने वाली बिजली वितरण कंपनियों के मार्च 2017 तक 15,000 करोड़ रुपये की बचत हुई है. इसके अनुसार आपूर्ति की औसत लागत (एसीएस) तथा औसत कमाई (एआरआर) के बीच अंतर करीब 14 प्रतिशत प्रति इकाई कम हुआ है. वहीं एटी एंड सी (सकल तकनीकी और वाणिज्यिक) नुकसान करीब एक प्रतिशत घटा है.

यह भी पढ़ें: बिजली की दरों को कम करने से डूबा कर्ज और बढ़ेगा : इंडियन बैंक्स एसोसिएशन

टिप्पणियां
मंत्रालय ने कहा कि इन राज्यों ने 2015-16 और 2016-17 के लिये उदय योजना में उपलब्ध एफआरबीएम कानून से कर्ज में छूट के तहत अपनी बिजली वितरण कंपनियों के 2.09 लाख करोड़ रुपये का लक्षित कर्ज का जिम्मा लिया है.

(इनपुट-भाषा)
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement