गोडसे पर बयान देकर प्रज्ञा ठाकुर ने BJP की फिर कराई फजीहत, अब पार्टी नेताओं को दी सफाई

लोकसभा में गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर आज भोपाल से सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर माफी मांग सकती हैं. उनके क़रीबी सूत्रों के मुताबिक उनकी टिप्पणी शहीद उधम सिंह को लेकर थी.

गोडसे पर बयान देकर प्रज्ञा ठाकुर ने BJP की फिर कराई फजीहत, अब पार्टी नेताओं को दी सफाई

नई दिल्ली:

लोकसभा में गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर आज भोपाल से सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर माफी मांग सकती हैं. उनके क़रीबी सूत्रों के मुताबिक उनकी टिप्पणी शहीद उधम सिंह को लेकर थी.  बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, महासचिव भूपेन्द्र यादव और संसदीय कार्य मंत्री से मिलकर प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने सफाई भी दी है.  इससे पहले प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने ट्वीट कर सफाई भी दी है. उन्होंने कहा कि मैंने केवल ऊधम सिंह का अपमान नहीं सहा. कभी-कभी झूठ का बवंडर इतना गहरा होता है कि दिन में भी रात लगने लगती है लेकिन सूर्य अपना प्रकाश नहीं खोता. पलभर के बवंडर में लोग भ्रमित न हों सूर्य का प्रकाश स्थाई है. सत्य यही है कि कल मैंने ऊधम सिंह जी का अपमान नहीं सहा बस.' बता दें, प्रज्ञा ठाकुर की इस टिप्पणी पर केंद्र सरकार ने उनका नाम रक्षा मामलों की समिति से हटा दिया है वहीं विपक्ष के सांसदों ने प्रज्ञा की भर्त्सना के लिए प्रस्ताव बनाया है.  इस प्रस्ताव पर पचास से अधिक सांसदों के दस्तखत हैं.

Newsbeep

हालांकि बीजेपी में सिर्फ प्रज्ञा ही नहीं एक और नेता हैं जो गोडसे के पक्ष में बोल रहे हैं.  बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह ने गुरुवार को कहा कि नाथूराम गोडसे से महात्मा गांधी की हत्या करने की ‘भूल' अवश्य हुई है लेकिन वह आतंकवादी नहीं थे. अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले सिंह ने कहा, ''गोडसे से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का हत्या करने की भूल हुई है लेकिन वह आतंकवादी नहीं थे.'' बलिया जिले के बैरिया क्षेत्र से विधायक सिंह ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान दावा किया कि गोडसे आतंकवादी नहीं थे. उन्होंने कहा कि राष्ट्र विरोधी हरकतों में शामिल होने वाला आतंकवादी होता है. गोडसे आतंकवादी नहीं थे.‘गोडसे से भूल हुई है, उनको राष्ट्रभक्त राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या नहीं करनी चाहिए थी.'  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com