पर्यावरण प्रभाव आकलन के मसौदे पर सियासी संग्राम, केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने जयराम रमेश को दिया जवाब

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने कहा कि सरकार ने अधिसूचना का मसौदा जारी किया है, यह अंतिम अधिसूचना नहीं है.

पर्यावरण प्रभाव आकलन के मसौदे पर सियासी संग्राम, केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने जयराम रमेश को दिया जवाब

पर्यावरण प्रभाव आकलन के मसौदे पर जावड़ेकर का जयराम रमेश को जवाब (फाइल फोटो)

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने पर्यावरण प्रभाव आकलन (ईआईए) अधिसूचना के मसौदे पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश (Jairam Ramesh) की आपत्तियों का सिलसिलेवार जवाब दिया है. जावड़ेकर ने कहा है कि पर्यावरण प्रभाव आकलन की अधिसूचना के मसौदे पर अभी परामर्श चल रहा है और इस बीच जयराम रमेश द्वारा पत्रों को सार्वजनिक करना उनकी अपरिपक्वता को दर्शाता है.

प्रकाश जावडेकर ने कहा कि मसौदे में उल्लंघनकर्ताओं पर भारी जुर्माना लगाकर नियामक व्यवस्था के तहत लाने की पूर्वव्यापी मंजूरी का प्रस्ताव है, कंपनियां अनियंत्रित अवस्था में हमेशा नहीं रह सकती है. प्रत्येक परियोजना के विस्तार के लिए पर्यावरण प्रबंधन योजना के निवेदन की आवश्यकता होगी. मसौदे का मकसद जनसुनवाई की प्रक्रिया को कमजोर करना नहीं बल्कि उसे अधिक अर्थपूर्ण बनाना है. ईआईए के मसौदे में किया गया प्रावधान, उल्लंघनकर्ताओं को नियमन की जद में लाने वाला है जिसकी मदद से उन पर भारी जुर्माना लगाया जा सकेगा.

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने कहा कि सरकार ने अधिसूचना का मसौदा जारी किया है, यह अंतिम अधिसूचना नहीं है और इस पर जन परामर्श जारी है, आवश्यकता अनुसार विस्तार से चर्चा करने के लिए तैयार हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com