प्रशांत किशोर ने CAA-NRC पर कांग्रेस का किया सपोर्ट तो गुस्साई BJP, कहा- 'उनके लिए उनका प्रोफेशन...'

JDU ने संसद में सीएए का समर्थन किया था. पार्टी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्पष्ट कर चुके हैं कि उनकी पार्टी सीएए के खिलाफ नहीं, एनआरसी के खिलाफ है.

प्रशांत किशोर ने CAA-NRC पर कांग्रेस का किया सपोर्ट तो गुस्साई BJP, कहा- 'उनके लिए उनका प्रोफेशन...'

प्रशांत ने एक ट्वीट करते हुए सीएए और एनआरसी के बहिष्कार पर कांग्रेस का समर्थन किया था.

खास बातें

  • प्रशांत किशोर के ट्वीट से गुस्साई बीजेपी
  • अपने ट्वीट में प्रशांत ने किया कांग्रेस का CAA-NRC पर समर्थन
  • बीजेपी ने कहा, उनको अपने प्रोफेशन से है प्यार
नई दिल्ली:

जेडीयू नेता प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) अपने एक ट्वीट के कारण सुर्खियों में बने हुए हैं. दरअसल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के करीबी माने जाने वाले प्रशांत किशोर ने सीएए (CAA) और एनआरसी (NRC) पर कांग्रेस (Congress) की तारीफ की है. इसी कारण बीजेपी (BJP) उनसे काफी नाराज हो गई है. प्रशांत ने रविवार को एक ट्वीट करते हुए नागरिकता कानून और एनआरसी के बहिष्कार के फैसले का स्वागत किया. इसके लिए उन्होंने राहुल और प्रियंका गांधी का भी विशेष धन्यवाद दिया. साथ ही प्रशांत ने आश्वासन दिया कि बिहार में एनपीआर लागू नहीं किया जाएगा. प्रशांत के इस ट्वीट के बाद बीजेपी भड़क गई है. 


यह भी पढ़ें: NPR-NRC पर प्रशांत किशोर के एक ट्वीट ने नीतीश कुमार को डाला मुश्किल में

बीजेपी प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी (Meenakshi lekhi) ने कहा, "प्रशांत कई राजनीतिक पार्टियों के लिए सर्वे का काम करते हैं. उनके लिए उनका प्रोफेशन ज्यादा प्यारा है, न कि पार्टी की विचारधारा. ऐसे में प्रशांत को ज्यादा तवज्जो नहीं दिया जाना चाहिए." प्रशांत किशोर का बयान राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) के घटक JDU के रुख से मेल नहीं खाता है. JDU ने संसद में सीएए का समर्थन किया था. पार्टी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्पष्ट कर चुके हैं कि उनकी पार्टी सीएए के खिलाफ नहीं, एनआरसी के खिलाफ है. फिर भी जद(यू) उपाध्यक्ष के नाते प्रशांत किशोर का यह बयान मायने रखता है.

NPR-NCR पर प्रशांत किशोर के एक ट्वीट ने नीतीश कुमार को डाला मुश्किल में, सुशील मोदी की भी साख लगी दांव पर 

प्रशांत का बयान इस कारण भी खास माना जा रहा है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह 16 जनवरी को नागरिकता कानून पर अभियान चलाने खुद बिहार जाने वाले हैं. इन दिनों भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख नेता बिहार में सीएए और एनआरसी के पक्ष में सभाएं कर रहे हैं.

EXCLUSIVE - बिहार में NRC लागू नहीं करेंगे: प्रशांत किशोर​

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com