NDTV Khabar

तोगड़िया ने राम मंदिर के लिए मोदी सरकार को दिया 4 महीने का अल्टीमेटम, नहीं तो ‘अगली बार हिंदू सरकार’ का आह्वान

विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने राम मंदिर सहित कई मुद्दों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार को 4 महीने का अल्टीमेटम दिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तोगड़िया ने राम मंदिर के लिए मोदी सरकार को दिया 4 महीने का अल्टीमेटम, नहीं तो ‘अगली बार हिंदू सरकार’ का आह्वान

पीएम मोदी और अमित शाह (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. राम मंदिर को लेकर मोदी सरकार को अल्टीमेटम
  2. प्रवीण तोगड़िया ने दिया अल्टीमेटम
  3. अक्टूबर तक का दिया है समय
नई दिल्ली: विश्व हिंदू परिषद के पूर्व अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने राम मंदिर सहित कई मुद्दों को लेकर केंद्र की मोदी सरकार को 4 महीने का अल्टीमेटम दिया है. उन्होंने कहा कि अगर उनकी मांगे पूरी नहीं होती हैं तो 'अगली बार हिंदू सरकार' के नारे के साथ मैदान में उतरा जाएगा. प्रवीण तोगड़िया ने हिंदुत्ववादी संगठन अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद (अहिप) का गठन कर अगले साल लोकसभा चुनाव से पहले अक्तूबर में अयोध्या कूच के साथ नया राजनीतिक दल बनाने के स्पष्ट संकेत दिये हैं. तोगड़िया ने अहिप के उद्घाटन सम्मेलन में केन्द्र में मोदी सरकार के समक्ष हिंदू मांग पत्र पेश करते हुये राम मंदिर निर्माण, समान नागरिक संहिता, गौ हत्या प्रतिबंधित करने, मुस्लिम समुदाय का अल्पसंख्यक का दर्जा खत्म कर अल्पसंख्यक आयोग भंग करने और कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने सहित अन्य मांगें इस साल अक्टूबर तक पूरी करने की मोहलत दी. उन्होंने कहा कि मोदी द्वारा चुनाव पूर्व किये गये इन वादों की पूर्ति अगर अगले चार महीनों में नहीं हुयी तो आगामी लोकसभा चुनाव में ‘‘अबकी बार हिंदू सरकार’’ के नारे के साथ उन्हें हिंदूवादी राजनीतिक विकल्प देना पड़ेगा. 

यह भी पढ़ें: VHP के नए अध्‍यक्ष कोकजे ने कहा, 'अयोध्‍या में भव्‍य राम मंदिर बनाना ही हमारा लक्ष्‍य'

टिप्पणियां
तोगड़िया ने कहा कि अहिप के गठन का मकसद अयोध्या में राम मंदिर के साथ काशी और मथुरा के विवादित मुद्दों का हल कराना, गौ हत्या को प्रतिबंधित कराना और कश्मीरी हिन्दुओं की घर वापसी सुनिश्चित करते हुये हिंदू हितों को आगे रखना है. उन्होंने बताया कि अक्टूबर में वह ‘लखनऊ से अयोध्या कूच’ कर इस अभियान की देशव्यापी शुरुआत करेंगे. हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि संगठन का ढांचा खड़ा करने का काम वह पहले ही शुरू कर चुके हैं. इसके लिये देश के एक लाख गांवों में हस्ताक्षर अभियान चलाकर संगठन की मांगों पर जनता की राय लेंगे. साथ ही संगठन की विभिन्न इकाईयों के रूप में राष्ट्रीय बजरंग दल, राष्ट्रीय किसान परिषद, राष्ट्रीय मजदूर परिषद, राष्ट्रीय महिला परिषद, नव युवतियों के लिये ओजस्वनी और राष्ट्रीय छात्र परिषद का भी गठन करते हुये हिंदू हेल्पलाइन शुरू की गयी है. 

VIDEO: अयोध्या में राम मंदिर बनना तय है : आरएसएस महासचिव भैया जी जोशी
संगठन के राजनीतिक एजेंडे के सवाल पर तोगड़िया ने अपने अभियान को ‘हिंदू वोट बैंक’ को एकजुट करने की कार्ययोजना बताया. उन्होंने कहा कि वह राजनीतिक विकल्प की पूर्ति से जुड़ी इस कार्ययोजना का अक्टूबर में ही खुलासा करेंगे. उन्होंने स्पष्ट किया कि राजनीति में आना उनका मूल मकसद नहीं है बल्कि आजाद भारत में हिंदू हितों की लगातार अनदेखी किये जाने के कारण उन्हें राजनीतिक विकल्प का मार्ग चुनना पड़ेगा.
(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement