Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

CAA का अनोखा विरोध, पुरखों की कब्र पर जाकर कांग्रेसी नेता ने रोते हुए मांगे भारतीय होने के सबूत

देशभर में नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) का जबरदस्त विरोध हो रहा है. दिल्ली के शाहीन बाग में ही पिछले एक महीने से ज्यादा वक्त से मुस्लिम महिलाएं धरने पर बैठी हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
CAA का अनोखा विरोध, पुरखों की कब्र पर जाकर कांग्रेसी नेता ने रोते हुए मांगे भारतीय होने के सबूत

कांग्रेसी नेता हसीब अहमद पुरखों की कब्र पर जाकर रोने लगे.

खास बातें

  1. कांग्रेसी नेता ने अलग अंदाज में किया CAA का विरोध
  2. पुरखों की कब्र पर जाकर मांगे नागरिकता के सबूत
  3. कांग्रेसी नेता हसीब अहमद ने कही यह बात
प्रयागराज:

देशभर में नागरिकता कानून (Citizenship Amendment Act) का जबरदस्त विरोध हो रहा है. दिल्ली के शाहीन बाग में ही पिछले एक महीने से ज्यादा वक्त से मुस्लिम महिलाएं धरने पर बैठी हैं. दिल्ली ही नहीं बल्कि कई राज्यों में विपक्षी दल संशोधित नागरिकता कानून (CAA) को वापस लेने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. दूसरी ओर हाल ही में एक रैली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने एक बार फिर साफ कर दिया कि सरकार किसी भी कीमत पर नागरिकता कानून को वापस नहीं लेगी. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) में एक कांग्रेसी नेता ने CAA के विरोध का नया तरीका ढूंढ निकाला. वह अपने पुरखों की कब्र के पास पहुंचे और रोते हुए उनसे नागरिकता से जुड़े दस्तावेज मांगने लगे.

मिली जानकारी के अनुसार, प्रयागराज में कांग्रेस नेता हसीब अहमद (Haseeb Ahmad) CAA का विरोध कर रहे हैं. गुरुवार को हसीब कब्रगाह पहुंचे और पुरखों की कब्र के पास जाकर रोने लगे. वह कब्र के पास रोते हुए पुरखों से अपने भारतीय होने के सबूत से जुड़े दस्तावेज देने की मांग करने लगे. हसीब अहमद ने कहा, 'हमारे पास दस्तावेज नहीं हैं लेकिन हम भारत में पीढ़ियों से रह रहे हैं. हमने अपने पूर्वजों से कहा कि इस बात का प्रमाण दें कि हम इस देश के नागरिक हैं. हमने सरकार से मांग की है कि अगर हमें डिटेंशन कैंप में भेजा जाएगा तो हमारे पुरखों के अवशेष भी वहां रखे जाएं.'


गौरतलब है कि यूपी के कई शहरों में CAA और NRC के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी हैं. गुरुवार को वाराणसी में मुस्लिम समुदाय की कई महिलाओं ने इसके खिलाफ प्रदर्शन किया. हाल ही में लखनऊ में भी मुस्लिम महिलाएं धरने पर बैठी थीं लेकिन पुलिस ने जबरन उन्हें प्रदर्शन स्थल से उठवा दिया. दिल्ली के शाहीन बाग में भी CAA और NRC के विरोध में एक महीने से ज्यादा वक्त से महिलाएं धरने पर हैं. धरने की वजह से रोड जाम का मामला भी सामने आया था. प्रदर्शनकारी महिलाओं की मांग है कि जब तक केंद्र सरकार इस कानून को वापस नहीं लेती, तब तक वह धरनास्थल से नहीं हटेंगी.

टिप्पणियां

VIDEO: CAA के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन को लेकर योगी आदित्यनाथ की भाषा पर सवाल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... सोनभद्र में सोना ही सोना! लीक हुए प्रशासन के कुछ पत्रों से बन गया बात का बतंगड़

Advertisement