Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

जिस कॉलेज में कभी पढ़ाया था, वहां पहुंचे राष्ट्रपति और यादों में खो गए

ईमेल करें
टिप्पणियां
जिस कॉलेज में कभी पढ़ाया था, वहां पहुंचे राष्ट्रपति और यादों में खो गए

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (फाइल फोटो)

आमतला (पश्चिम बंगाल): राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज उस वक्त पुरानी यादों में खो गए, जब वह उस कॉलेज में पहुंचे जहां उन्होंने 53 साल पहले राजनीति में आने से पूर्व पढ़ाया था।

मुखर्जी ने कहा कि उनके विद्यानगर कॉलेज के साथ ‘लंबे और यादगार’ संबंध रहे हैं जहां उन्होंने 1960 के दशक में पांच साल तक पढ़ाया था। उन्होंने कहा, ‘जब कभी मैं इस कॉलेज में आया तो मेरी पुरानी यादें ताजा हो गईं।’

वह दक्षिणी 24 परगना स्थित इस कॉलेज में जनवरी, 2013 में पहुंचे थे। उस वक्त उन्होंने एक नयी इमारत की आधारशिला रखी थी और आज उसी का उद्घाटन किया।

मुखर्जी ने कहा कि शिक्षक के तौर पर कॉलेज से जुड़ने के एक महीने के बाद वह संचालन इकाई में शिक्षकों के प्रतिनिधि चुने गए और बाद में वह कॉलेज के उप प्राचार्य बने। बाद में वह स्थानापन्न प्राचार्य बने। साल 1968 में कॉलेज के संस्थापक हरेंद्रनाथ मजूमदार के प्रोत्साहित करने पर मुखर्जी ने नौकरी से इस्तीफा दे दिया और राजनीति से जुड़ गए।

राष्ट्रपति ने याद किया कि जब उन्होंने बतौर शिक्षक करियर की शुरूआत की तो उस वक्त मुश्किल से 40-50 छात्र हुआ करते थे। उन्होंने कहा कि अब यह बड़ा संस्थान बन चुका है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement