NDTV Khabar

समूची दुनिया भारत से वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति की आशा में, आयुर्वेद की भूमिका अहम : राष्ट्रपति

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि भौतिकतावाद की तरफ लगातार बढ़ती दुनिया तनाव, स्पर्द्धा और भाग-दौड़ से भरी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
समूची दुनिया भारत से वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति की आशा में, आयुर्वेद की भूमिका अहम : राष्ट्रपति

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. राष्ट्रपति ने वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति में आयुर्वेद की भूमिका अहम मानी
  2. 'समूची दुनिया भारत से वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति की आशा में'
  3. राष्ट्रीय आयुर्वेद पुरस्कारों का वितरण करने के बाद उन्होंने यह बात कही
नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि भौतिकतावाद की तरफ लगातार बढ़ती दुनिया तनाव, स्पर्द्धा और भाग-दौड़ से भरी है, और समूचा विश्व इस समय भारत से वैकल्पिक चिकित्सा पद्धति प्रदान करने की अपेक्षा कर रहा है, जिसमें आयुर्वेद महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है.
 
यह भी पढ़ें: रामनाथ कोविंद ने वायुसेना की दो इकाइयों को राष्ट्रपति स्टैंडर्ड किया प्रदान

टिप्पणियां
राष्ट्रपति भवन में सोमवार को आयोजित समारोह में वर्ष 2008 से 2014 के लिए राष्ट्रीय आयुर्वेद पुरस्कारों का वितरण करने के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, "भारत के वन, पर्वत और गांव जड़ी-बूटियों का भंडार हैं... भारत के जंगलों में पांच हज़ार से अधिक जड़ी-बूटियां पाई जाती हैं. इस अमूल्य भंडार को बचाना और बढ़ाना, प्रकृति एवं आयुर्वेद के लिए समय की मांग है."
 
यह भी पढ़ें:  राष्ट्रपति कोविंद की बेटी को एयर इंडिया ने इस वजह से ग्राउंड ड्यूटी में लगाया
 
भारत के राष्ट्रपति के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट पर पंडित रामनारायण शर्मा राष्ट्रीय आयुर्वेद पुरस्कार वितरण समारोह की तस्वीरों के साथ पोस्ट किए गए संदेशों में राष्ट्रपति ने कहा, "आज विश्व भौतिकतावाद की तरफ बढ़ रहा है. हमारे जीवन में तनाव है, स्पर्द्धा है, भाग-दौड़ है."

VIDEO: आयुर्वेद को दवा का दर्जा दिलाना है तो रिसर्च करना होगा : बाबा रामदेव
साथ ही उन्होंने कहा कि दुनिया भारत से वैकल्पिक चिकित्सा के तरीकों की उम्मीद लगा रहा है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement