राष्‍ट्रपति ने लद्दाख में जान गंवाने वाले सैनिकों को किया नमन, कहा, ''इनकी वीरता देश सदा..'

लद्दाख में हिंसक झड़प उस समय शुरू हुइ जब भारतीय सैनिक सीमा के भारत की तरफ चीनी सैनिकों द्वारा लगाए गए टेंट को हटाने गए थे. चीन ने 6 जून को दोनों पक्षों के लेफ्टिनेंट जनरल-रैंक के अधिकारियों के बीच बातचीत के बाद इस टेंट को हटाने पर सहमति जताई थी.

राष्‍ट्रपति ने लद्दाख में जान गंवाने वाले सैनिकों को किया नमन, कहा, ''इनकी वीरता देश सदा..'

राष्‍ट्रपति ने लद्दाख में जान गंवाने वाले भारतीय सैनिकों की वीरता की सराहना की है (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) ने पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक संघर्ष (Ladakh Clash) में जान गंवाने वाले सेना के जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए उनकी वीरता को सराहा है. उनकी ओर से जारी ट्वीट में कहा गया है, ''लद्दाख की गालवान घाटी में अपना जीवन न्‍योछावर करने वाले जवानों ने भारतीय सशस्त्र बलों की सर्वश्रेष्ठ परंपराओं को बरकरार रखा है. उनकी वीरता राष्ट्र की स्मृति में सदा रहेगी. उनके परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है.'' ट्वीट में आगे कहा गया है, ''सशस्त्र बलों के सर्वोच्च कमांडर के रूप में, मैं देश की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा के लिए हमारे सैनिकों के अनुकरणीय साहस और सर्वोच्च बलिदान को नमन करता हूं.''

गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए थे. झड़प में चीनी पक्ष के करीब 45 सैनिकों की मौत की खबर है. जानकारी के अनुसार, लद्दाख में हिंसक झड़प उस समय शुरू हुइ जब भारतीय सैनिक सीमा के भारत की तरफ चीनी सैनिकों द्वारा लगाए गए टेंट को हटाने गए थे. चीन ने 6 जून को दोनों पक्षों के लेफ्टिनेंट जनरल-रैंक के अधिकारियों के बीच बातचीत के बाद इस टेंट को हटाने पर सहमति जताई थी. सूत्रों ने कहा कि चीनी सैनिकों द्वारा भारतीय कर्नल बीएल संतोष बाबू को निशाना बनाने के बाद एक शारीरिक संघर्ष छिड़ गया और दोनों पक्षों के बीच डंडों, पत्‍थरों और रॉड का जमकर इस्‍तेमाल हुआ था.

VIDEO: अमेरिका ने कहा- बॉर्डर के हालात पर है हमारी नजर

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com