NDTV Khabar

राष्‍ट्रपति चुनाव : रामनाथ कोविंद के खिलाफ पूर्व लोकसभा अध्‍यक्ष मीरा कुमार होंगी विपक्ष की साझा उम्‍मीदवार

इससे पहले गुरुवार को राष्ट्रपति चुनाव पर संसद भवन की लाइब्रेरी में विपक्ष की बैठक हुई. बैठक में कांग्रेस से सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, अहमद पटेल, गुलाम नबी आज़ाद, ए.के. एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे मौजूद रहे.

8.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राष्‍ट्रपति चुनाव : रामनाथ कोविंद के खिलाफ पूर्व लोकसभा अध्‍यक्ष मीरा कुमार होंगी विपक्ष की साझा उम्‍मीदवार

पूर्व लोकसभा अध्‍यक्ष मीरा कुमार (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. इस मुद्दे पर संसद भवन की लाइब्रेरी में हुई विपक्ष की बैठक
  2. कांग्रेस से सोनिया, मनमोहन, गुलाम नबी जैसे नेता रहे मौजूद
  3. बीएसपी, एसपी, आरजेडी और एनसीपी के प्रतिनिधि भी बैठक में थे
नई दिल्‍ली: 17 जुलाई 2017 को होने वाले राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष ने पूर्व लोकसभा अध्‍यक्ष मीरा कुमार को अपना साझा उम्‍मीदवार बनाया है. इस तरह विपक्ष ने एनडीए के उम्‍मीदवार रामनाथ कोविंद के सामने महिला एवं दलित उम्‍मीदवार को खड़ा कर अपनी चुनौती पेश की है. कोविंद के भी दलित समुदाय से आने के कारण इस बार राष्ट्रपति चुनाव 'दलित बनाम दलित' हो गया है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, 'हमने मीरा कुमार को राष्ट्रपति चुनाव में उतारने का फैसला किया है. हमें उम्मीद है कि अन्य दल भी हमारे साथ आएंगे.' वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मीरा कुमार के नाम को सर्वसम्मति से चुना गया. राकांपा नेता शरद पवार ने तीन नामों का प्रस्ताव किया. इनमें मीरा कुमार के अलावा पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री सुशीलकुमार शिंदे तथा राज्यसभा सदस्य भालचंद्र मुंगेकर के नाम शामिल थे. दोनों महाराष्ट्र के दलित नेता हैं.

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने महात्मा गांधी के पौत्र गोपालकृष्ण गांधी तथा बी आर अंबेडकर के पौत्र प्रकाश अंबेडकर के नामों का प्रस्ताव किया. 72 वर्षीय मीरा कुमार ने बुधवार की देर शाम सोनिया गांधी से मुलाकात की थी. मुख्‍य रूप से कांग्रेस और वाम दल चाहते थे कि राष्‍ट्रपति चुनाव एकतरफा ना हो इसलिए वो एक ऐसा उम्‍मीदवार पेश करना चाहते थे जिसे सभी विपक्षी पार्टियां अपना समर्थन दें. 16 राजनीतिक दलों ने संसद भवन में हुई विपक्ष की बैठक में हिस्‍सा लिया जहां मीरा कुमार के नाम पर मुहर लगाई गई.

इससे पहले गुरुवार को राष्ट्रपति चुनाव पर संसद भवन की लाइब्रेरी में विपक्ष की बैठक हुई. बैठक में कांग्रेस से सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, अहमद पटेल, गुलाम नबी आज़ाद, ए.के. एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे मौजूद रहे. बीएसपी से सतीश मिश्र, टीएमसी से डेरेक ओ ब्रायन, सपा से रामगोपाल यादव, नरेश अग्रवाल, आरएलडी से अजीत सिंह, नेशनल कांफ्रेंस से उमर अब्दुल्ला, एनसीपी से शरद पवार, प्रफुल्ल पटेल, तारिक़ अनवर, सीपीएम से सीताराम येचुरी, सीपीआई से डी. राजा भी बैठक में शामिल हुए.

पहले कहा जा रहा था कि एनसीपी भी नीतीश कुमार की तरह ही एनडीए के उम्‍मीदवार का समर्थन करने का मन बना रही है जिसके बाद कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने अपनी पार्टी के नेताओं गुलाम नबी आज़ाद तथा अहमद पटेल को पवार से मुलाकात करने के लिए भेजा. वाम नेता सीताराम येचुरी, जो विपक्ष की ओर से प्रत्याशी खड़ा किए जाने पर ज़ोर दे रहे हैं उन्‍होंने ने भी शरद पवार से मुलाकात की.

इसके बाद पवार भी विपक्ष की बैठक में शामिल हुए. बैठक में डीएमके से कनिमोई, केरल कांग्रेस से जोस मनी, जेएमएम से हेमंत सोरेन और संजीव कुमार, आरएसरपी से प्रेमचंद्रन, एआईडीयूएफ के प्रतिनिधि (बदरूद्दीन अज़मल के बेटे), जेडीएस दानिश अली, मुस्लिम लीग- इस्माइल और राजद से लालू प्रसाद यादव भी शामिल हुए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement