NDTV Khabar

रामनाथ कोविंद ने राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए भरा पर्चा, कहा - जबसे राज्यपाल बना मेरा कोई दल नहीं

मीडिया से बातचीत में कोविंद ने कहा, 'मेरा यह मानना है कि राष्ट्रपति का पद दलगत राजनीति से ऊपर है और मैं ऐसा करने का प्रयास करूंगा.'

12 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
रामनाथ कोविंद ने राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए भरा पर्चा, कहा - जबसे राज्यपाल बना मेरा कोई दल नहीं

रामनाथ कोविंद ने भरा नामांकन

खास बातें

  1. मुरली मनोहर जोशी और लालकृष्ण आडवाणी भी थे मौजूद
  2. कोविंद का राष्ट्रपति बनना तय माना जा रहा है
  3. योगी और वसुंधरा समेत कई राज्यों के सीएम थे मौजूद
नई दिल्ली: एनडीए और विपक्ष की ओर से अपने अपने उम्‍मीदवारों की घोषणा के बाद राष्‍ट्रपति चुनाव को लेकर सभी दल सक्रि‍य हैं. शुक्रवार को एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने नामांकन दाखिल कर दिया. मीडिया से बातचीत में उन्‍होंने कहा, 'मेरा यह मानना है कि राष्ट्रपति का पद दलगत राजनीति से ऊपर है और मैं ऐसा करने का प्रयास करूंगा.' उन्होंने कहा, 'सर्वोच्च पद की गरिमा को कायम रखने के लिए वह हरसंभव प्रयास करेंगे.'

नामांकन के दौरान उनके साथ पीएम नरेंद्र मोदी, वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह समेत अन्य कई नेता मौजूद थे. एनडीए शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी साथ थे. कोविंद का राष्ट्रपति बनना तय माना जा रहा है. राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन भरने के बाद एनडीए उम्‍मीदवार ने कहा कि 'हमारे देश का संविधान सर्वोपरि है. मुझे समर्थन देने वाले सभी दलों का धन्यवाद. देश की सीमा की सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है. जबसे मैं राज्यपाल बना मेरा कोई दल नहीं है. मेरा मानना है कि राष्ट्रपति को दलगत राजनीति से ऊपर होना चाहिए.'

देखें वीडियो : पीएम मोदी, शाह और आडवाणी की मौजूदगी में कोविंद ने किया नामांकन

उधर, राष्ट्रपति चुनाव के लिए बीजेपी के दलित कार्ड के जवाब में कांग्रेस ने भी दलित कार्ड खेला है. एनडीए के राष्ट्रपति उम्मीदवार कोविंद के मुक़ाबले विपक्ष ने पूर्व लोकसभा स्पीकर मीरा कुमार को मैदान में उतारा है. गुरुवार को कांग्रेस की अगुवाई में 17 विपक्षी की दलों की बैठक में आम सहमति से मीरा कुमार के नाम पर मुहर लग गई. मीरा कुमार की उम्मीदवारी के बाद अब जेडीयू पर निगाहें टिकी हैं कि क्या बिहारी अस्मिता का ख्याल कर नीतीश पाला तो नहीं बदलेंगे, हालांकि जेडीयू की ओर से साफ संकेत हैं कि वो रामनाथ कोविंद को ही समर्थन देगी. 

टिप्पणियां
ये भी पढ़ें : राष्ट्रपति चुनाव : समर्थन जुटाने के लिए कोविंद रविवार को पहुंच सकते हैं लखनऊ​
 
ramnath kovind
पीएम मोदी और अमित शाह से मिले थे कोविंद

एनडीए के साथ-साथ जेडीयू, टीआरएस, बीजेडी जैसे दलों ने उन्हें समर्थन का ऐलान किया है. ऐसे में कोविंद को 61 फीसदी से भी ज्यादा वोट मिलने की उम्मीद है, क्योंकि अकेले एनडीए का वोट प्रतिशत ही 48.6 फीसदी है. नामांकन के मौके पर समर्थन देने वाले तमिलनाडु के सीएम पलनीसामी, तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव, आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू और ओडिशा के मंत्री सूर्य नारायण पात्रो भी मौजूद थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement