NDTV Khabar

राष्ट्रपति चुनाव : रामनाथ कोविंद को मिले वोटों का प्रतिशत साल 1974 के बाद सबसे कम

केवल दो पूर्व राष्ट्रपतियों राजेंद्र प्रसाद और सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 90 प्रतिशत से अधिक मत मिले थे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राष्ट्रपति चुनाव : रामनाथ कोविंद को मिले वोटों का प्रतिशत साल 1974 के बाद सबसे कम

राष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद को प्राप्त मतों का प्रतिशत 1974 से अब तक सबसे कम रहा.

खास बातें

  1. कोविंद ने कुल 10,90,300 में से 7,02,044 वोट प्राप्त किए
  2. नवनिर्वाचित राष्ट्रपति को कुल 65.65 प्रतिशत मत मिले
  3. केवल नीलम संजीव रेड्डी शीर्ष संवैधानिक पद पर निर्विरोध चुने गए
नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव में राजग के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने आसान जीत दर्ज की है लेकिन आंकड़ों पर गौर करें तो उनका वोट प्रतिशत वर्ष 1974 से लेकर अब तक सबसे कम रहा है.

कोविंद ने राष्ट्रपति चुनाव में कुल 10,90,300 में से 7,02,044 मत प्राप्त किए. वहीं उनकी प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार मीरा कुमार को 3,67,314 मिले. इस हिसाब से निर्वाचित उम्मीदवार को 65.65 प्रतिशत मत मिले. हालांकि जीत का अंतर वर्ष 1974 की तुलना में सबसे कम है.

चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक कोविंद के पूर्ववर्ती प्रणब मुखर्जी को वर्ष 2012 में हुए चुनाव में 69.31 फीसदी वोट मिले थे. वर्ष 2007 में प्रतिभा पाटिल को 65.82 प्रतिशत मिले थे, जो कोविंद की तुलना में थोड़ा अधिक था. केआर नारायणन (1997) और एपीजे अब्दुल कलाम (2002) को क्रमश: 94.97 और 89.57 प्रतिशत मत मिले थे.

वीडियो- राष्ट्रपति का चुनाव जीते कोविंद

टिप्पणियां
राष्ट्रपति चुनाव में केवल वर्ष 1977 में ऐसा अवसर आया था जब नीलम संजीव रेड्डी शीर्ष संवैधानिक पद पर निर्विरोध चुने गए थे. ज्ञानी जैल सिंह (1982) को 72.73, आर वेंकटरमण (1987) को 72.28 और शंकर दयाल शर्मा (1992) को 65.87 प्रतिशत मत मिले थे.

नारायणन के अलावा केवल दो पूर्व राष्ट्रपतियों राजेंद्र प्रसाद और सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 90 प्रतिशत से अधिक मत मिले थे. प्रसाद को वर्ष 1957 में 98.99 और सर्वपल्ली राधाकृष्णन (1962) को 98.24 फीसदी वोट मिले थे.
(इनपुट एजेंसी से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement