NDTV Khabar

भारत में आसमां छूती प्याज की कीमतें, मिस्र, तुर्की और ईरान से करेगा आयात

खुदरा प्याज कीमतों के आसमान पर चढ़ने के मद्देनजर केंद्र ने मंगलवार को कहा कि वह आयातित प्याज के फ्यूमिगेशन (धूम्र-उपचार) के नियमों में नरमी लाएगी तथा अफगानिस्तान, मिस्र, तुर्की और ईरान से प्याज के आयात के लिए सुविधा प्रदान करेगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत में आसमां छूती प्याज की कीमतें, मिस्र, तुर्की और ईरान से करेगा आयात

प्याज की कीमतें छू रही आसमान (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

खुदरा प्याज कीमतों के आसमान पर चढ़ने के मद्देनजर केंद्र ने मंगलवार को कहा कि वह आयातित प्याज के फ्यूमिगेशन (धूम्र-उपचार) के नियमों में नरमी लाएगी तथा अफगानिस्तान, मिस्र, तुर्की और ईरान से प्याज के आयात के लिए सुविधा प्रदान करेगा. प्याज के खुदरा भाव 80 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गए है और इसकी आपूर्ति बढाने के लिए सरकार आयात करवा रही है. उपभोक्ता मामलों के सचिव अविनाश के श्रीवास्तव की अध्यक्षता में एक अंतर-मंत्रालयी समिति की बैठक में इस संबंध में निर्णय लिया गया. इस बैठक में देश में प्याज की कीमतों और उपलब्धता की समीक्षा की गई.

पाकिस्तान की मंशा जाहिर, करतारपुर कॉरिडोर के गाने में खालिस्तानी आतंकियों की तस्वीर

महाराष्ट्र जैसे मुख्य उत्पादक राज्यों में भारी बारिश के बाद आपूर्ति बाधित होने के कारण दिल्ली और अन्य उपभोक्ता राज्यों के अधिकांश खुदरा बाजारों में पिछले एक महीने से प्याज की कीमतें अधिक बनी हुई हैं. उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय द्वारा दिये गए आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में प्याज का खुदरा मूल्य मंगलवार को 80 रुपये किलो था, जबकि चेन्नई में 70 रुपये किलो और चेन्नई में 50 रुपये किलो था.


उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, ‘‘आने वाले दिनों में (आपूर्ति) में सुधार होने की उम्मीद है.... केन्द्र सरकार, प्याज के आयात के लिए एक सुविधाप्रदाता के रूप में कार्य करेगी. आयात को सुविधाजनक बनाने के लिए स्वच्छता और धूम्र-उपचार की आवश्यकता को उपयुक्त ढंग से उदार बनाया जायेगा.''

एक्शन में पंजाब सरकार: पराली जलाने पर 196 किसान गिरफ्तार, 327 FIR हुईं दर्ज

मंत्रालय ने कहा कि अफगानिस्तान, मिस्र, तुर्की और ईरान में भारतीय मिशनों से अनुरोध किया जाएगा कि वे भारत को प्याज की आपूर्ति की सुविधा उपलब्ध करायें. बयान के अनुसार दो अंतर-मंत्रालयीय टीमों को 6-7 नवंबर को कर्नाटक और राजस्थान में भेजा जाएगा ताकि प्याज की आपूर्ति का जायजा लिया जा सके तथा दिल्ली-एनसीआर सहित उपभोगकर्ता क्षेत्रों में आपूर्ति को प्रोत्साहित किया जा सके.

पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में नकारात्मक भूमिका निभाई, हमेशा चाही एक कमजोर सरकार : रिपोर्ट

टिप्पणियां

दिल्ली सरकार को कर्नाटक और राजस्थान जाने वाले अधिकारियों की अंतर-मंत्रालयी टीम के साथ जाने की भी सलाह दी गई है. सरकारी उपक्रम, मदर डेयरी के सफल बिक्रीकेन्द्रों के माध्यम से दिल्ली-एनसीआर में 24.90 रुपये प्रति किलोग्राम की सस्ती दर पर केन्द्रीय बफर स्टॉक के प्याज की बिक्री सहित तमाम सरकारी उपायों के बावजूद प्याज की कीमतें अधिक बनी हुई हैं. बफर स्टॉक से प्याज की आपूर्ति अन्य राज्यों में भी की जा रही है.

Video: उत्तर भारत में फिर बढ़ीं प्याज की कीमतें



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement