TOP 5 NEWS: दिल्ली चुनाव से ठीक पहले कोर्ट ने दी भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर को दिल्ली आने की इजाजत

दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर तीस हजारी कोर्ट ने दरियागंज हिंसा मामले में चंद्रशेखर आजाद को सशर्त जमानत देते हुए 4 सप्ताह के लिए दिल्ली से बाहर रहने का आदेश दिया था.

TOP 5 NEWS: दिल्ली चुनाव से ठीक पहले कोर्ट ने दी भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर को दिल्ली आने की इजाजत

भीम आर्मी चीफ को मिली कोर्ट से राहत

खास बातें

  • चंद्रशेखर को कोर्ट ने दी दिल्ली आने की इजाजत
  • अमित शाह ने सीएए को लेकर दिया बड़ा बयान
  • दिल्ली में केजरीवाल को इस बार हराएंगे - मनोज तिवारी
नई दिल्ली:

भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) को दिल्ली चुनाव से पहले तीस हजारी कोर्ट से राहत मिली है. कोर्ट ने उन्हें शर्तों के साथ दिल्ली आने की इजाजत दी है. इससे पहले दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर तीस हजारी कोर्ट ने दरियागंज हिंसा मामले में चंद्रशेखर आजाद को सशर्त जमानत देते हुए 4 सप्ताह के लिए दिल्ली से बाहर रहने का आदेश दिया था. कोर्ट का कहना है कि भीम आर्मी चीफ को सशर्त दिल्ली आने की इजाजत देगी. वहीं, लखनऊ में नागरिकता कानून के समर्थन में आयोजित रैली को संबोधित करते हुए गृहमंत्री अमित शाह कहा कि इस बिल को लेकर कांग्रेस, टीएमसी, मायावती, सपा और कम्युनिष्ट कांव-कांव चिल्ला रहे हैं. मैंने इस बिल को संसद में पेश किया है मैं चुनौती देता हूं कि इस बिल में की किसी भी धारा में अगर किसी शख्स की नागरिकता छीनने की बाद है तो दिखाएं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार हो रहा है. अफगानिस्तान में बुद्ध की प्रतिमाएं तोड़ी गईं.

केरल और पंजाब के बाद अब पश्चिम बंगाल सरकार भी करेगी CAA के खिलाफ प्रस्ताव पारित

उधर, एक कार्यकर्ता ने दावा किया है कि सूचना के अधिकार कानून (RTI) के तहत पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में केंद्रीय गृह मंत्रालय के पास टुकडे-टुकडे गैंग के बारे में कोई जानकारी नहीं है. अपने ट्वीट में एक्टिविस्ट संकेत गोखले ने पिछले महीने गृह मंत्रालय से पूछे गए सवाल के जवाब को अटैच किया है. संकेत ने अपने पोस्ट में लिखा, "टुकडे टुकडे गैंग आधिकारिक रूप से मौजूद नहीं है, यह केवल अमित शाह की कल्पना का एक अनुमान मात्र है.'' वहीं, दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी से NDTV की बातचीत हुई. इस दौरान उनसे कई ऐसे सवाल पूछे गए, जिसका जवाब अभी भी लोग जानना चाहते हैं. मनोज तिवारी ने यह भी बताया कि आखिर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने बीजेपी ने बड़ा चेहरा क्यों नहीं खड़ा किया गया. उधर, अजय देवगन (Ajay Devgn), काजोल (Kajol), और सैफ अली खान (Saif Ali Khan) की फिल्म 'तान्हाजी: द अनसंग वॉरियर' (Tanhaji: The Unsung Warrior) ने 11वें दिन भी बॉक्स ऑफिस पर अपना जलवा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. खास तो यह है कि दूसरे हफ्ते में भी 'तान्हाजी' की शानदार कमाई जारी है. 


1. दिल्ली चुनाव से पहले भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर को राहत, कोर्ट ने शर्तों के साथ दिल्ली आने की दी इजाजत

j0u3qemk

भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) को दिल्ली चुनाव से पहले तीस हजारी कोर्ट से राहत मिली है. कोर्ट ने उन्हें शर्तों के साथ दिल्ली आने की इजाजत दी है. इससे पहले दिल्ली विधानसभा चुनाव के मद्देनजर तीस हजारी कोर्ट ने दरियागंज हिंसा मामले में चंद्रशेखर आजाद को सशर्त जमानत देते हुए 4 सप्ताह के लिए दिल्ली से बाहर रहने का आदेश दिया था. कोर्ट का कहना है कि भीम आर्मी चीफ को सशर्त दिल्ली आने की इजाजत देगी. कोर्ट ने कहा कि चंद्रशेखर को अपना पूरा सेड्यूल एक दिन पहले डीसीपी क्राइम और कनर्सन डीसीपी को देना होगा.इसके साथ ही कोर्ट की तरफ से कहा गया कि डेमोक्रेसी में चुनाव सबसे बड़ा पर्व होता है. इसे सेलिब्रेट करने के लिए सबको आगे आना होगा और ज्यादा भागीदारी के लिए कोर्ट चंद्रशेखर को दिल्ली आने की इजाजत चुनाव के दौरान देता है. बता दें कि अभी तक चंद्रशेखर को हर शनिवार एसएचओ शाहरनपुर को अपना अटेंडेंस देना पड़ता था. जब भी चंद्रशेखर शाहरनपुर में होंगे वहां अपना अटेंडेंस देंगे. अगर दिल्ली में रहेंगे तो डीसीपी क्राइम को अटेंडेंस देंगे. अगर इन दोनों जगहों पर नही होंगे, तब उन्हें टेलीफोन पर इसकी जानकारी देनी होगी कि कहां हैं और क्या कर रहे हैं.

2. मैं लखनऊ की धरती से डंके की चोट पर कह रहा हूं, सिटिजनशिप एक्ट वापस नहीं होने वाला : अमित शाह

g8j9p3jo

लखनऊ में नागरिकता कानून के समर्थन में आयोजित रैली को संबोधित करते हुए गृहमंत्री अमित शाह कहा कि इस बिल को लेकर कांग्रेस, टीएमसी, मायावती, सपा और कम्युनिष्ट कांव-कांव चिल्ला रहे हैं. मैंने इस बिल को संसद में पेश किया है मैं चुनौती देता हूं कि इस बिल में की किसी भी धारा में अगर किसी शख्स की नागरिकता छीनने की बाद है तो दिखाएं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार हो रहा है. अफगानिस्तान में बुद्ध की प्रतिमाएं तोड़ी गईं. लेकिन राहुल बाबा आपकी पार्टी पाप के कारण धर्म के आधार पर देश का विभाजन स्वीकार कर लिया गया. जब विभाजन हुआ तो पूर्वी पाकिस्तान यानी आज बांग्लादेश में 30 फीसदी और  पाकिस्तान में 23 फीसदी अल्पसंख्यक थे. लेकिन आज वह कहां गए? या तो उन्हें मार दिया गया या फिर धर्म परिवर्तन करा दिया गया. इन आंख के अंधों और कान बहरों को न सुनाई देता है और न दिखाई देता है.


3. अरविंद केजरीवाल vs मनोज तिवारी क्यों नहीं? NDTV के इन 6 सवालों का मनोज तिवारी ने दिया जवाब

5bd4rhio

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी से NDTV की बातचीत हुई. इस दौरान उनसे कई ऐसे सवाल पूछे गए, जिसका जवाब अभी भी लोग जानना चाहते हैं. मनोज तिवारी ने यह भी बताया कि आखिर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सामने बीजेपी ने बड़ा चेहरा क्यों नहीं खड़ा किया गया. 

4.टुकड़े-टुकड़े गैंग की रट लगाते हैं BJP नेता, लेकिन मोदी सरकार की इस पर जानकारी हैरान करने वाली

kt3ee6vg

एक कार्यकर्ता ने दावा किया है कि सूचना के अधिकार कानून (RTI) के तहत पूछे गए एक प्रश्न के जवाब में केंद्रीय गृह मंत्रालय के पास टुकडे-टुकडे गैंग के बारे में कोई जानकारी नहीं है. अपने ट्वीट में एक्टिविस्ट संकेत गोखले ने पिछले महीने गृह मंत्रालय से पूछे गए सवाल के जवाब को अटैच किया है. संकेत ने अपने पोस्ट में लिखा, "टुकडे टुकडे गैंग आधिकारिक रूप से मौजूद नहीं है, यह केवल अमित शाह की कल्पना का एक अनुमान मात्र है.'' हालांकि NDTV ने इस मुद्दे को स्वतंत्र रूप से सत्यापित नहीं किया है. "टुकडे-टुकडे गैंग" एक शब्द है जिसका इस्तेमाल अक्सर दक्षिणपंथी दल (Right-Wing) वाम (Left-Wing) समर्थित समूहों और उनके समर्थकों पर हमला करने के लिए प्रयोग करती है. दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में एक कार्यक्रम में कथित रूप से राष्ट्र विरोधी नारे लगाए जाने के बाद 'टुकडे-टुकडे गैंग' को गढ़ा गया था. उस दौरान JNU छात्र संघ के प्रमुख कन्हैया कुमार के खिलाफ एक राजद्रोह का मुकदमा दायर किया गया था, जिसने इस कार्यक्रम का आयोजन किया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


5. अजय देवगन की 'तान्हाजी' ने 11वें दिन मचाया तूफान, कमाए इतने करोड़

5njvpi8o

अजय देवगन (Ajay Devgn), काजोल (Kajol), और सैफ अली खान (Saif Ali Khan) की फिल्म 'तान्हाजी: द अनसंग वॉरियर' (Tanhaji: The Unsung Warrior) ने 11वें दिन भी बॉक्स ऑफिस पर अपना जलवा दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है. खास तो यह है कि दूसरे हफ्ते में भी 'तान्हाजी' की शानदार कमाई जारी है. 11वें दिन भी अजय देवगन की तान्हाजी की कमाई में कोई गिरावट देखने को नहीं मिली है. देश में हो रहे सीएए और एनआरसी के विवाद के बावजूद तान्हाजी ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचाकर रख दिया है. बॉक्स ऑफिस इंडिया की वेबसाइट के मुताबिक अजय देवगन की तान्हाजी ने बीते सोमवार 8 करोड़ रुपये की कमाई की. ऐसे में अजय देवगन की फिल्म ने 11 दिनों में ही 175.45 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया है.