NDTV Khabar

कांग्रेस का दावा, WhatsApp स्पाइवेयर के जरिए प्रियंका गांधी का फोन भी किया गया हैक

पिछले हफ्ते, फेसबुक के स्वामित्व वाली वाट्सएप ने आरोप लगाया कि इजरायल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ (NSO) ने स्पायवेयर पेगासस फैलाने के लिए वाट्सएप सर्वर का इस्तेमाल किया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस का दावा, WhatsApp स्पाइवेयर के जरिए प्रियंका गांधी का फोन भी किया गया हैक

फेसबुक ने एनएसओ पर मुकदमा दायर किया है.

खास बातें

  1. वाट्सएप जासूसी को लेकर बढ़ा सियासी पारा
  2. कांग्रेस ने बीजेपी सरकार पर लगाया आरोप
  3. वाट्सएप स्नूपिंग पर पीएम मोदी से पूछे सवाल
नई दिल्ली:

वाट्सएप स्नूपिंग (Whatsapp Hack) को लेकर अब राजनीतिक विवाद तेज हो गया है. कांग्रेस ने दावा किया कि प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) सहित तीन विपक्षी नेताओं के फोन सरकार द्वारा हैक किए गए थे. शनिवार को बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने भी कुछ ऐसा ही दावा किया. कांग्रेस ने कहा कि दूसरे नेता प्रफुल्ल पटेल हैं, जिनके फोन में सेंध लगाई गई है. प्रफुल्ल शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से पूर्व में केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं.  कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Singh Surjewala) ने रविवार दोपहर संवाददाताओं से कहा, "जब वाट्सएप ने उन सभी लोगों को मैसेज भेजे जिनके फोन हैक कर लिए गए थे, तो ऐसा ही एक मैसेज प्रियंका गांधी वाड्रा को भी मिला था."

पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी ने लगाया फोन टैपिंग का आरोप, कहा- मेरे पास सबूत भी हैं


पिछले हफ्ते, फेसबुक के स्वामित्व वाली वाट्सएप ने आरोप लगाया कि इजरायल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ (NSO) ने स्पायवेयर पेगासस फैलाने के लिए वाट्सएप सर्वर का इस्तेमाल किया. इसमें 20 देशों के करीब 1,400 यूजर्स को निशाना बनाया गया और उनके फोन की हैकिंग की गई. भारत के करीब 2 दर्जन से अधिक लोगों की भी आम चुनाव से पहले अप्रैल में दो हफ्ते तक जासूसी की गई थी. इनमें ज्यादातर भारतीय पत्रकार, कार्यकर्ता, वकील और वरिष्ठ सरकारी अधिकारी शामिल थे. फेसबुक ने एनएसओ पर मुकदमा दायर किया है. हालांकि एनएसओ का दावा है कि वह अपने प्रॉडक्ट्स का लाइसेंस केवल ''वैध सरकारी एजेंसियों" को ही देती है. 

टिप्पणियां

WhatsApp जासूसी कांड पर कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने पूछे 5 सवाल

कांग्रेस ने बीजेपी सरकार को बेनकाब करने के दावा करते हुए कुछ सवाल पूछे हैं. कांग्रेस की मांग है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन सवालों का जवाब दें.  सुरजेवाला ने  BJP को "भारतीय जासूस पार्टी" कहते हुए कहा कि सरकार इस मुद्दे के बारे में सब जानते हुए भी चुप थी.  उन्होंने कहा, "12 सितंबर को, आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद फेसबुक के वाइस प्रेसिडेंट से मिले, लेकिन उन्होंने हैकिंग के मुद्दे को नहीं उठाया ... वहां एक रहस्यमयी खामोशी थी." 

VIDEO: मॉलवेयर के जरिए हुई जासूसी, निशाने पर थे खास विचारधारा के लोग
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement