डॉ. कफील खान की रिहाई के लिए प्रियंका ने लिखा यूपी के CM को पत्र, कहा-संवेदनशीलता दिखाएं

प्रियंका ने अपने लेटर में लिखा, 'मुख्‍यमंत्री महोदय, इस पत्र के माध्‍यम से डॉक्‍टर कफील खान का मामला आपके संज्ञान में लाना चाहती हूं. ये अब तक लगभग 450 से ज्‍यादा दिन जेल में गुजार चुके हैं.

डॉ. कफील खान की रिहाई के लिए प्रियंका ने लिखा यूपी के CM को पत्र, कहा-संवेदनशीलता दिखाएं

डॉ. कफील खान के मामले में प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी के सीएम को पत्र लिखा है

खास बातें

  • प्रियंका ने लिखा, 450 से ज्‍यादा दिन जेल में गुजार चुके कफील
  • लिखा-मुझे उम्‍मीद है आप इस मामले में संवेदनशीलता दिखाएंगे
  • गोरखपुर ऑक्‍सीजन कांड के समय चर्चा में आए थे डॉ. कफील
नई दिल्ली:

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka gandhi) ने गोरखपुर अस्‍पताल के ऑक्‍सीजन कांड को लेकर चर्चा में आए डॉक्‍टर कफील खान (Dr Kafeel Khan) को लेकर उत्‍तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्‍यनाथ को पत्र (Letter)लिखा है. इस पत्र में कांग्रेस नेता ने कफील को न्‍याय दिलाने में उनकी पूरी मदद करने का अनुरोध किया है. प्रियंका ने अपने लेटर में लिखा, 'मुख्‍यमंत्री महोदय, इस पत्र के माध्‍यम से डॉक्‍टर कफील खान का मामला आपके संज्ञान में लाना चाहती हूं. ये अब तक लगभग 450 से ज्‍यादा दिन जेल में गुजार चुके हैं. डॉ कफील ने कठिन परिसिथतियों में निस्‍वार्थ भाव से लोगों से लोगों की सेवा की है.' 

 उन्‍होंने अपने लेटर में आगे लिखा-मुझे उम्‍मीद है क आप संवेदनशीलता का परिचय देते हुए डॉ. कफील को न्‍याय दिलवाने का पूरा प्रयास करेंगे. मुझे अशा है कि गुरु गोरखनाथ जी की यह सही आपको मेरे इस निवेदन को मानने के लिए प्रेरित करेगी. लेटर का अंत उन्‍होंने इस संदेश से किया है-मन में रहिणों, भेद न कहिणों, बोलिबा अमृत वाणी, अगिला अगनी होईया हे अवधू आपणा होइबा पाणी. इसके मायने हैं किसी से भेद न करो, मीठीक वाणी बोले, यदि आपके सामने वाला आग बनकर जला रहा तो तो हे योगी तुम पानी बनकर उसे शांत करो.

गौरतलब है कि अगस्‍त 2017 में जब डॉ. कफील गोरखपुर अस्‍पताल में ड्यूटी पर थे तब अचानक ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई खत्‍म होने से आईसीयू विभाग में भर्ती कई नवजात और बच्‍चों की जान चली गई थी. उस वक्‍त डॉ कफील ने बाहर से ऑ‍क्‍सीजन सिंलेडर का इंतजार करके बच्‍चों को बचाने की भरसक कोशिश की. मीडिया ने उनके इस काम की भरपूर सराहना की थी हालांकि इसके बाद कफील को विभागीय लापरवाही और भ्रष्‍टाचार के मामले में निलंबित कर दिया गया था, उन्‍हें कई माह जेल में भी गुजारने पड़े थे.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पायलट ने प्रियंका गांधी से सीएम बनाए जाने की रखी थी मांग : सूत्र