भारतीय भाषाओं में होनी चाहिए MBBS की पढ़ाई: एम वैंकेया नायडू

भारतीय इतिहास, विरासत और संस्कृति पर जोर देने वाली शिक्षा व्यवस्था का समर्थन करते हुए उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने कहा कि एमबीबीएस जैसी पेशेवर डिग्रियों की पढ़ाई भारतीय भाषाओं में कराए जाने का समर्थन किया है.

भारतीय भाषाओं में होनी चाहिए MBBS की पढ़ाई: एम वैंकेया नायडू

वेंकैया नायडु (फाइल फोटो)

खास बातें

  • भारतीय इतिहास, विरासत और संस्कृति पर जोर देने वाली शिक्षा का समर्थन
  • पेशेवर डिग्रियों की पढ़ाई भारतीय भाषाओं में कराए जाने का समर्थन किया
  • मैंने हमेशा से इस जरूरत पर जोर दिया है
चेन्नई :

भारतीय इतिहास, विरासत और संस्कृति पर जोर देने वाली शिक्षा व्यवस्था का समर्थन करते हुए उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने कहा कि एमबीबीएस जैसी पेशेवर डिग्रियों की पढ़ाई भारतीय भाषाओं में कराए जाने का समर्थन किया है.

उन्होंने कहा, “ मैंने हमेशा से इस जरूरत पर जोर दिया है कि बच्चों को उनकी संबंधित मातृभाषा में शिक्षित किया जाए ताकि भाषा के महत्त्व को समझा जा सके.” 

हिंदुस्तान ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स के स्वर्ण जयंती के मौके पर उन्होंने कहा, “ मैं उस दिन की उम्मीद कर रहा हूं जब एमबीबीएस जैसे पेशेवर पाठ्यक्रम स्थानीय भाषाओं में भी पढ़ाए जाएं.” 

उन्होंने कहा, “ हमारी शिक्षा व्यवस्था में ठोस नैतिक, सदाचार और मानवीय मूल्यों को निश्चित तौर पर शामिल किया जाना चाहिए.” 
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com