विदेशी उड़ानों पर रोक 31 दिसंबर तक बढ़ी, सिर्फ विशेष उड़ानों का संचालन होगा : डीजीसीए

Corona Commercial Flights :कोरोना वायरस के मद्देनजर भारत ने 23 मार्च से 30 नवंबर तक अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को रद्द कर दिया था. वंदेभारत मिशन के तहत कुछ चुनिंदा मार्गों पर विदेशी उड़ानों का आवागमन हो रहा है

विदेशी उड़ानों पर रोक 31 दिसंबर तक बढ़ी, सिर्फ विशेष उड़ानों का संचालन होगा : डीजीसीए

DGCA ने अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों का निलंबन बढ़ाया

मुंबई:

नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने कोरोना की महामारी को देखते हुए नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध की अवधि बढ़ाकर 31 दिसंबर तक कर दी है. नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) के अनुसार, 31 दिसंबर तक सिर्फ विशेष उड़ानों (International Commercial Flights) का संचालन हो सकेगा.

Newsbeep

देश के विमानन सुरक्षा नियामक डीजीसीए ने गुरुवार को इस बाबत निर्देश जारी किया. DGCA के मुताबिक, यह प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय मालवाहन संचालन और नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) द्वारा मंजूरी प्राप्त विशेष उड़ानों पर लागू नहीं होगा. नागर विमानन महानिदेशालय (Directorate General of Civil Aviation) ने परिपत्र में कहा कि सक्षम प्राधिकारी ने भारत से/ भारत के लिए अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री सेवाओं के निलंबन के संबंध में जारी प्रतिबंध की वैधता को 31 दिसंबर 2020 को  23.59 बजे तक बढ़ा दिया है. हालांकि चुनिंदा मार्गों पर अंतरराष्ट्रीय अनुसूचित उड़ानों की अनुमति दी जा सकती है. कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर भारत ने 23 मार्च से 30 नवंबर तक अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को रद्द कर दिया गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि नियमित अंतररराष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी के बीच वंदेभारत मिशन के तहत सरकार की मंजूरी के जरिये कुछ चुनिंदा मार्गों पर विदेशी उड़ानों का आवागमन हो रहे है. इसको लेकर भारत ने संबंधित देशों की सरकारों के साथ जुलाई में एयर बबल संबंधी समझौता भी किया था. वंदेभारत मिशन के तहत लाखों लोगों को गंतव्य तक पहुंचाया जा चुका है.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)