NDTV Khabar

'आप' की धरना-प्रदर्शन करने में मास्टरी, हमारी अच्छी सरकार चलाने में : रामलीला मैदान से मोदी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'आप' की धरना-प्रदर्शन करने में मास्टरी, हमारी अच्छी सरकार चलाने में : रामलीला मैदान से मोदी

रामलीला मैदान में पीएम मोदी

नई दिल्ली:  दिल्ली के रामलीला मैदान में पीएम नरेंद्र मोदी ने भाषण की शुरुआत अलग-अलग राज्यों से आए बीजेपी के मुख्यमंत्रियों के स्वागत से की। उन्होंने आगे कहा कि जम्मू-कश्मीर में ऐतिहासिक जीत मिली, जनता को बधाई।  जनता ने लोकतंत्र में विश्वास जताया। उन्होंने कहा, जो देश का मूड, वही दिल्ली का भी मूड है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रचार का बिगुल फूंकते हुए आम आदमी पार्टी को सीधे निशाने पर लिया और यहां की जनता से अपील की कि जिन लोगों ने दिल्ली का एक साल ‘बर्बाद और तबाह’ किया, उन्हें ऐसी सज़ा दे कि वे फिर नहीं पनपने पाएं।

मोदी ने कहा कि आम आदमी पार्टी की तरफ से रिटायरमेंट की उम्र 60 से घटाकर 58 साल करने जैसे कई झूठ फैलाए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा, दिल्ली में झूठ की बड़ी फैक्ट्री पूरे जोर शोर से चल रही है। वे झूठ बोलने में माहिर हैं, लेकिन मोदी कोई पीठ में छुरा घोंपने वाला इंसान नहीं है। यह सरासर झूठ है। आगे भी ऐसे जाने कितने झूठ फैलाए जाएंगे, लेकिन आप उन पर भरोसा नहीं करना। दिल्ली में पूर्ण बहुमत की सरकार चुनने का आहवान करते हुए उन्होंने कहा, एक साल बर्बाद हो गया दिल्ली का। जिसने दिल्ली का एक साल बर्बाद और तबाह किया उन्हें (चुनाव में) सज़ा दी जाए। जिन्होंने दिल्ली को स्थिर सरकार नहीं दी उन्हें पनपने नहीं दिया जाए।

राष्ट्रीय राजधानी में 49 दिन की सरकार चलाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नाम लिए बिना उन पर जोरदार प्रहार करते हुए मोदी ने कहा, कभी ऐसा नेता देखा है, जो खुद कहे कि ‘मैं अराजकतावादी हूं’। अगर वह अराजकता चाहते हैं तो जंगलों में जाकर नक्सलियों में शामिल हो जाएं। दिल्ली में नक्सलवाद नहीं चलने दिया जा सकता है।

भाजपा के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत वाली सरकार बनाने का दिल्लीवासियों से आग्रह करते हुए उन्होंने कहा, भाजपा दिल्ली में ऐसी स्थिर और मजबूत सरकार देगी जो न सिर्फ खराब हुए एक साल की खाई भरेगी, बल्कि 15 साल के (कांग्रेस शासन के) अधूरे सपनों को भी पूरा करेगी। आप नेतृत्व पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा, जिनको जो काम आता है उन्हें वह काम दीजिए। जिन्हें फुटपाथ पर बैठने, धरना देने की आदत और मास्टरी हो उन्हें वह मास्टरी करने दें और हमारी मास्टरी अच्छी सरकार बनाने की है, हमें वह करने दें।

लोकसभा चुनाव के दौरान किए गए वादों को सरकार बनने पर पूरा नहीं करने के कांग्रेस के आरोप पर भी पलटवार करते हुए मोदी ने कहा चालीस साल से वोट पाने के लिए झूठे नारे दिए जाते रहे। चालीस साल पहले कांग्रेस ने गरीबी हटाओ का नारा दिया, लेकिन जितने तेज़ी से गरीबी हटाओ के नारे लगे, उतनी ही तेज़ी से गरीबी बढ़ी। ऐतिहासिक रामलीला मैदान में आयोजित इस रैली में उन्होंने कहा कि इसी तरह 40 साल पहले ही ‘कांग्रेस की सल्तनत’’ ने बैंकों का राष्ट्रीयकरण यह कह कर किया कि बैंक अमीरों के कब्जे में हैं और उनसे गरीबों को कोई लाभ नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा, लेकिन दुख कि बैंकों को सरकारी कब्जे में लेने के बाद उन्हें भ्रष्टाचार का अड्डे बना दिया गया। गरीबों के लिए उनके दरवाजे नहीं खुले।

मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने जनधन योजना के तहत बिना बैलेंस के गरीबों के खाते खुलवाने का कार्यक्रम शुरू किया। उन्होंने कहा कि पहले एक साल में एक करोड़ खाते खुलते थे लेकिन जनधन योजना के तहत एक सप्ताह में एक करोड़ खाते खुल गए। उन्होंने कहा, यही नहीं, इस योजना के तहत गरीबों का एक लाख रुपये का मुफ्त बीमा भी कराया गया है, जिससे किसी के यहां अनहोनी होने पर उसके परिवार को यह राशि मिल सके।

उन्होंने कहा, वोट पाने के लिए झूठे नारे दिए जाते रहे, इसीलिए हम ऐसी राजनीति ला रहे हैं जो राज्यवाद,सम्प्रदायवाद से परे सिर्फ विकास की राजनीति पर आधारित होगी।

प्रधानमंत्री ने कहा, 30-40 साल पहले दुनिया और हिन्दुस्तान में यह राजनीति चलती थी कि झूठे नारे दो और गरीबों को भड़काने के लिए दो-चार अमीरों को गाली देकर अपना उल्लू सीधा करते रहो। ‘‘लेकिन अब वक्त बदल गया है। गरीब दो-चार अमीरों को गाली देने से उल्लू नहीं बनेगा बल्कि वह सवाल कर रहा है कि ‘मेरे लिए क्या किया, मेरा हिस्सा दो’।

भ्रष्टाचार उन्मूलन के वादे को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ने का दावा करते हुए मोदी ने कहा, सात महीने हो गए मुझे प्रधानमंत्री बने हुए, क्या किसी ने कोई शिकायत की, क्या विपक्ष सहित किसी ने आरोप लगाया? मैंने भ्रष्टाचार का विरोध किया। मैं जहां बैठता हूं, वहां से शुरू किया। अब धीरे-धीरे सड़कों गलियों तक यह जाएगा। आपको पैसे देने पड़ते हैं। ऑटो वाला भी ज्यादा पैसे लेता है। उन्होंने कहा, मुझ पर भरोसा कीजिए ये सफाई भी (निचले स्तर पर भ्रष्टाचार समाप्त करना) मैं करके रहूंगा। मेरा यह सपना पूरा करने में मुझे आपकी मदद चाहिए। झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाली दिल्ली की विशाल जनसंख्या से मुखातिब होते हुए उन्होंने वायदा किया कि वर्ष 2022 तक सभी कच्ची बस्तियों को पक्के मकानों में बदल दिया जाएगा।

दिल्लीवासियों को चौबिसों घंटे बिजली मुहैया कराने वायदा करते हुए मोदी ने कहा कि इससे दिल्ली ‘जेनरेटर मुक्त’ हो जाएगी और उसका पर्यावरण स्वच्छ होगा।

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार एक और ‘क्रांतिकारी कदम’ उठाने जा रही है और वह है मोबाइल फोन सेवाओं की तरह ही जनता को अपनी पसंद के बिजली आपूर्तिकर्ताओं को चुनने की आजादी। उन्होंने कहा कि मोबाइल सेवाओं की ही तरह इस कदम से बिजली कंपनियों में भी प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और बिजली के दाम अपने आप घट जाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार की इस योजना की शुरुआत दिल्ली से होगी।

दिल्ली के कुछ क्षेत्रों में पेय जल की भारी किल्लत को दूर करने का भी वायदा करते हुए दिल्लीवासियों से उन्होंने कहा कि केन्द्र के हस्तक्षेप के बाद हरियाणा राष्ट्रीय राजधानी को अतिरिक्त जल उपलब्ध कराने पर राज़ी हो गया है।

भाषण के मुख्य अंश -

  • जम्मू-कश्मीर की जनता ने लोकतंत्र में विश्वास जताया, बधाई
  • गरीबी हटाने के नारों से गरीबी बढ़ी
  • हम विकासवाद की राजनीति करते हैं
  • राजनीति बहुत हुई आम आदमी को क्या मिला
  • दिल्ली के सारे फैसले 2002 से फाइलों में बंद
  • दिल्ली में लाखों गरीबों के बैंक खाते नहीं थे
  • दिल्ली में 19.5 लाख गरीबों के खाते खोले
  • सिर्फ खाते ही नहीं खोले, एक लाख का बीमा कराया
  • दिल्ली को जेनेरेटर से मुक्ति दिलाएंगे, देंगे 24 घंटे बिजली
  • दिल्ली को जेनेरेटर से मुक्ति मिलेगी तो जहरीली हवा से भी मुक्ति मिलेगी
  • इरादे नेक हों तो समस्या का समाधान होता है
  • फोन की तरह बिजली पोर्टेबिलिटी लाएंगे
  • सस्ती बिजली की व्यवस्था करेंगे
  • भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान शुरू
  • हर गरीब का घर का सपना पूरा करूंगा
  • 2022 में सबको घर का सपना पूरा करेंगे
  • जनता से आह्वान, इस चुनाव में मेरा साथ दीजिए
  • दिल्ली में पूर्ण बहुमत दें
  • मोदी पीठ में छुरी घोंपने वाला इंसान नहीं, झूठ फैलाया जाए तो कभी भरोसा नहीं करना
  • 'आप' की धरना-प्रदर्शन करने में मास्टरी, हमारी अच्छी सरकार चलाने में है मास्टरी
  • एक साल बरबाद करने के लिए जनता 'आप' को सजा दे
  • अनार्की से दिल्ली का भला नहीं होगा
  • ऊपर से खत्म होगा करप्शन, मैंने शुरुआत कर दी है


पीएम मोदी के अलावा केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू और पीयूष गोयल भी रैली में मौजूद थे। साथ ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और झारखंड के मुख्यमंत्री भी रैली में मौजूद थे।

प्रधानमंत्री की दिल्ली के रामलीला मैदान में रैली को देखते हुए आज दिल्ली में ट्रैफिक पुलिस की ओर से भी विशेष इंतजाम किए गए थे। ट्रैफिक पुलिस की ओर से जाम की स्थिति से निपटने के लिए कई रूट्स पर बदलाव किए गए थे।

(इनपुट्स भाषा से भी)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement