CAA के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन जारी, दिल्ली में लाठीचार्ज और वाटर कैनन का इस्तेमाल, कानपुर में चली गोली

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देशभर में जारी हिंसक प्रदर्शन के बीच उत्तर प्रदेश के कानपुर में प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाने की सूचना है. वहीं, दिल्ली में भी शाम को प्रदर्शन उग्र हो गया और हालात को संभालने के लिए पुलिस को वाटर कैनन का इस्तेमाल करना पड़ा है.  

खास बातें

  • दिल्ली के कई इलाकों में हालात तनावपूर्ण
  • दरियागंज और दिल्ली गेट इलाके में गाड़ियों में लगाई आग
  • कानपुर में प्रदर्शनकारियों पर गोली चलने की सूचना
नई दिल्ली :

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ देशभर में जारी हिंसक प्रदर्शन के बीच उत्तर प्रदेश के कानपुर में प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाने की सूचना है. वहीं, दिल्ली में भी शाम को प्रदर्शन उग्र हो गया और हालात को संभालने के लिए पुलिस को वाटर कैनन का इस्तेमाल करना पड़ा है. साथ ही लाठीचार्ज की भी खबर है. उधर, खबर है कि दिल्ली के दरियागंज इलाके में कार में आग लगा दी गई है और हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस जूझ रही है. दिल्ली गेट इलाके में भी गाड़ियों में आग लगाने की खबर सामने आ रही है. मौके पर भारी संख्य़ा में प्रदर्शनकारी इकट्ठा हैं. बता दें कि दिल्ली के सदर बाजार, नबी करीम, दरियागंज, सीलमपुर, सीमापुरी, नंद नगरी और दिल्ली गेट में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं.

कुछ जगहों पर पथराव हुआ है. दूसरी तरफ, ये भी जानकारी मिल रही है कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने फायरिंग भी की है और फायरिंग कर भाग गए. हालांकि पुलिस ने अभी तक कन्फर्म नहीं किया है. आपको बता दें कि लाल किले के निकट बृहस्पतिवार से ही सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू है, यानी वहां चार या इससे अधिक लोगों के एकत्र होने पर प्रतिबंध है. पुलिस ने कानून-व्यवस्था पर नजर रखने के लिए ड्रोन विमानों का इस्तेमाल कर रही है. वहीं, आज भी दिल्ली के कई मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है.  

इससे पहले आज सुबह नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) का विरोध कर रहे भीम आर्मी (Bhim Army) के चीफ चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया था लेकिन वह पुलिस को चकमा देकर वहां से बच निकले. उन्हें दिल्ली की जामा मस्जिद से हिरासत में लिया गया था. भीम आर्मी शुक्रवार को संशोधित कानून का विरोध करने के लिए जामा मस्जिद से जंतर-मंतर तक मार्च निकालने वाली थी. पुलिस की ओर से इस मार्च के लिए इजाजत नहीं दी गई थी. आजाद के हिरासत से निकलने पर पुलिस का कहना है कि उन्होंने चंद्रशेखर को हिरासत में लिया ही नहीं था. 

VIDEO: CAA को लेकर प्रदर्शनों को देखते हुए सीलमपुर में चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com