Pulwama Attack: मोदी सरकार के कार्यकाल में आतंकवादी 12 बार कर चुके हैं बड़े हमले,अब तक 136 जवान शहीद

मोदी सरकार के इस कार्यकाल में देश में 12 बार आतंकियों ने हिंदुस्तान की सरजमीं को दहलाने की कोशिश की है. इन हमलों में देश के 136 जवान शहीद हो चुके हैं.

Pulwama Attack: मोदी सरकार के कार्यकाल में आतंकवादी 12 बार कर चुके हैं बड़े हमले,अब तक 136 जवान शहीद

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा (Pulwama Blast) में अवन्तीपुरा के गोरीपुरा इलाके में सीआरपीएफ (CRPF) के काफिले पर बड़ा आतंकी हमला हुआ है. हमले में CRPF के अब तक 41 जवान शहीद हो चुके हैं. जानकारी के मुताबिक सीआरपीएफ काफिले पर हुए हमले में करीब 350 किलो IED का इस्तेमाल हुआ. आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) ने हमले की जिम्मेदारी ली और इसे आत्मघाती बताया. इस घटना से पूरे देश में रोष का माहौल है. इस नापाक हरकत के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर पूरे देश में मांग की जा रही है. रिपोर्ट्स के मुताबिक उरी के बाद यह देश पर सबसे बड़ा हमला है. बात अगर मोदी सरकार की करें, तो मोदी सरकार के इस कार्यकाल में देश में 12 बार आतंकियों ने हिंदुस्तान की सरजमीं को दहलाने की कोशिश की. यहां आपको बताते हैं कि इन 12 हमलों के दौरान किस तरह से आतंकियों ने कायराना करतूत को अंजाम दिया. 

पुलवामा हमले पर भड़के कुमार विश्वास, कहा- कंठ में कोई गीला गोला सा अटक रहा है...

उरी मोहरा हमला- दिसंबर 2014 
बारामूला के उरी सेक्टर के मोहरा में सैन्य रेजीमेंट पर आतंकियों ने कायराना तरीके से हमला किया था. 12 जवान शहीद हुए थे. इस घटना के जवाब में भारतीय सेना ने 6 आतंकियों को मार गिराया था. 

मणिपुर में हमला- जून 2015
4 जून 2015 को मणिपुर के चंदेल में आतंकियों ने भारतीय सेना के काफिले पर बारूदी सुरंग बिछा कर हमला कर दिया था. इस आतंकी कार्रवाई में देश के 18 जवान शहीद हुए थे.  

लोगों का खून खौल रहा है, आतंकवादी बड़ी गलती कर चुके हैं, सेना को पूरी छूट : पीएम मोदी

गुरुदासपुर में हमला- जुलाई 2015
पंजाब के गुरुदासपुर में आर्मी ड्रेस पहने आतंकियों ने दीनानगर पुलिस स्टेशन पर धावा बोल दिया था. इस हमले में 4 जवान शहीद हो गए थे. इसके अलावा 3 सिविलियन भी मारे गए थे. 

पठानकोट हमला- जनवरी 2016
जैश ए मोहम्मद के आतंकियों ने पठानकोट एयरबेस पर हमला किया. यह ऑपरेशन 6 दिनों तक चला. जिसमें कुल 7 जवान शहीद हो गए थे. 

अनंतनाग हमला- जून 2016
अनंतनाग के चेकपोस्ट पर आतंकियों ने हमला किया था जिसमें 2 जवान शहीद हुए थे. एक दिन पहले भी बीएसएफ के काफिल पर हमला किया था. जिसमें 3 जवानों की जान चली गई थी. 

पंपोर हमला- जून 2016
पंपोर के पास श्रीनगर- जम्मू हाइवे पर सीआरपीएफ के काफिले पर हमला हुआ था, जिसमें 8 जवान शहीद हो गए थे जबकि दो दर्जन जवान जख्मी भी हुए थे. 

संसद से लेकर पुलवामा तक : जैश-ए-मोहम्मद की स्थापना करने वाला मौलाना मसूद अजहर का पूरा इतिहास

ख्वाजा बाग हमला- अगस्त 2016
श्नीनगर बारामूला हाइवे पर सैन्य काफिले पर हमला कर दिया था. यह हमला हिजबुल ने किया था. इसमें 8 जवान शहीद हुए थे. 

पुंछ आतंकी हमला- सितंबर 2016
पठानकोट एयरबेस पर आतंकवादियों ने आतंकी हमला कर दिया था. ये मुठभेड़ 3 दिनों तक चली थी. इस आतंकी हमले में 6 जवान शहीद हुए थे. सैनिकों की जवाबी कार्रवाई में 4 आतंकी भी मारे गए थे. 

उरी हमला- सितंबर 2016
सेना के सोते हुए जवानों पर हमला कर दिया था. जिसमें 19 जवान शहीद हो गए थे. 

अमरनाथ यात्रियों पर हमला जुलाई 2017
अमरनाथ जा रही बस पर आतंकियों ने हमला कर लिया था. 7 श्रद्धालुओं की मौत हुई थी. 

सीआरपीएफ कैंप पर हमला- दिसंबर 2017
सीआरपीएफ के ट्रेनिंग कैंप की 185वीं बटालियन पर आतंकियों ने हमला कर दिया था. जिसमें 5 जवान शहीद हुए थे जबकि 2 आतंकी मारे गए थे. 

Pulwama Terror Attack : मोदी सरकार ने टीवी चैनलों से कहा-ऐसी कवरेज मत करिए कि हिंसा भड़क उठे

सीआरपीएफ काफिले पर हमला फरवरी 2019
जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा (Pulwama Blast) में अवन्तीपुरा के गोरीपुरा इलाके में सीआरपीएफ (CRPF) के काफिले पर आतंकी हमला किया. हमले में CRPF के अब तक 41 जवान शहीद हो चुके हैं. 

Video: पुलवामा अटैक के बाद भारत ने पाकिस्तान से छीना मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com