NDTV Khabar

Pulwama Attack: पुलवामा में हमले के बाद देश में अब तक क्या-क्या हुआ, पढ़ें ममता-महबूबा और कांग्रेस के बयान

जहां एक ओर लोकसभा चुनाव को लेकर तैयारियां चल रही थीं वहीं पुलवामा हमले के बाद से एजेंडा पूरी तरह से बदल चुका है और सभी राजनीतिक पार्टियां सरकार के साथ खड़ी नजर आईं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Pulwama Attack: पुलवामा में हमले के बाद देश में अब तक क्या-क्या हुआ, पढ़ें ममता-महबूबा और कांग्रेस के बयान

पुलवामा हमले के बाद भारत में हर ओर गुस्सा देखा जा रहा है.

खास बातें

  1. कांग्रेस ने सुरक्षा में खामियों पर उठाए सवाल
  2. ममता ने पूछा क्या सरकार युद्ध चाहती है
  3. महबूबा मुफ्ती ने कहा- केंद्र बदले अपना नजरिया
नई दिल्ली:

14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर जैश-ए-मोहम्मद की ओर से किए गए आत्मघाती हमले में 40 जवानों के शहीद होने की घटना के 5 दिन बाद ही मास्टरमाइंडि कमरान गाजी को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है. हालांकि इस ऑपरेशन में एक मेजर सहित 4 जवान शहीद हो गए. 18 घंटे चली इस मुठभेड़ में एक ब्रिगेडियर, एक लेफ्टिनेंट कर्नल और कर्नल घायल हो गए हैं. पुलवामा में आतंकी हमले के बाद से पाकिस्तान के साथ तनाव इस समय चरम पर पहुंच गया है. अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद आतंकवादियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की बात कई मंचों से कह चुके हैं. एक जनसभा में उन्होंने कहा कि पूरे देश का खून खौल रहा है. वहीं देश के कई हिस्सों में शहीद जवानों के लिए संवेदना और पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन की खबरें लगातार आ रही हैं. पुलवामा में हुए हमले के बाद कैबिनेट की सुरक्षा मामलों की समिति में फैसला लिया गया है कि पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया जाएगा और उसे अंतरराष्ट्रीय मंच से अलग-थलग करने की कवायद शुरू की जाएगी. अमेरिका ने कहा है कि भारत को आत्मरक्षा का पूरा अधिकार है. वहीं कई और देशों ने भी भारत का समर्थन किया है. हालांकि चीन ने इस मामले में चुप्पी साधे रखी और मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने की अपील को खारिज कर दिया. जहां एक ओर लोकसभा चुनाव को लेकर तैयारियां चल रही थीं वहीं पुलवामा हमले के बाद से एजेंडा पूरी तरह से बदल चुका है और सभी राजनीतिक पार्टियां सरकार के साथ खड़ी नजर आईं. शुरू में संयम बरतने के बाद कांग्रेस ने अब मोदी सरकार पर सवाल उठाते हुए सुरक्षा में खामियों का मुद्दा उठाया है.

पुलवामा एनकाउंटरः शहीद मेजर विभूति शंकर और अजय कुमार को दी श्रद्धांजलि   



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बयान
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि पाकिस्तान से बातचीत का समय अब खत्म हो गया है. वहीं, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि राजग सरकार जवानों के बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देगी. प्रधानमंत्री मोदी ने इससे पहले कहा था कि आतंकवादी गलती कर चुके हैं, अब उनको सजा मिलकर रहेगी. 

राज ठाकरे की मनसे ने निजी एफएम चैनलों से कहा, पाकिस्तानी कलाकारों के गीत नहीं बजाएं

विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह का बयान
विदेश राज्य मंत्री वी के सिंह ने कहा कि भारत सीआरपीएफ के काफिले पर हाल में हुए आतंकी हमले का जवाब देने के लिए समय और जगह का चयन करेगा क्योंकि इसे पूरी तरह ‘‘योजनाबद्ध और सोचा समझा'' होना चाहिए. सिंह ने कहा, ‘‘यहां तक कि ओसामा बिन लादेन को भी एक दिन में ही नहीं मार दिया गया जबकि अमेरिका जानता था कि वह पाकिस्तान में छिपा है। हमें भी ‘देखो और इंतजार करो' पर अमल करना होगा और सुरक्षाबलों को समर्थन देना होगा. 

पाकिस्तान की करीब 200 वेबसाइटों पर मोमबत्ती जल रही! भारतीय हैकरों की अनूठी श्रद्धांजलि, देखें-VIDEO

जो बंदूक उठाएगा, मारा जाएगा : सेना
सेना ने पुलवामा हमले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी. श्रीनगर में सेना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तानी सेना का ही बच्चा है और पाकिस्तानी सेना का इस हमले में पूरा-पूरा हाथ है. उन्होंने सख्त हिदायत देते हुए कहा कि घाटी में अगर आतंकी सरेंडर नहीं करते हैं तो वे सभी मारे जाएंगे. 

पुलवामा और उरी हमलों की एक आयोग गठित करके जांच कराने की मांग, याचिका दाखिल

कांग्रेस ने उठाए सवाल
पुलवामा आतंकी हमले पर कुछ दिनों तक राजनीतिक बयान देने में संयम बरतने के बाद मंगलवार को कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि बड़ी सुरक्षा खामियां हुई हैं. पार्टी ने यह भी कहा कि अब प्रधानमंत्री वादा करें कि वह पाकिस्तान जाकर 'झप्पी' नहीं डालेंगे और अपने कहे मुताबिक कदम उठाएंगे. 2014 से पहले नरेंद्र मोदी छोटी से छोटी घटना पर बहुत भड़काऊ बयान देते थे और तत्कालीन प्रधानमंत्री का इस्तीफा मांगते थे.'' उन्होंने कहा, ''हमने उरी, संसद हमले और पुलवामा के बाद भी यह नहीं किया. लेकिन बड़ी सुरक्षा ख़ामियों को दूर करना होगा ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं हों.' सिंघवी कहा, ''कुल 78 वाहनों में 2500 जवानों को ले जाने का हास्यास्पद विचार था, सुरक्षा बलों के गुजरते समय ही आम लोगों के वाहनों के आने जाने की इजाजत दी गयी, जैश-ए-मोहम्मद की ओर से आत्मघाती हमले किये जाने संबन्धी खुपिया रिपोर्ट की अनदेखी क्यों की गई.

Pulwama Attack: कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले, भारत पुलवामा हमले का बदला 'अभी' चाहता है

पाकिस्तानियों को बीकानेर से बाहर जाने का आदेश
पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर बीकानेर में मौजूद सभी पाकिस्तानी नागरिकों को 48 घंटे के भीतर जिला छोड़कर जाने के आदेश दिए गए हैं. बीकानेर जिला मजिस्ट्रेट कुमारपाल गौतम ने सोमवार को दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के तहत आदेश जारी किया कि बीकानेर राजस्व सीमा में रह रहे पाकिस्तानी नागरिक 48 घंटे के भीतर जिला छोड़कर चले जाएं. आदेश में कहा गया है कि बीकानेर पाकिस्तान की सीमा के निकट है. इस कारण पाकिस्तानी नागरिकों के यहां रहने, विचरण करने एवं ठहरने से आंतरिक सुरक्षा को गंभीर खतरा पैदा हो सकता है.

...जब आर्मी अफसर के थप्पड़ से औंधे मुंह गिर पड़ा था जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मौलाना मसूद अजहर

गुजरात में हमले की चेतावनी
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पिछले सप्ताह हुए हमले की पृष्ठभूमि में खुफिया विभाग ने गुजरात में भी आतंकवादी हमले की चेतावनी दी है. इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने सोमवार को सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने गांधीनगर में आयोजित एक बैठक में राज्य पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था और तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने नर्मदा जिले में स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, सरदार सरोवर बांध और सोमनाथ मंदिर सहित अन्य संवेदनशील जगहों की सुरक्षा के संबंध में शीर्ष अधिकारियों के विचार जाने.

पुलवामा आतंकवादी हमला किसी एक व्यक्ति का काम नहीं : रॉ के पूर्व प्रमुख

 

अलगाववादी नेताओं से सुरक्षा वापस 
पुलवामा हमले के बाद अलगाववादी नेताओं से सुरक्षा वापस ले ली गई है. उनमें मीरवाइज़ उमर फ़ारूक़, अब्दुल गनी बट, बिलाल लोन, हाशिम क़ुरैशी और शबीर शाह शामिल हैं. सरकारी आदेश में सैयद अली शाह गिलानी का जिक्र नहीं है.

केंद्र सरकार ने मीडिया में चल रही खबरों को बताया गलत, कहा- आगे भी सड़क मार्ग से ही जाएगा सैनिकों का काफिला 

पाकिस्तानी क्रिकेटरों के फोटो हटाए गए
पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में राजस्थान क्रिकेट संघ (आरसीए) ने यहां अपनी लॉबी में लगी पाकिस्तानी क्रिकेटरों की तस्वीर हटा दी है. आरसीए ने यह कदम पुलवामा में भारतीय जवानों पर बर्बर हमले के विरोध में उठाया है जिसमें 40 जवान शहीद हो गए. आरसीए के उपाध्यक्ष मोहम्मद इकबाल ने कहा,' बीसीसीआई, आरसीए व अन्य एसोसिएशन शहीद सैनिकों के परिवारों के साथ हैं. विरोध के रूप में हमने पाकिस्तान के क्रिकेट खिलाड़ियों के फोटो हटा दिए हैं.' इसके तहत आरसीए ने इमरान खान व वसीम अकरम जैसे पाकिस्तानी खिलाड़ियों के फोटो हटाकर स्टोर रूम में रख दिए हैं. 

पूरे देश में कश्मीरी छात्रों और कश्मीरियों का विरोध
पुलवामा आतंकी हमले का कथित तौर पर समर्थन करने के लिए देश के विभिन्न शहरों में कई कश्मीरी छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज किए जाने के बीच देहरादून के दो कॉलेजों ने घाटी के छात्रों को दाखिला नहीं देने का फैसला किया है.  वहीं यहां के छात्रों का कहना है कि वे घटना के बाद दहशत के माहौल में हैं. जम्मू और कश्मीर प्रशासन ने सोमवार को राज्य से बाहर छात्रों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने और अपने संबंधित स्थानों पर रहने की कोशिश करने को कहा है.

क्रिकेट क्लब आफ इंडिया ने भी जताया पुलवामा हमले का विरोध, इमरान खान की फोटो को ढका

एसबीआई ने शहीदों के बकाया कर्ज माफ किया
देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए 23 सीआरपीएफ जवानों के बकाया कर्ज को माफ करने की घोषणा की.  पिछले सप्ताह आतंकवादी हमले में 40 साआरपीएफ जवान शहीद हो गये और पांच जख्मी हुए.

पुलवामा हमला: CRPF ने कहा- संकट में फंसे हर कश्मीरी के लिए हैं ‘मददगार', जारी किए टोल फ्री नंबर

सोशल मीडिया पर 'भारत विरोधी' पोस्ट
सोशल मीडिया पर देश विरोधी और पाकिस्तान समर्थक वीडियो डालने के आरोप में तेलंगाना के निजामाबाद जिले में सोमवार तीन लोगों को गिरफ्तार किया गयाय पुलिस ने बताया कि तीनों पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया गया है. विवादित वीडियो सोशल मीडिया पर डालने का आरोप जिन लोगों पर है उनमें से दो उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं जबकि एक तेलंगाना से है. ऐसी बातें कई और जगहों पर सामने आई हैं.

पुलवामा आतंकी हमले के शहीदों के परिवारों की मदद को सामने आया रिलायंस फाउंडेशन

ममता बनर्जी ने उठाए सवाल
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पुलवामा आतंकी हमले के समय पर सवाल खड़े करते हुये जानना चाहा कि क्या सरकार ऐसे में युद्ध करना चाहती है जबकि लोकसभा चुनाव की आहट सुनाई दे रही है.  उन्होंने आरोप लगाते हुये कहा कि आतंकी हमले की आड़ में भाजपा और आरएसएस सांप्रदायिक तनाव को बढ़ावा दे रहे हैं. 

गुजरात के मंत्री बोले- भले ही लोकसभा चुनाव देरी से कराना पड़े, लेकिन पाकिस्तान पर हमला हो

खूनी खेल तभी रूकेगा जब केन्द्र रवैया बदलेगा : महबूबा मुफ्ती 
पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने पुलवामा मुठभेड़ में शहीद हुए सैनिकों के परिजनों के प्रति सोमवार को संवेदनाएं जताते हुए कहा कि यह खूनी खेल तभी रूकेगा जब केन्द्र जम्मू-कश्मीर को लेकर अपना रवैया बदलेगा. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया है, ‘‘परिजनों के प्रति गहरी संवेदनाएं. खूनी खेल तभी रूकेगा जब भारत सरकार जम्मू-कश्मीर को लेकर अपना रवैया बदलेगी.'' उन्होंने पाकिस्तान को लेकर ‘‘अपना जुनून खत्म करने'' और अपने घर को संभालने की जरूरत पर बल दिया. उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान को लेकर जुनून छोड़ें और अपने घर को संभालें. मौजूदा रूख से हालात बिगड़ेंगे ही और देश का ध्रुवीकरण होगा.''    

शिवानंद तिवारी का हमला, जब देश शहीदों के गम में डूबा था तो सुशील मोदी CM के साथ लखनवी चाट का उठा रहे थे लुत्फ

टिप्पणियां

जम्मू में कर्फ्यू
जम्मू में 15 फरवरी से लागू कर्फ्यू मंगलवार को पांचवें दिन भी जारी है. पुलिस सूत्रों ने कहा, "जम्मू में 15 फरवरी को लगाया गया कर्फ्यू आज भी जारी रहेगा। कर्फ्यू में ढील देने पर फैसला शाम तक होने की संभावना है." प्रशासन ने सोमवार को जम्मू के दक्षिणी इलाकों में दोपहर दो बजे से शाम पांच तक के लिए कर्फ्यू में ढील दे दी थी.  कर्फ्यू के बाद से शहर में कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं आई है. इसी बीच प्रशासन सोशल मीडिया पर फर्जी, भड़काऊ पोस्ट और तस्वीरें अपलोड करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा है. 

पुलवामा एनकाउंटरः शहीद मेजर विभूति शंकर और अजय कुमार को दी श्रद्धांजलि​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement