NDTV Khabar

जैश कमांडर और खूंखार पाक आतंकी कामरान गाजी को पुलवामा हमले के पांच दिन बाद सेना ने मार गिराया

सेना ने भी दो आतंकियों को मार गिराया है. इनमें से एक को पुलवामा हमले के लिए बम बनाने वाला संदिग्ध आतंकी बताया जा रहा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. आधी रात से जारी था एनकाउंटर
  2. मुठभेड़ में चार सैनिक भी शहीद
  3. कुल दो आतंकी मार गिराए गए
श्रीनगर:

Pulwama Encounter: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों के साथ मुठभेड़ में भारतीय सेना के मेजर सहित चार जवान शहीद हो गए. वहीं सेना ने भी दो आतंकियों को मार गिराया है. इनमें से एक को पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड कामरान गाजी बताया जा रहा है. इसके साथ ही गाजी रशीद नाम के एक और आतंकी को ढेर कर दिया गया है. यह अफगान नागरिक था और IED विशेषज्ञ के तौर पर जाना जाता था. 

यह एनकाउंटर पुलवामा आतंकी हमले वाली जगह से 10 किलोमीटर दूर हो रहा था. आधी रात को आतंकियों के पुलवामा के पिंगलान इलाके में मौजूद होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद सर्च ऑपरेशन जारी किया गया था. इसके बाद पुलिस ने पूरे इलाके को घेर लिया. आतंकियों के साथ सोमवार दोपहर तक मुठभेड़ जारी रही. बीच-बीच में फायरिंग होती रही.

इलाके में आतंकियों के मौजूद होने की सूचना मिलने के बाद सेना, पुलिस और सीआरपीएफ ने संयुक्त रूप से तलाशी अभियान शुरू किया था. इस दौरान सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेर लिया. तभी आतंकियों ने भारतीय सेना पर फायरिंग कर दी. इसके बाद दोनों तरफ से गोलीबारी शुरू हो गई. मुठभेड़ रात करीब साढ़े 12 बजे शुरू हुई और रात ढाई बजे तक रुक-रुक कर फायरिंग जारी रही. फिर सुबह फायरिंग रुक गई, लेकिन करीब 10 बजे दोबारा से फायरिंग शुरू हो गई.


पुलवामा आतंकी हमला: पूर्व RAW चीफ बोले- बिना सुरक्षा चूक के ऐसा अटैक नहीं हो सकता, किसी एक का काम नहीं

आतंकियों के साथ मुठभेड़ में जो जवान शहीद हुए हैं वह 55 राष्ट्रीय राइफल के हैं. शहीद होने वालों में मेजर वीएस ढौंडियाल, हवलदार श्योराम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरि सिंह शामिल हैं. बताया जा रहा है कि उस इलाके में दो-तीन आतंकी छुपे हुए थे.

टिप्पणियां

पुलवामा हमला: CRPF जवान की जुबानी - 600 मीटर तक उड़कर चले गए थे जवानों के अंग, 1 KM तक फैला था मलबा

बता दें, पुलवामा में ही गुरुवार को सीआरपीएफ (CRPF) के एक काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था (Pulwama Attack) , जिसमें इस अर्धसैनिक बल के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए थे और कई घायल हुए थे. इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान बेस्ड आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. इसके बाद भारत ने पाकिस्तान पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement