पुलवामा आतंकी हमला: पूर्व RAW चीफ बोले- बिना सुरक्षा चूक के ऐसा अटैक नहीं हो सकता, किसी एक का काम नहीं

Pulwama Terror Attack: हैदराबाद में एक इवेंट में सूद ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि वास्तव में क्या गलत हुआ. लेकिन इस तरह की घटना कहीं न कहीं बिना सुरक्षा चूक के नहीं होती है.'

पुलवामा आतंकी हमला: पूर्व RAW चीफ बोले- बिना सुरक्षा चूक के ऐसा अटैक नहीं हो सकता, किसी एक का काम नहीं

Pulwama Terror Attack: रॉ (RAW) के पूर्व प्रमुख विक्रम सूद.

खास बातें

  • हमले में 40 से ज्यादा जवान हो गए शहीद
  • सीआरपीएफ के काफिले पर किया गया था हमला
  • पूर्व रॉ चीफ बोले- किसी एक का काम नहीं
हैदराबाद:

Pulwama Terror Attack: भारत की खुफिया एजेंसीरॉ (RAW)के पूर्व प्रमुख विक्रम सूद ने कहा कि पुलवामा में कार का इस्तेमाल करते हुए जैसा आत्मघाती हमला किया गया है, वह कहीं न कहीं 'सुरक्षा में चूक' का नतीजा है. हैदराबाद में एक इवेंट में सूद ने कहा, 'मुझे नहीं पता कि वास्तव में क्या गलत हुआ. लेकिन इस तरह की घटना कहीं न कहीं बिना सुरक्षा चूक के नहीं होती है.' न्यूज एजेंसी एएनआई ने पूर्व रॉ प्रमुख के हवाले से लिखा है. 'जाहिर है, इसमें सिर्फ एक आदमी शामिल नहीं था. इसमें एक से ज्यादा लोग शामिल थे. कोई एक विस्फोटक लाने वाला होगा, दूसरा कोई उसे एक जगह रखने वाला होगा. किसी ने कार का इंतजाम किया होगा. उन्हें सीआरपीएफ की गाड़ियों के मूवमेंट के बारे में भी जानकारी थी.'

बता दें, जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 से ज्यादा सीआरपीएफ (CRPF) जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद सीआरपीएफ प्रमुख ने रविवार को कहा कि हमने पुलवामा में जवानों के वाहन से विस्फोटक भरे वाहन को भिड़ा देने जैसे ‘नए प्रकार' के खतरे को देखते हुए अपनी मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपीएस) में सुधार करने का फैसला किया है.

Pulwama Attack: वीवी वसंत कुमार ने पत्नी को भेजी थीं कोहरे की तस्वीरें, कहा- पहुंचने में थोड़ी देर और लगेगी, लेकिन...

सीआरपीएफ के महानिदेशक आर आर भटनागर ने 14 फरवरी को हुए हमले के बाद घाटी की दो दिवसीय यात्रा के बाद कहा, ‘हमने कश्मीर में हमारे काफिले की आवाजाही में नए नियम जोड़ने का निर्णय किया है. यातायात नियंत्रण के अलावा काफिले के गुजरने के समय, उनके रुकने के स्थानों पर तथा सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस सहित सुरक्षा बलों के साथ समन्यवय में आवागमन में बदलाव किया जाएगा.'

Pulwama Attack: शहीद के अंतिम संस्कार में पहुंचे केंद्रीय मंत्री ने ली सेल्फी, तो सोशल मीडिया पर हुए ट्रोल

भटनागर ने कहा कि पुलवामा में लाटूमोड में हमले के बाद दो काफिलों को गुजारा गया और इन नए कदमों का परीक्षण किया जा रहा है और इन्हें मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपीएस) के तहत लागू किया जा रहा है. भीषण हमले के बाद गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने घाटी का दौरा करने के बाद कहा था कि जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों के काफिले के गुजरने के वक्त नागरिक वाहनों की आवाजाही रोकने का निर्णय लिया गया है.

पुलवामा हमले में घायल बेटे को टीवी पर देख पिता को लगा सदमा, अस्पताल में कराना पड़ा भर्ती

उन्होंने कहा, ‘हम बारीकियों पर नहीं जाएगें लेकिन हम रणनीति बना रहे है. यह कुछ ऐसा है जिसे हम पहले भी कर चुके हैं और यह गतिशील है.' भटनागर ने कहा, ‘एक आत्मघाती हमलावर हमारे वाहन के नजदीक आता है और विस्फोटकों से उड़ा देता है, इस नए खतरे को देखते हुए रणनीतियों पर काम किया जा रहा है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

(इनपुट- एजेंसियां)

द्र सरकार ने मीडिया में चल रही खबरों को बताया गलत, कहा- आगे भी सड़क मार्ग से ही जाएगा सैनिकों का काफिला