NDTV Khabar

Pulwama Terror Attack: गुजरात के मंत्री बोले- भले ही लोकसभा चुनाव देरी से कराना पड़े, लेकिन पाकिस्तान पर हमला हो

गुजरात के वरिष्ठ मंत्री गणपतसिंह वसावा ने कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ एक जवाबी कार्रवाई जरूरी है. चाहे इसकी कीमत आगामी लोकसभा चुनाव में विलंब के रूप में चुकानी पड़े.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Pulwama Terror Attack: गुजरात के मंत्री बोले- भले ही लोकसभा चुनाव देरी से कराना पड़े, लेकिन पाकिस्तान पर हमला हो

Pulwama Attack को लेकर गुजरात के मंत्री ने बड़ा बयान दिया है.

नई दिल्ली :

पुलवामा हमले को लेकर देशभर में आक्रोश के बीच गुजरात के वरिष्ठ मंत्री गणपतसिंह वसावा (Ganpatsinh Vasava) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने शनिवार को कहा कि पुलवामा हमले (Pulwama Attack) के लिए पाकिस्तान के खिलाफ एक जवाबी कार्रवाई जरूरी है. चाहे इसकी कीमत आगामी लोकसभा चुनाव में विलंब के रूप में चुकानी पड़े. गुजरात के वन, आदिवासी विकास एवं पर्यटन मंत्री वसावा ने सूरत में एक जनसभा में ‘‘जैसे को तैसा'' जवाब की पैरवी की. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले पाकिस्तान में भी एक ‘शोकसभा' होनी चाहिए. वसावा (Ganpatsinh Vasava) ने गुजरात में कहा,‘अत्यारे चुनाव रोकी दो, अने पाकिस्तान ने ठोकी दो (आगामी चुनाव को रोक दो और पाकिस्तान को ठोक दो)'. उन्होंने कहा कि यदि आप चुनाव में दो महीने की देरी होती है तो भी ठीक है लेकिन पाकिस्तान को एक सबक सिखाया जाना चाहिए. मंत्री गणपतसिंह वसावा ने कहा कि ‘हमारे 125 करोड़ भारतीय चाहते हैं कि हमारे सशस्त्र बल इस तरह (पाकिस्तान पर जवाबी कार्रवाई) का कुछ करें. हम अपने सैनिकों की मौत का निश्चित रूप से बदला लेंगे. हमें हमारे जवानों में पूरा भरोसा है.

Pulwama Terror Attack:  पुलवामा हमले का आतंकी पत्थरबाजी में रहा है शामिल, पढ़ें- परिवार ने क्या कहा


सीआरपीएफ ने भी कहा है कि वह बदला लेने का स्थान और समय का निर्णय करेगी. आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर में बृहस्पतिवार को हुए आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे. जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने पुलवामा में विस्फोटकों से भरे एक वाहन को सुरक्षाबलों की बस से टकरा दिया था. आपको बता दें कि पुलवामा में सीआरपीएफ पर हमला (Pulwama Terror Attack) करने वाले जैश-ए-मोहम्मद के 19 वर्षीय आतंकी का पत्थरबाजी का लंबा इतिहास रहा है. पुलवामा के पुलिस अधीक्षक चंदन कोहली ने कहा, ''उसको पत्थरबाजी की आदत थी और उसके खिलाफ मामले दर्ज हैं''. पुलिस सूत्रों का कहना है कि आदिल अहमद डार पिछले साल मार्च में लापता हो गया था और इसके बाद वह पाकिस्तान से संचालित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हो गया था. (इनपुट- भाषा से भी)

Pulwama Terror Attack: गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने खुफिया एजेंसियों के साथ की बैठक, बनी यह रणनीति

टिप्पणियां

वीडियो- पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement