NDTV Khabar

भारत ने कहा- पुलवामा हमले के पीछे पाक का हाथ, तो पाकिस्तान बोला- सबूत दीजिए, कार्रवाई करेंगे

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद एक बार फिर से भारत और पाकिस्तान के रिश्ते में तल्खी बढ़ गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत ने कहा- पुलवामा हमले के पीछे पाक का हाथ, तो पाकिस्तान बोला- सबूत दीजिए, कार्रवाई करेंगे

पुलवामा आतंकी हमले पर भारत सरकार ने पाकिस्तान पर लगाए आरोप.

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद एक बार फिर से भारत और पाकिस्तान के रिश्ते में तल्खी बढ़ गई है. मंगलवार को जहां भारतीय सेना ने कहा कि पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्तानी सेना और ISI का हाथ है और इस हमले के पीछे पाकिस्तान जिम्मेवार है, तो इस पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि अगर भारत कार्रवाई योग्य साक्ष्य प्रस्तुत करता है तो वह साजिशकर्तआों के खिलाफ कार्रवाई करेगी. बता दें कि पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी ने आत्मघाती हमला कर दिया, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए.

सेना में भर्ती होने आए कश्मीरी युवक, कहा- देश की सेवा करने का मौका मिलेगा, और क्या चाहिए


सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि पुलवामा के कार बम हमले में पाकिस्तानी सेना और उसकी खुफिया एजेंसी आईएसआई शामिल थी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कश्मीर में हथियार उठाने वाले अगर समर्पण नहीं करते तो उनका सफाया कर दिया जाएगा.  सेना ने कहा है कि पुलवामा आतंकवादी हमले की साजिश जैश-ए-मोहम्मद तथा पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने रची थी.  इसके बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को भारत को भरोसा दिलाया कि अगर भारत पुलवामा आतंकवादी हमले में ‘कार्रवाई योग्य खुफिया जानकारी'साझा करता है तो साजिशकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. 

Pulwama Attack के बाद सलमान खान भी आए एक्शन में, पाकिस्तानी सिंगर आतिफ असलम के सॉन्ग को फिल्म से हटाया

भारतीय सेना ने क्या-क्या कहा:

सेना की श्रीनगर स्थित 15वीं कोर के जनरल आफिसर कमांडिंग ले. जनरल के जे एस ढिल्लों ने कहा कि 14 फरवरी के आतंकवादी हमले के 100 घंटों के अंदर ही कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद नेतृत्व का सफाया कर दिया गया. उन्होंने कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक एस पी पाणि और सीआरपीएफ के महानिरीक्षक जुल्फिकार हसन के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में यह टिप्पणी की. सोमवार को, पुलवामा जिले के पिंगलान क्षेत्र में 16 घंटे तक चली मुठभेड़ में जैश के तीन आतंकवादियों को मार गिराया गया. इस मुठभेड़ में सेना के एक मेजर और चार सुरक्षाकर्मी भी शहीद हो गए. यह घटना 14 फरवरी के घटनास्थल से 12 किलोमीटर दूर है. 

पुलवामा के बदले कश्मीरियों के बहिष्कार की अपील शेयर की मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय ने

ढिल्लों ने संवाददाताओं से कहा कि जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तानी सेना द्वारा खड़ा किया गया है और जैश-ए-मोहम्मद पर पाकिस्तानी सेना तथा आईएसआई का नियंत्रण है.  इसमें पाकिस्तानी सेना की 100 प्रतिशत संलिप्तता है ,इसमें कोई संदेह नहीं है. उन्होंने आतंकवादी बन गए युवकों की माताओं से अपील की कि वे अपने बेटों को आत्मसमर्पण करने के लिए समझाएं, अन्यथा उनका सफाया कर दिया जाएगा.     उन्होंने कहा, ‘‘कश्मीर में हथियार उठाने वाले किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा बशर्ते कि वह आत्मसमर्पण कर दे. यह उन सभी के लिए संदेश और अनुरोध है.'    

पुलवामा आतंकी हमले पर बोले पाकिस्तान के PM इमरान खान: हिंदुस्तान हमला करेगा तो हम सोचेंगे नहीं, पलटवार करेंगे

सोमवार के आपरेशन का ब्यौरा देते हुए उन्होंने कहा कि कामरान सहित जैश के तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया है. कामरान कश्मीर घाटी में आतंकवादी संगठन का स्वयंभू मुख्य आपरेशन कमांडर था. उन्होंने कहा कि विशिष्ट सूचना के आधार पर रविवार और सोमवार की दरम्यानी रात हमने इस माड्यूल पर हमला किया और उन्हें देश को यह जानकारी देते हुए खुशी हो रही है कि कार बम हमले के 100 घंटों के अंदर ही हमले कश्मीर में जैश के नेतृत्व का सफाया कर दिया.  सेना के अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बल 14 फरवरी के हमले के बाद से ही जैश के शीर्ष नेतृत्व पर नजर रख रहे थे. उन्होंने कहा कि हमले को जैश-ए-मोहम्मद ने अंजाम दिया और आईएसआई की मदद से पाकिस्तानी सेना इस पर नियंत्रण कर रही है. 

इमरान खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या-क्या कहा: 

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने चेतावनी दी कि उनके देश के खिलाफ कोई भी कार्रवाई किए जाने पर उसका जवाब दिया जाएगा.    इमरान खान ने कश्मीर में गुरुवार को हुए आतंकवादी हमले में पाकिस्तान का हाथ होने के भारत के आरोपों पर राष्ट्र के नाम पैगाम में एक वीडियो संदेश के जरिए प्रतिक्रिया दी. इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान ‘‘क्षेत्र में स्थिरता'' चाहता है. उन्होंने कहा कि वह यह बात समझते हैं कि भारत में इस साल चुनाव होने हैं और पाकिस्तान को दोषी ठहराकर लोगों के वोट हासिल करना आसान हो जाएगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि बेहतर समझ विकसित होगी और भारत वार्ता करने के लिए तैयार होगा.    

इमरान खान ने कहा कि जब भी कश्मीर में कोई घटना होती है, तो भारत पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराता है और पाकिस्तान को बार बार ‘‘बलि का बकरा'' बनाता है. उन्होंने कहा, ‘‘अफगानिस्तान मामले की तरह कश्मीर मामला भी वार्ता के जरिए सुलझाया जाएगा.''    इमरान ने कहा, ‘‘यदि आपके पास किसी पाकिस्तानी की संलिप्तता के बारे में ऐसी कोई खुफिया जानकारी है जिसके आधार पर कार्रवाई की जा सकती है, तो वह जानकारी हमें दीजिए. मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि हम कार्रवाई करेंगे. हम ऐसा इसलिए नहीं करेंगे क्योंकि हम दबाव में हैं, बल्कि हम इसलिए ऐसा करेंगे क्योंकि वे पाकिस्तान के दुश्मनों की तरह काम कर रहे हैं.'' 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं भारतीय मीडिया के माध्यम से सुन और देख रहा हूं कि नेता पाकिस्तान से बदला लेने की अपील कर रहे हैं. यदि भारत सोचता है कि वह पाकिस्तान पर हमला करेगा, तो हम केवल सोचेंगे नहीं बल्कि जवाब देंगे.''    खान ने कहा, ‘‘जंग शुरू करना हमारे हाथ में है, यह आसान है लेकिन इसे समाप्त करना हमारे हाथ में नहीं है और कोई नहीं जानता कि क्या होगा.''    उन्होंने कहा, ‘‘यहां से किसी व्यक्ति का बाहर जाकर आतंकवाद फैलाना हमारे हित में नहीं है और न ही यह हमारे हित में है कि कोई यहां आकर आतंकवादी गतिविधियां करे.''    

आतंकी हमलों में जान गंवाने वाले जवानों के लिए मीडिया में ‘शहीद' शब्द के इस्तेमाल संबंधी याचिका खारिज

खान ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद पर भारत के साथ वार्ता के लिए तैयार है.    उन्होंने कहा, ‘‘मैं स्पष्ट रूप से कहता हूं कि यह नया पाकिस्तान है और एक नई मानसिकता है.'' इमरान खान ने कहा, ‘‘आतंकवाद एक बड़ा मसला है जिसका यह क्षेत्र सामना कर रहा है और हम इसका खात्मा करना चाहते हैं.'' उन्होंने कहा, ‘‘यदि कोई (कहीं आतंकवादी हमले करने के लिए) पाकिस्तानी सरजमीं का इस्तेमाल कर रहा है, तो वह हमारा दुश्मन है. यह हमारे हितों के खिलाफ है.''    

टिप्पणियां

उन्होंने कहा कि उन्होंने भारत के आरोपों पर प्रतिक्रिया इसलिए नहीं दी थी क्योंकि वह देश में सऊदी अरब के युवराज (क्राउन प्रिंस) मोहम्मद बिन सलमान की यात्रा में व्यस्त थे. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘भारत ने बिना किसी सबूत के और यह सोचे बिना पाकिस्तान पर आरोप लगाए हैं कि इससे (हमले से) हमें कैसे लाभ होगा.''    उन्होंने कहा, ‘‘हम पिछले 15 साल से आतंकवाद के खिलाफ लड़ रहे हैं. इस प्रकार की घटनाओं से पाकिस्तान को कैसे लाभ होगा?''    इमरान खान ने कश्मीर मामले पर कहा, ‘‘कश्मीरी अब मौत से नहीं डरते. इसके पीछे कोई तो कारण होगा. क्या भारत में इस पर चर्चा नहीं होनी चाहिए? दुनिया में कौन सा कानून हर किसी को जज और जूरी बनने की इजाजत देता है?''

VIDEO: पुलवामा हमले पर सेना बोली- 100 घंटे के भीतर घाटी में जैश का खात्मा​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement