पुलवामा हमले के बाद कश्मीरियों के साथ मारपीट और धमकी की खबरें, जम्मू में तीन दिन से लगा है कर्फ्यू

केंद्रीय गृहमंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कश्मीरी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा है. कश्मीरियों पर हमले की खबरें सामने आने के बाद कश्मीर में बंद का एलान किया गया है.

खास बातें

  • देश के अलग-अलग हिस्सों से सामने आईं खबरें
  • कई जगहों छात्रों को मिल रही धमकी
  • गृहमंत्रालय ने राज्यों को लिखा पत्र
श्रीनगर:

Pulwama Terror Attack: पुलवामा में हुए आतंकी हमले (Pulwama Attack)में 40 सीआरपीएफ जवानों के शहीद होने के बाद देशभर के अलग-अलग हिस्सों से कश्मीरी (Kashmiri) लोगों पर हमले की खबरें सामने आने के बाद केंद्र सरकार ने राज्यों को गाइडलाइन जारी की है. केंद्रीय गृहमंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कश्मीरी लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा है. कश्मीरियों पर हमले की खबरें सामने आने के बाद कश्मीर में बंद का एलान किया गया है. गृह मंत्रालय ने कहा, 'पुलवामा में आतंकी हमले के बाद जम्मू-कश्मीर के लोगों और छात्रों को धमकी और परेशान करने की रिपोर्ट्स सामने आई हैं. इसलिए गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि उनकी सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाए जाएं.

वहीं जम्मू में दर्जनों वाहनों को आग लगा दी गई. शहर में तीसरे दिन लगातार कर्फ्यू जारी है. न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक देहरादून में किराए के घरों में रह रहे कुछ कश्मीरी छात्रों ने बताया कि उनके मकान मालिकों ने उनसे घर खाली करने के लिए कहा है, जो कि उनकी संपत्ति पर हमले से डर रहे हैं. पटना में कश्मीरी व्यापारियों ने एनडीटीवी को बताया कि उन पर भीड़ ने हमला कर दिया. कश्मीर के व्यापारी बशीर अहमद ने एनडीटीवी को बताया, 'कुछ लोग लाठियों के साथ आकर मेरी दुकान के सामने इकट्ठे हो गए. उन्होंने नारे लगाए. उस वक्त मुझे पुलवामा हमला के बारे में जानकारी भी नहीं थी. लेकिन उन्होंने हमारी दुकान में सामान तोड़ा, मेरे और कर्मचारियों के साथ मारपीट की गई.'

CRPF ने कहा- संकट में फंसे हर कश्मीरी के लिए है ‘मददगार', जारी किए टोल फ्री नंबर 

इसके साथ ही उन्होंने बताया, 'मैं पिछले 35 साल से पटना में काम कर रहा हूं, मैंने कभी ऐसी कोई समस्या या भेदभाव का सामना नहीं किया. मैं हर साल यहां छह महीने रहता हूं और कश्मीर से ज्यादा पटना को पसंद करता हूं. मुझे राजनीति से कुछ नहीं लेना. मैं अक्सर बहुत बिजी रहता हूं, इसलिए मैं खबरों से रूबरू नहीं हो पाता.'

पुलवामा हमले पर बयान के बाद अब कपिल शर्मा के शो में नज़र नहीं आएंगे नवजोत सिंह सिद्धू

वहीं जम्मू कश्मीर से बाहर रह रहे कश्मीरियों को कथित तौर पर दी जा रही धमकियों की खबरों के मद्देनजर श्रीनगर स्थित सीआरपीएफ हेल्पलाइन (CRPF Helpline) ने शनिवार को कहा कि वे किसी भी तरह के उत्पीड़न के मामले में उनसे संपर्क करें. ‘मददगार' हेल्पलाइन ने इस सिलसिले में एक ट्वीट कर कहा है कि इस समय राज्य से बाहर कश्मीरी छात्र और आम लोग उसके ट्वीटर हैंडल ‘@सीआरपीएफ मददगार' पर संपर्क कर सकते हैं. किसी भी कठिनाई या उत्पीड़न का सामना करने में शीघ्र सहायता के लिए वे 24 घंटे टोल फ्री नंबर 14411 या 7082814411 पर एसएमएस कर सकते हैं.

क्रिकेट क्लब आफ इंडिया ने भी जताया पुलवामा हमले का विरोध, इमरान खान की फोटो को ढका

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO- पुलवामा हमला: दुख और गुस्से में देश