पुलवामा आतंकी हमला : रिपोर्ट में दावा- बम बनाने के लिए 'अमेजन' से मंगाया था केमिकल

पुलवामा में हुए आतंकी हमला मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने शुक्रवार को दो और व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है, जिनमें से एक ने आईईडी बनाने के लिए रसायनों की ऑनलाइन खरीद की थी.

पुलवामा आतंकी हमला : रिपोर्ट में दावा- बम बनाने के लिए 'अमेजन' से मंगाया था केमिकल

पुलवामा आतंकी हमला मामले में NIA ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • NIA ने दो लोगों को किया है गिरफ्तार
  • पुलवामा आतंकी हमला मामले में खुलासा
  • बम बनाने के लिए ऑनलाइन मंगाया था केमिकल
श्रीनगर:

पुलवामा में हुए आतंकी हमला मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने शुक्रवार को दो और व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है, जिनमें से एक ने आईईडी बनाने के लिए रसायनों की ऑनलाइन खरीद की थी. दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में पिछले साल इस आतंकवादी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हो गए थे. पुलवामा में 14 फरवरी, 2019 को एक आत्मघाती बम हमलावर ने विस्फोटकों से भरी एक कार सीआरपीएफ के काफिले में घुसाकर विस्फोट करा दिया था.

एनआईए ने श्रीनगर के बाग-ए-मेहताब इलाके के वजीर-उल-इस्लाम (19) और पुलवामा के हकरीपुरा गांव के मोहम्मद अब्बास राठेर (32) को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही इस मामले में गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों की संख्या अब पांच हो गई है. इससे पहले एक पिता-पुत्री एवं आत्मघाती बम हमलावर के करीबी को दो अन्य अभियानों में गिरफ्तार किया गया था.

Pulwama Attack: 'आतंकी को मदद' पहुंचाने के आरोप में NIA ने कश्मीर में एक पिता-पुत्री को किया गिरफ्तार

एक अधिकारी ने कहा, 'प्रारंभिक पूछताछ में इस्लाम ने खुलासा किया कि जैश-ए-मोहम्मद के पाकिस्तानी आतंकवादियों के निर्देश पर उसने आईईडी बनाने के लिए रसायन, बैटरियां एवं अन्य सामग्री खरीदने के लिए अपने अमेजन ऑनलाइन शॉपिंग एकाउंट का इस्तेमाल किया.' उन्होंने बताया कि पुलवामा हमले की साजिश के तहत इस्लाम ने ये चीजें ऑनलाइन मंगाकर उन्हें स्वयं जैश आतंकवादियों तक पहुंचाया.

NIA ने पुलवामा हमले में शामिल जैश के संदिग्ध आतंकवादी को किया गिरफ्तार

अधिकारी ने कहा, 'राठेर भी जैश के लिए काम करता है. उसने खुलासा किया है कि जब जैश आतंकवादी एवं आईईडी विशेषज्ञ मोहम्मद उमर अप्रैल-मई, 2018 में कश्मीर पहुंचा, तब उसने ही उसे अपने घर में ठहराया था.' उन्होंने बताया कि राठेर ने पुलवामा हमले से पहले कई बार जैश के आतंकवादियों- आत्मघाती बम हमलावर आदिल अहमद डार, समीर अहमद डार और पाकिस्तानी कामरान को भी अपने घर में ठहराया था.

10वीं के स्टूडेंट ने स्कूल से फिरौती में मांगे 2 लाख रुपये, लिखा- 'नहीं दिए तो पुलवामा जैसा हमला कर उड़ा दूंगा स्कूल...'

अधिकारी ने कहा, 'उसने आदिल समेत जैश आतंकवादियों को हकरीपुरा में आरोपी तारिक अहमद शाह और उसकी बेटी इंशा जान के घर में ठहराने में भी सहयोग किया.' उन्होंने बताया कि इस्लाम और राठेर को शनिवार को जम्मू में विशेष एनआईए अदालत में पेश किया जाएगा. मामले की जांच जारी रहेगी. NIA ने पुलवामा हमला मामले की जांच अपने हाथों में ली.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: पुलवामा हमले का एक साल, असम में बिना सरकारी मदद के बनाया शहीद का मेमोरियल



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)