NDTV Khabar

Pulwama Attack: शहीद जवान की बेटी बोली- चाहे फिर करना पड़े 'सर्जिकल स्ट्राइक', नहीं बचने चाहिए दोषी

जम्मू कश्मीर के पुलवामा (Pulwama Attack) में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ (CRPF) के 40 से अधिक जवान शहीद हो गए. दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पर शहीद जवानों को नम आंखों से श्रद्धांजलि दी गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Pulwama Attack: शहीद जवान की बेटी बोली- चाहे फिर करना पड़े 'सर्जिकल स्ट्राइक', नहीं बचने चाहिए दोषी

Pulwama Terrorist Attack Details: पुलवामा में हुए बड़े आतंकी हमले में 40 से ज्यादा जवान हुए शहीद.

नई दिल्ली :

जम्मू कश्मीर के पुलवामा (Pulwama Attack) में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ (CRPF) के 40 से अधिक जवान शहीद हो गए. शहीद जवानों के पार्थिव शरीर को शुक्रवार देर शाम को दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पर श्रद्धांजलि दी गई. इस दौरान पीएम मोदी और राहुल गांधी ने पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवानों को श्रद्धांजलि दी. इसके अलावा, शहीद जवानों को गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने श्रद्धांजलि दी. उधर, पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल मानेश्वर बासुमतारी की बेटी ने मांग की, 'मेरे पिता, जवानों की हत्या करने के लिए षड्यंत्रकर्ताओं को दंडित किया जाना चाहिए, भले ही उसका मतलब सीमापार सर्जिकल स्ट्राइक (Surgical Strikes) करना हो.'

यह भी पढ़ें: Pulwama Terror Attack में जान गंवाने वाले 40 शहीदों की पूरी लिस्ट, जानें नाम, पता और रैंक


सीआरपीएफ की 98वीं बटालियन के हेड कांस्टेब बासुमतारी उन 40 जवानों में थे जो पुलवामा में आतंकवादी हमले में शहीद हो गए. उनके परिवार में बेटी दीदमास्वरी, पत्नी सन्माटी और बेटा हैं. शोकाकुल दीदमास्वरी ने कहा, 'हम न्याय चाहते हैं. पुलवामा हमले के लिए जिम्मेदार कायरों को करारा जवाब दिया जाए.' असम के बक्सा जिले के कलाबारी गांव में अपने घर पर संवाददाताओं से बातचीत करते हुए उसने यह भी मांग की कि सरकार को अब उनके परिवार की देखभाल करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: Pulwama Terror Attack: पोंगल मनाकर पांच दिन पहले ही ड्यूटी पर लौटे थे शहीद सुब्रमण्यम

सन्माटी ने सिसकते हुए कहा कि बासुमतारी हाल ही में गांव आए थे. वह इससे आगे कुछ नहीं बोल नहीं पायीं. इस हमले के बाद सोशल मीडिया पर यह अफवाहें उड़ने लगीं कि असम के तीन और जवान इस हमले में शहीद हो गए थे. लेकिन बाद में संबंधित जवानों ने फेसबुक पर सामने आकर इन अफवाहों का खंडन किया. उनमें एक उदलगुरी जिले के मिजिंग बासुमतारी ने कहा, 'यह फर्जी खबर है. मैं बिल्कुल ठीक हूं और मुझे कुछ नहीं हुआ है. इस फर्जी पोस्ट को साझा नहीं करें.'

यह भी पढ़ें: पुलवामा आतंकी हमला: यूपी के देवरिया ने भी खोया एक वीर सपूत, शहीद के पिता बोले- विजय को रह गया इस बात का मलाल

दूसरे सीआरपीएफ और बोगांईगांव निवासी जवान पबित्र बर्मन ने कहा, 'दोस्तो, मैं बिल्कुल सुरक्षित और ठीक हूं. मैं कश्मीर के अन्य जिले में तैनात हूं जो पुलवामा से काफी दूर है. हमला पुलवामा में हुआ है. तीसरे जवान अनंत सैकी के परिवार ने नागांव जिले के गोरुबंधा से कहा कि वह बिल्कुल ठीक हैं. इसी बीच, असम के कई संगठनों ने प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने जैश-ए-मोहम्मद के पुतले फूंके.

टिप्पणियां

VIDEO:  पुलवामा आतंकी हमला: पीएम मोदी ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

(इनपुट: भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement