NDTV Khabar

पंजाब: AAP के MLA फुल्‍का 16 सितंबर को छोड़ेंगे विधायक पद, केजरीवाल को दी सूचना, जानें क्‍या है कारण

आप नेता हरविंदर सिंह फुल्‍का ने पार्टी के अरविंद केजरीवाल को सूचित किया है कि अगर पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार धार्मिक ग्रंथों से हुई बेअदबी मामले में कार्यवाही नहीं करती तो 16 सितंबर को वह विधायक पद से इस्तीफा दे देंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पंजाब: AAP के MLA फुल्‍का 16 सितंबर को छोड़ेंगे विधायक पद, केजरीवाल को दी सूचना, जानें क्‍या है कारण

आम आदमी पार्टी आप नेता हरविंदर सिंह फुल्‍का की फाइल फोटो

खास बातें

  1. धार्मिक ग्रंथों से हुई बेअदबी मामला
  2. फुल्‍का ने कहा कि हमने इस मुद्दे पर चर्चा की
  3. फुल्‍का ने कहा कि अपने ऐलान से पीछे नहीं हटूंगा और वह मेरी बात से सहमत थे
नई दिल्ली:

आम आदमी पार्टी (आप) नेता हरविंदर सिंह फुल्‍का ने पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को सूचित किया है कि अगर पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार धार्मिक ग्रंथों से हुई बेअदबी मामले में कार्यवाही नहीं करती तो 16 सितंबर को वह विधायक पद से इस्तीफा दे देंगे. फुल्‍का ने बताया कि अरविंद केजरीवाल ने उनको जस्टिस रंजीत सिंह कमीशन की रिपोर्ट और मेरे विधायक पद छोड़ने की बात पर चर्चा करने के लिए बुलाया था. फुल्‍का ने कहा कि हमने इस मुद्दे पर चर्चा की और मैंने उनको बताया कि मैं अपने ऐलान से पीछे नहीं हटूंगा और वह मेरी बात से सहमत थे. 

चुनावी तोहफा : पीएम मोदी ने मानदेय बढ़ाने सहित आंगनवाड़ी-आशा कार्यकर्ताओं के लिये किये हैं बड़े ऐलान

एचएस फुल्का ने एक सितंबर को यह ऐलान कर चुके हैं कि अगर कांग्रेस सरकार पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पंजाब पुलिस के रिटायर्ड डीजीपी सुमेध सिंह सैनी पर 15 दिन के भीतर केस दर्ज नहीं करती तो वह अपने विधायक पद से इस्तीफा दे देंगे. फुलका का आरोप है कि इस मामले में कार्रवाई करने की जगह मामले को दबाने के लिए मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने पांच सदस्य SIT बना दी है, लेकिन जांच के लिए जो FIR की कॉपी SIT को दी है उसमें किसी पुलिस अधिकारी का नाम ही नहीं है.


अरविंद केजरीवाल ने कहा- पाकिस्तान के मंसूबे पूरे कर रही बीजेपी

क्या है मामला?
साल 2015 में पंजाब में धार्मिक ग्रंथों के साथ बेअदबी के मामले सामने आए थे, जिसको लेकर जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हुए. लेकिन कोटकपूरा और बहबलकलां में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने गोलियां चला दी थी जिसमें 2 लोगों की मौत हुई थी और कई लोग जख्मी हुए थे. अप्रैल 2017 में कांग्रेस की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने इस मामले की जांच के लिए पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस रंजीत सिंह की अध्यक्षता में आयोग बनाया. इस आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक, जिस दिन सुबह 6 बजे पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर गोलियां चलाई उससे पहले उसी रात 2 बजे उस समय के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की डीजीपी सुमेध सैनी और आला पुलिस अधिकारियों के साथ बातचीत हुई थी. इसी के आधार पर एच एस फुल्का पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और तत्कालीन डीजीपी सुमेध सिंह सैनी पर केस दर्ज करने की मांग कर रहे हैं, जबकि शिरोमणी अकाली दल इस रिपोर्ट को खारिज करते हुए कह रही है कि जांच करने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह के मित्र और आप नेता सुखपाल सिंह खैहरा के रिश्तेदार हैं. इस मामले में सत्तारूढ़ कांग्रेस का कहना है कि रिपोर्ट एकदम सही है और इसके आधार पर जल्द ही बादल और अन्य दोषियों पर कार्रवाई होगी.

आईटी सेल के नौजवानों तुम ये काम मत करो, छोड़ दो

कौन हैं हरविंदर सिंह फुल्‍का 
हरविंदर सिंह फुल्‍का जिनको एच एस फुल्का के नाम से भी जाना जाता है. आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं और वरिष्ठ वकील भी हैं एच एस फुल्का पंजाब की दाखा विधानसभा सीट से विधायक हैं. 1984 में हुई सिख विरोधी हिंसा में जो पीड़ित सिख परिवार हैं फुल्‍का सालों से अदालतों में उनकी लड़ाई लड़ रहे हैं. मार्च 2017 में फुल्‍का पंजाब में नेता विपक्ष भी बने, लेकिन क्योंकि इसके चलते उनको वकालत का पेशा छोड़ना पड़ा और 1984 के पीड़ितों की लड़ाई कमजोर पड़ती दिखी, तो उन्होंने नेता विपक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया. फुल्‍का ने 2014 में आप की टिकट पर लोकसभा से लुधियाना की सीट पर चुनाव भी लड़ चुके है लेकिन कांग्रेस के उम्मीदवार रवनीत बिट्टू से हार गए थे.

VIDEO: भोपाल में BJP नेताओं ने सड़क पर की खुलेआम फायरिंग, पार्टी ने दिया यह बयान...

टिप्पणियां

मुश्किल में AAP 
फुल्‍का के विधायक पद से इस्तीफा देने की खबर से आम आदमी पार्टी की चिंता बढ़ गई है क्योंकि इस समय आम आदमी पार्टी पंजाब में जबरदस्त गुटबाजी से जूझ रही है. ऐसे में अगर फूलका अपने विधायक पद से इस्तीफा दे दें तो दोबारा इस सीट को जीतने में आम आदमी पार्टी को बहुत दिक्कत हो सकती है. आम आदमी पार्टी पंजाब में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है और उसे मुख्य विपक्षी दल का दर्जा हासिल है.

VIDEO: केजरीवाल का यशवंत सिन्हा से आग्रह - आप लोकसभा चुनाव लड़िए

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement