NDTV Khabar

पंजाब पुलिस ने किया बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, पाकिस्तान से ड्रोन के जरिये सप्लाई होते थे हथियार

Khalistan Terrorist Module: आतंकवादियों के पास से सफेद मारूती सुजुकी कार भी मिली है जिस पर पंजाब का रजिस्ट्रेशन नंबर है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पंजाब पुलिस ने किया बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, पाकिस्तान से ड्रोन के जरिये सप्लाई होते थे हथियार

बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़

खास बातें

  1. पंजाब पुलिस ने किया बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़
  2. पाकिस्तान से ड्रोन के जरिये सप्लाई होते थे हथियार
  3. पुलिस ने 4 आतंकियों को गिरफ्तार किया
नई दिल्ली:

पंजाब पुलिस ने एक बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. पंजाब के तरन तारन जिले से पुलिस ने 4 आतंकियों को गिरफ्तार किया है और उनके पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं. इन हथियारों में 5 एके-47, हैंड ग्रेनेड और पिस्टल भी शामिल हैं. यह आतंकी मॉड्यूल प्रतिबंधित आतंकी संगठन खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स का है जो पंजाब और उसके आस-पास के राज्यों में आतंक फैलाने की साजिश रच रहा था. रविवार को एक सीनियर अधिकारी ने कहा कि इस बात की संभावना है कि हथियारों को भारत-पाक बॉर्डर से ड्रोन के जरिये ट्रांसपोर्ट किया गया था. 

Punjab के सीएम अमरिंदर सिंह बोले, केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल 'आदतन झूठी' हैं

डायरेक्टर जनरल पुलिस दिनकर गुप्ता ने कहा, 'घाटी में हाल के घटनाक्रमों के मद्देनजर बड़े पैमाने पर घुसपैठ जम्मू और कश्मीर, पंजाब और भारतीय भीतरी इलाकों में आतंकवाद और उग्रवाद को बढ़ाने के उद्देश्य से की गई.' आतंकवादियों के पास से सफेद मारूती सुजुकी कार भी मिली है जिस पर पंजाब का रजिस्ट्रेशन नंबर है. आतंकियों की पहचान बलवंत सिंह उर्फ बाबा उर्फ निहांग, आकाशदीप सिंह उर्फ आकाश रंधावा, हरभजन सिंह और बलबीर सिंह के रूप में हुई है. 

cqiibie

आकाशदीप और बलवंत सिंह के ऊपर पहले भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. पंजाब पुलिस ने एडिशनल इंस्पेक्टर जनरल(काउंटर इंटेलीजेंस) केतन बालीराम पाटिल के नेतृत्व में सफलतापूर्वक इस ऑपरेशन को अंजाम दिया. पुलिस को जानकारी मिली थी कि प्रतिबंधित केजेडएफ पंजाब, जम्मू कश्मीर और बाकी के राज्यों में हमलों की साजिश रच रहा है. 

पंजाबः मां की हत्या कर फरार हुआ ड्रग एडिक्ट युवक, पुलिस ने शुरू की मामले की जांच

आतंकी मॉड्यूल का पाकिस्तान में केजेडएफ कमांडर रंजीत सिंह उर्फ नीता और उसका जर्मनी स्थित सहयोगी गुरमीत सिंह समर्थन करता था. पैसों और हथियारों की व्यवस्था के अलावा इनका काम युवा स्लीपर सेल की पहचान करना, उनकी भर्ती करना और कट्टरपंथी युवकों की पहचान करना था. 

पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने इस मामले को राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा हुआ बताया और इसे एनआईए को सौंप दिया. सीएम ने केंद्र से अपील की है कि वह भारतीय वायु सेना और बीएसएफ को निर्देश दें जिससे भविष्य में पंजाब में ड्रोन के खतरों से बचा जा सके. 

पकड़े गये आतंकियों के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम, शस्त्र अधिनियम, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, कारागार अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है.

पंजाब में दिसंबर से युवाओं को निशुल्क स्मार्ट फोन मिलना शुरू हो जाएंगे  

टिप्पणियां

पुलिस ने आतंकियों के पास से 500 राउंड गोला बारूद और 10 लाख रुपये की फर्जी करेंसी भी बरामद की है. यह कार्रवाई 5 सितंबर को तरन तारन जिले में हुये आतंकी हमले के बाद की गई है. 

इस आतंकी हमले में 2 लोगों की मौत हो गई थी और एक शख्स घायल हो गया था. इस केस को एनआईए को सौंपा गया था. इसके पाकिस्तान के एसएफजे से लिंक थे.



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement