NDTV Khabar

फ्रांस्वा ओलांद के खुलासे के बाद अब राफेल बनाने वाली कंपनी डसाल्ट एविएशन ने जारी किया बयान, पढ़ें क्या कहा

राफेल डील को लेकर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के ख़ुलासे के बाद अब डसाल्ट एविएशन (राफेल की निर्माता कंपनी) ने इस मामले पर बयान जारी किया है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
फ्रांस्वा ओलांद के खुलासे के बाद अब राफेल बनाने वाली कंपनी डसाल्ट एविएशन ने जारी किया बयान, पढ़ें क्या कहा

राफेल डील पर खुलासे के बाद अब डसाल्ट एविएशन ने बयान जारी किया है.

नई दिल्ली : राफेल डील को लेकर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के ख़ुलासे के बाद अब डसाल्ट एविएशन (राफेल की निर्माता कंपनी) ने इस मामले पर बयान जारी किया है. डसाल्ट एविएशन ने कहा है कि यह दो सरकारों के बीच समझौता है. इसके अलावा ऑफ़सेट पार्टनर चुनने के लिए अलग समझौते का प्रावधान है. इसी के तहत डसाल्ट एविएशन ने रिलायंस ग्रुप से समझौता किया. समझौते के बाद डसाल्ट रिलायंस एयरोस्पेस लिमिटेड कंपनी बनी. इस कंपनी ने फ़ॉल्कन, राफ़ेल के पार्ट्स बनाने के लिए नागपुर में प्लांट स्थापित किया गया.  डसाल्ट एविएशन ने कहा कि जमीन की उपलब्धता और एयरपोर्ट रनवे तक सीधे पहुंच के कारण ही प्लांट के लिए नागपुर को चुना गया है. 

यह भी पढ़ें : HAL और राफेल बनाने वाली कंपनी के बीच शुरू से थे ‘गंभीर मतभेद’, सामने आया नया तथ्य

टिप्पणियां
आपको बता दें कि राफेल डील को लेकर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने बड़ा ख़ुलासा किया है. उनका कहना है कि अनिल अंबानी के रिलायंस का नाम उन्हें भारत सरकार ने सुझाया था. उनके पास और कोई विकल्प नहीं था. एक फ़्रेंच अखबार को दिए इंटरव्यू में ओलांद ने कहा कि भारत सरकार के नाम सुझाने के बाद ही डसॉल्ट एविएशन ने अनिल अंबानी की रिलायंस डिफेंस से बात शुरू की. बता दें कि अप्रैल 2015 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ्रांस की यात्रा पर गए थे तब फ्रांस्वा ओलांद ही राष्ट्रपति थे. उन्हीं के साथ राफेल विमान का करार हुआ था.  

यह भी पढ़ें : राफेल डील पर फ्रांस्वा ओलांद के खुलासे के बाद फ्रांस सरकार ने दिया बयान


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement